विज्ञापन
Story ProgressBack

Gwalior: ठेकेदार की लापरवाही... ऊर्जा मंत्री के जिले में ही जान हथेली पर रखकर काम कर रहे हैं बिजली कर्मचारी

MP News: प्रदेश के बिजली मंत्री जहां से विधायक है, उसी इलाके में बिजली कर्मचारियों का जीवन दांव पर लगा हुआ है. यहां सुरक्षा के सही उपकरण ही नहीं है. 

Read Time: 2 mins
Gwalior: ठेकेदार की लापरवाही... ऊर्जा मंत्री के जिले में ही जान हथेली पर रखकर काम कर रहे हैं बिजली कर्मचारी
हमेशा जान हथेली पर रखते हैं बिजली वाले...

Gwalior Electrician Problems: इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है. इससे बचने के लिए घरों में बेशुमार एसी, कूलर और पंखे चल रहे हैं. लोड बढ़ने से फॉल्ट आने से बिजली की सप्लाई बंद हो जाती है और इन्हें ठीक करने दौड़ते है बिजली विभाग के कर्मचारी... ग्वालियर (Gwalior) ऊर्जामंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradhuman Singh Tomar) का खुद का शहर है, लेकिन हालत ये है कि यहां भी बिजली कर्मचारी (Lightmen) अपनी जान हथेली पर रखकर बिजली का फॉल्ट सुधारने के लिए नंगे तारों के बीच चढ़ते है. उनके पास सुरक्षा के कोई उपकरण (Safety Equipments) है ही नहीं... यही वजह है कि बीते एक साल में तीन लाइनमेंन स्पॉट पर ही दम तोड़ चुके हैं. 

कई लाइटमैन की जा चुकी हैं जान 

यहां के बिजली कर्मी अपनी जान पर खेल कर लोगों को बिजली उपलब्ध कराने में लगे हैं. इस दौरान एक कर्मचारी की मौत हो गई. इससे पहले महाराज बाड़ा पर टोपी बाजार में दो लाइनमैन खम्बे पर ही भून गए थे. इन सब घटनाओं के बाद प्रकाश में आया कि इनके पास जरूरी सुरक्षा उपकरण थे ही नहीं. दरअसल, मध्य प्रदेश में बिजली वितरण व्यवस्था का निजीकरण हो गया है. अब लाइनमैन आदि कर्मचारियों की सप्लाई ठेकेदार द्वारा की जाती है. हालांकि, ठेकेदार की शर्तों में यह शामिल रहता है कि वह सभी को जरूरी सुरक्षा उपकरण देकर ही काम पर भेजेगा. लेकिन, दुर्घटनाओं के बाद प्रकाश में आया कि उनके पास सुरक्षा का कोई सामान नहीं थे. 

ये भी पढ़ें :- मैं बैकुंठपुर हूं, मेरे बस अड्‌डे पर न पंखा है न पानी... रात में छाया रहता है घोर अंधेरा

बिजली कंपनी करती है इंकार

इस मामले में जब बिजली कंपनी के अधिकारियों से बात की जाए, तो उनका कहना रहता है कि किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और हम इस पर सख्त कार्रवाई करेंगे. लेकिन, बावजूद इसके, इस तरह के मामले सामने आना और मैदानी अमले की लापरवाही से कई परिवारों के चिराग बुझे‌‌ हैं. न तो बिजली कंपनी और न ही जिम्मेदार नेताओं को इन कर्मचारियों की कोई परवाह है.

ये भी पढ़ें :- Gwalior News: बीजेपी विधायक के भाई ने की खुदकुशी, इस वजह से खुद को मार ली गोली

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किसानों के हित में CM मोहन का ऐलान, डिजिटल क्रॉप सर्वे जल्द करें शुरु, MSP के लिए थैंक यू मोदी जी
Gwalior: ठेकेदार की लापरवाही... ऊर्जा मंत्री के जिले में ही जान हथेली पर रखकर काम कर रहे हैं बिजली कर्मचारी
NEET Row: NEET exam issue will be raised in Parliament, opposition demands CBI investigation, Modi Government Union Education Minister denies corruption
Next Article
संसद में गूंजेगा NEET Exam का मामला, विपक्ष ने की CBI जांच की मांग, सरकार ने भ्रष्टाचार से किया इनकार
Close
;