विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 31, 2023

MP Elections: अमित शाह ने थामी चुनावों की कमान, ग्वालियर चंबल अंचल की 34 सीटों पर किया मंथन 

Madhya Pradesh Assembly Election 2023: अमित शाह (Amit Shah) तीन महीनों में लगातार तीसरी बार सोमवार 30 अक्टूबर को ग्वालियर (Gwalior) पहुंचे. उन्होंने आज की बैठक में तमाम रणनीतियों पर चर्चा की. इस दौरान शाह ने चुनावी तैयारियों, सामने आ रही दिक्कतों और उन्हें दूर करने के सुझावों पर चर्चा की. साथ ही अमित शाह ने जीत के लिए एक मंत्र भी दिया. इस बार अंचल के नतीजे भाजपा (BJP) को सत्ता में लाने के लिए बहुत अहम है.

Read Time: 5 mins
MP Elections: अमित शाह ने थामी चुनावों की कमान, ग्वालियर चंबल अंचल की 34 सीटों पर किया मंथन 
अमित शाह की बैठक में तमाम बड़े नेता रहें मौजूद

Madhya Pradesh Assembly Election 2023: केंद्रीय गृहमंत्री (Union Home Minister) और भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के मुख्य रणनीतिकार अमित शाह सोमवार को ग्वालियर पहुंचे. अमित शाह (Amit Shah) ने ग्वालियर चंबल (Gwalior Chambal) अंचल के विधानसभा चुनावों (Assembly Elections) में प्रचार और रणनीति बनाने की कमान अपने हाथ ले ले ली है. इस बार जीत के लिए अमित शाह कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं क्योंकि उन्हें इस बार अंचल के नतीजों से होने वाले नफा-नुकसान का अच्छे से इल्म है. यही वजह है कि बीते एक साल से वह इस अंचल पर निगाह रखे हुए है. शाह तीन महीनों में लगातार तीसरी बार सोमवार 30 अक्टूबर को ग्वालियर पहुंचे. उन्होंने आज की बैठक में तमाम रणनीतियों पर चर्चा की. इस दौरान शाह ने चुनावी तैयारियों, सामने आ रही दिक्कतों और उन्हें दूर करने के सुझावों पर चर्चा की. साथ ही अमित शाह ने जीत के लिए एक मंत्र भी दिया. इस बार अंचल के नतीजे भाजपा (BJP) को सत्ता में लाने के लिए बहुत अहम है. वहीं, खास बात ये रही कि बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) गैर-मौजूद रहे जिसकी चर्चा वहां सबकी जुबान पर रही. 

अमित शाह की बैठक में तमाम बड़े नेता रहें मौजूद

अमित शाह सोमवार को ग्वालियर के रेडीसन होटल पहुंचें. यहां पर उन्होंने ग्वालियर और चंबल संभाग की बैठक को संबोधित किया. इस मौके पर BJP के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, केंद्रीय मंत्री व प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के संयोजक नरेंद्र सिंह तोमर, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा, केंद्रीय मंत्री व प्रदेश चुनाव प्रभारी भूपेन्द्र यादव, केंद्रीय मंत्री व चुनाव सह प्रभारी अश्विनी वैष्णव, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, ग्वालियर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, गुना संसद केपी यादव, भिण्ड सांसद श्रीमती संध्या राय, वरिष्ठ नेता व महाराष्ट्र के सह प्रभारी जयभान सिंह पवैया मौजूद रहें. इस दौरान ग्वालियर एवं चंबल संभाग के अन्य बड़े पार्टी पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि भी बैठक में मौजूद रहें. 

Latest and Breaking News on NDTV

पार्टी का दुपट्टा पहनाकर किया शाह का स्वागत

इसके बाद अमित शाह ने बैठक का शुभारंभ किया. अमित शाह ने भारत माता, पंडित दीन दयाल उपाध्याय और भाजपा के संस्थापक अध्यक्ष डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माला को अर्पित किया. इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पार्टी के रंग और चुनाव चिन्ह वाला दुपट्टा पहनाकर अमित शाह का स्वागत किया. फिर वीडी शर्मा ने बैठक के एजेंडे को पेश कर कार्यवाही की शुरुआत की. भाजपा के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री और महाराष्ट्र के सह प्रभारी जयभान सिंह पवैया ने बताया कि गृहमंत्री राज्य के दौरे की अंतिम बैठक लेने ग्वालियर आए हैं. पवैया ने कहा कि अमित शाह जी के साथ बैठक लेने का मतलब होता है कि कार्यकर्ता के भीतर विजय के प्रति आत्मविश्वास जागना. 

"अमित शाह ने मंत्र दिया कि जब चुनावी समर चरम पर है तो कार्यकर्ता को किस तरह जुटना है. हम लोग तो एक साल से तैयारी कर रहे हैं.. ये बैठकें तो उन्हीं बातों को याद कराने के लिए होती हैं." - जयभान सिंह पवैया


उत्तर प्रदेश से सांसद और मध्य प्रदेश चुनावों के लिए स्टार प्रचारक बनाए गए केंद्रीय मंत्री SPS बघेल ने बताया कि युद्ध के मैदान में जब सेना होती है तो उसे उत्साह देना बहुत बड़ा काम आता है. शाह के पास संगठन का बड़ा और प्रभावी अनुभव है. वे बूथ से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक रहे हैं. उनके पास हर छोटे बड़े चुनाव लड़ने और जीतने के अनुभव हैं. उन्होंने तमाम व्यवहारिक बातें बताईं है जो चुनाव में काम आती हैं. 

ये भी पढ़ें- MP Election : शिवराज हैं धोनी और विजयवर्गीय हार्दिक पांड्या... राहुल गांधी पर राजनाथ सिंह का तंज

दौरे को लेकर किए गए सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम 

अमित शाह दोपहर ढ़ाई बजे होटल रेडिसन पहुंचें. होटल के अलावा अमित शाह के पूरे रूट पर 1200 पुलिस जवान तैनात किए गए. उनकी सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए थे. अमित शाह किसी कारण वश तय प्रोग्राम के हिसाब से कुछ देर बाद बैठक स्थल पर पहुंचे. इसलिए उन्होंने औपचारिकताओं में ज्यादा समय ज़ाया नहीं किया. उन्होंने सिर्फ उन्होंने चित्रों पर माला अर्पित की और सिर्फ प्रदेश अध्यक्ष ने उनका स्वागत किया. इसके बाद वीडी शर्मा ने एजेंडे पर चर्चा की और पिछली बैठक में लिए गए फैसलों में से कितनों पर अमल हुआ इसकी रिपोर्ट दी. अमित शाह खुद भी हर सीट का फीडबैक लेकर पहुंचे थे. इसके बाद उन्होंने एक-एक करके विधानसभा की चुनावी तैयारियों की समीक्षा की. साथ ही शाह ने समस्याएं जानने की कोशिश की और सुझाव भी लिए. 

ये भी पढ़ेंः Onion Price: प्याज की बढ़ती कीमत पर गरमाई सियासत, कांग्रेस ने BJP सरकारों को लेकर कही ये बड़ी बात

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
खजुराहो-झांसी फोरलेन पर आवारा मवेशियों का डेरा, हो रहीं दुर्घटनाएं, DPR में 7 करोड़ का प्रावधान लेकिन नहीं लगी सुरक्षा जाली
MP Elections: अमित शाह ने थामी चुनावों की कमान, ग्वालियर चंबल अंचल की 34 सीटों पर किया मंथन 
Whole village affected by diarrhea in Mandla health department and administration in panic
Next Article
Madhya Pradesh News: डायरिया की जद में आया पूरा गांव, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में मचा हड़कंप
Close
;