विज्ञापन
Story ProgressBack

MP में 12वीं के स्टूडेंट्स ने दिया पहला बोर्ड पेपर, नकल रोकने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने की खास व्यवस्था

Board Exams 2024: मध्य प्रदेश में 10वीं बोर्ड एग्जाम्स के बाद मंगलवार को 12वीं के भी बोर्ड एग्जाम शुरू हो गए हैं. इस बार परीक्षा में नकल रोकने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने खास तैयारी की है.

Read Time: 4 min
MP में 12वीं के स्टूडेंट्स ने दिया पहला बोर्ड पेपर, नकल रोकने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने की खास व्यवस्था
प्रतीकात्मक फोटो

MP Board Exams: मध्य प्रदेश में सोमवार से दसवीं कक्षा (MP Board 10th Exam) की परीक्षा शुरू होने के बाद अब मंगलवार से 12वीं कक्षा (MP Board 12th Exam) की परीक्षा भी शुरू हो गई है. 12वीं की परीक्षा में कुल 7,48,238 छात्र शामिल हुए. कक्षा 12 के लिए 3,638 परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था की गई है. इसके साथ ही 309 केंद्र संवेदनशील चिन्हित किए गए हैं. परीक्षा के दौरान अनुचित व्यवहार के इतिहास के कारण राज्य में कुल 309 परीक्षा केंद्र जांच के दायरे में हैं. कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए एमपी बोर्ड परीक्षाओं (MP Board Exams 2024) के मद्देनजर, संबंधित अधिकारियों ने कई संवेदनशील परीक्षा केंद्रों की पहचान की है. जहां 10वीं कक्षा के लिए 302 केंद्र संवेदनशील बताए गए हैं, वहीं 12वीं कक्षा के लिए 309 संवेदनशील केंद्र चिन्हित किए गए हैं.

भोपाल में 10 अति संवेदनशील केंद्र

एमपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए राज्य भर में 10वीं के छात्रों के लिए 3,863 और कक्षा 12 के लिए 3,638 परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था की गई है. 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 5 फरवरी से 28 फरवरी तक और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 6 फरवरी से 4 मार्च तक होने वाली है. 12वीं कक्षा की परीक्षा में कुल 7,48,238 छात्र उपस्थित होंगे. जिनमें 3,61,360 लड़कियां और 3,86,878 लड़के शामिल हैं. वहीं, 10वीं कक्षा में कुल 9,92,101 छात्र परीक्षा देंगे. जिनमें 4,76,339 लड़कियां और 5,15,762 लड़के शामिल हैं. अगर राजधानी भोपाल की बात करें तो भोपाल में छह संवेदनशील और 10 अति संवेदनशील सहित 103 केंद्र बनाए गए हैं. शहर में 10वीं कक्षा के 31,769 और 12वीं कक्षा के 24,572 छात्र परीक्षा देंगे.

नकल रोकने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने की खास व्यवस्था

बता दें कि पिछले साल सोशल मीडिया पर 10वीं और 12वीं के कई पेपर वायरल हुए थे. वहीं टेलीग्राम ग्रुप पर भी पेपर बिकने के मामले सामने आए थे. इस सबसे बचने के लिए सरकार ने इस बार कड़े कदम उठाए हैं. जिसके चलते परीक्षा केंद्रों पर शिक्षक और केंद्र अध्यक्ष भी मोबाइल नहीं रख पाएंगे. साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग ने छात्रों और अभिभावकों से अपील की है कि वह किसी के प्रलोभन में न आएं और सोशल मीडिया पर वायरल किसी भी पेपर पर ध्यान न दें. स्कूल शिक्षा विभाग ने पेपर वायरल करने और भ्रामक जानकारी फैलाने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और भारी जुर्माना लगाने का प्रावधान किया है. प्रदेश भर में चल रही 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं पर विभाग की पैनी नजर है. इसके लिए भोपाल में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल रूम बनाया गया है. जहां से सीसीटीवी कैमरा के जरिए लाइव फीड और जीपीएस लाइव ट्रैकिंग की जा रही.

स्कूल शिक्षा मंत्री ने की छात्रों से अपील

स्कूल शिक्षा मंत्री राव उदय प्रताप सिंह ने बोर्ड परिक्षाओं को लेकर छात्र-छात्राओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इस बार हमने बोर्ड परीक्षा को लेकर अच्छी व्यवस्थाएं की हैं. बच्चे बढ़िया रिजल्ट लेकर आएं और मध्य प्रदेश का नाम रोशन करें. वहीं मंत्री सिंह ने बच्चों को नसीहत भी दी कि इस समय वाट्स एप और सोशल मीडिया पर पेपर ले लो, हम पेपर उपलब्ध करा सकते हैं, इस तरह की भ्रामक जानकारियों से बच्चे दूर रहें और परीक्षा में मन लगाकर पढ़ें.

ये भी पढ़ें - CBSE Board Exams Admit Card: 10वीं-12वीं के एडमिट कार्ड हुए जारी, स्टूडेंट ऐसे करें डाउनलोड

ये भी पढ़ें - MP में बोर्ड एग्जाम शुरू होते ही छात्रों से ठगी का खेल हुआ चालू, मंडल ने पेपर लीक को बताया अफवाह

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • 24X7
Choose Your Destination
Close