विज्ञापन
Story ProgressBack

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के बड़े नेताओं ने चुनाव लड़ने को भरी हामी...आधी सीटों पर नए चेहरे उतारेगी पार्टी

बीजेपी ने छत्तीसगढ़ की सभी सीटों का ऐलान कर दिया है. अब बारी कांग्रेस की है...ऐसी खबरें हैं कि कांग्रेस पांच सीटों पर नाम फाइनल कर चुकी है. कांग्रेस आलाकमान के लिए राहत की बात ये भी है कि प्रदेश कांग्रेस के कद्दावर नेता भी चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हो गए हैं. जिसके बाद पार्टी ने प्रदेश में आधे पर नए चेहरे तो आधे पर कद्दावर नेताओं को उतारने की रणनीति फाइनल कर ली है.

Read Time: 3 min
छत्तीसगढ़ कांग्रेस के बड़े नेताओं ने चुनाव लड़ने को भरी हामी...आधी सीटों पर नए चेहरे उतारेगी पार्टी

Lok Sabha Elections 2024: बीजेपी ने छत्तीसगढ़ की सभी सीटों पर प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है. अब बारी कांग्रेस की है...ऐसी खबरें हैं कि कांग्रेस (Congress) पांच सीटों पर नाम फाइनल कर चुकी है. कांग्रेस आलाकमान के लिए राहत की बात ये भी है कि प्रदेश कांग्रेस के कद्दावर नेता भी चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हो गए हैं. जिसके बाद पार्टी ने प्रदेश में आधे पर नए चेहरे तो आधे पर कद्दावर नेताओं को उतारने की रणनीति फाइनल कर ली है. फिलहाल राजनांदगांव से पूर्व सीएम भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel), दुर्ग से राजेन्द्र साहू (Rajendra Sahu), जांजगीर से शिव डेहरिया, सरगुजा से शक्ति सिंह (Shakti Singh) और कोरबा से ज्योत्सना महंत का नाम फाइनल हुआ है. राज्य की बाकी 6 सीटों अगली CEC की बैठक में चर्चा होगी. 

शुक्रवार को दिल्ली से रायपुर लौटे पूर्व सीएम भूपेश बघेल के भी तेवर बदले-बदले नजर आए. उन्होंने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा- पार्टी लड़ने की जिम्मेदारी दे या लड़ाने की, हम तो पार्टी सिपाही हैं जो आदेश होगा वो करेंगे. पार्टी CEC की बैठक से लौटे बघेल ने पहले चुनाव न लड़ने की बात पर भी सफाई दी.

उन्होंने कहा कि हां मैंने पहले अपनी इच्छा जाहिर की थी कि सभी लोग चुनाव लड़ेंगे तो कोई लड़ाने वाला भी होना चाहिये.मैं पूरे प्रदेश में घूम घूम कर पार्टी के लिये प्रचार करूंगा लेकिन अब पार्टी जो आदेश देगी वो मैं करूंगा.  दूसरी तरफ क़द्दावर नेताओं को चुनाव मैदान में उतारने की वजह पर उन्होंने कहा कि पार्टी ने जीतने की संभावना को देखते हुए ये फैसला लिया है.

टीएस बाबा के चुनाव न लड़ने की बात उन्होंने कहा कि किसे चुनाव लड़ाना है ये काम पार्टी हाई कमान का है, उसका फैसला सभी को मानना चाहिए. कुछ नेताओं के चुनाव ना लड़ने की इच्छा के सवाल पर उन्होने कहा कि इस तरह की कोई बात नहीं है. पार्टी स्तर पर चर्चा होती है तो अपनी व्यक्तिगत राय रख सकते है लेकिन पार्टी का हर कार्यकर्ता चुनाव लड़ने को तैयार है. शिव डेहरिया ने कहा कि इस बार कांग्रेस प्रदेश में दो सीट जीतने को मिथक को तोड़ेगी. दरअसल छत्तीसगढ़ में कांग्रेस अपने कद्दावर नेताओं को चुनावी मैदान में उतारकर मुकाबले को दिलचस्प बनाना चाहती है. कांग्रेस के रणनीतिकारों का ये मानना है कि ऐसा कर वो न सिर्फ अपनी दो सीटों के आंकड़े को बढ़ा पाएंगे बल्कि बीजेपी को भी बहुमत से दूर रख सकेंगे. 
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के इस गांव में पहली बार मनाई जा रही महाशिवरात्रि, कारण जान रह जाएंगे दंग

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close