विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Nov 12, 2023

Chhattisgarh: नहीं थम रहा हाथियों का आतंक, खेत में काम कर रहे बुजुर्ग को गजराज ने उतारा मौत के घाट

Chhattisgarh latest News: बताया जा रहा है कि बुजुर्ग अपने परिजनों के साथ मिलकर गांव से लगभग 2 किलोमीटर अंदर स्थित खेत मे धान इकट्ठा करने गए हुए थे. इस दौरान अचानक से हाथी के आने की जानकारी मिली, जिससे आस पास के खेत में काम कर रहे लोगों में अफरा-तफरी मच गई. साथ ही ग्रामीण हाथी से दूसरी दिशा की ओर भागने लगे. बुजुर्ग बिशन भी इस दौरान भागे, मगर कुछ दूरी के बाद गिर जाने के कारण हाथी की जद में आ गए और हाथी ने उनको कुचल कर उनकी जान ले ली.

Chhattisgarh: नहीं थम रहा हाथियों का आतंक, खेत में काम कर रहे बुजुर्ग को गजराज ने उतारा मौत के घाट

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में हाथियों के विचरण और हमले की घटनाएं दिनों दिन बढ़ती जा रही है . आर्थिक नुकसान के साथ ही इंसानों को भी निशाना बना रहा है. इसी कड़ी में एक बार फिर पाण्डुका वन परिक्षेत्र में एक दंतैल हाथी ने खेत में काम कर रहे बुजुर्ग को कुचल कर मार डाला. वन विभाग ने बुजुर्ग के परिजनों को फौरी तौर पर राहत देते हुए तत्काल 25 हजार की सहायता राशि दी .

नागझर गांव में शनिवार की शाम खेत में काम कर रहे बुजुर्ग बिशन सिंग कंवर को हाथी ने पटक-पटक कर मौत के घाट उतार दिया . बताया जा रहा है कि बुजुर्ग अपने परिजनों के साथ मिलकर गांव से लगभग 2 किलोमीटर अंदर स्थित खेत मे धान इकट्ठा करने गए हुए थे. इस दौरान अचानक से हाथी के आने की जानकारी मिली, जिससे आस पास के खेत में काम कर रहे लोगों में अफरा-तफरी मच गई. साथ ही ग्रामीण हाथी से दूसरी दिशा की ओर भागने लगे. बुजुर्ग बिशन भी इस दौरान भागे, मगर कुछ दूरी के बाद गिर जाने के कारण हाथी की जद में आ गए और हाथी ने उनको कुचल कर उनकी जान ले ली.

हाथी के आने से आस पास के गांव में दहशत

पखवाड़े भर से क्षेत्र में लगातार हाथी की आमद बनी हुई है. इसके चलते आस-पास के इलाकों में दहशत का माहौल बना हुआ है. विभाग की माने तो जंगली हाथी अब भी घटनास्थल से कुछ दूरी पर मौजूद है. इस गांव में घटना हुई है, वह नेशनल हाइवे से ज्यादा दूर नहीं है. ऐसे में कभी भी हाथी के हाईवे में आने की आशंका भी है, लिहाजा वन अमला सतर्क हो गया है. विभाग ने मृतक के परिवार को तत्काल सहायता राशि के तौर पर 25 हजार रुपये देने की बात कही है.

ये भी पढ़ें- CG Election 2023: कोरिया में 18 साल से जमे हैं ये अधिकारी, चुनाव के समय भी नहीं हुआ तबादला
 

एनिमल ट्रैकर एप से चेतावनी को नजरअंदाज करना पड़ा भारी

उदंती सीता नदी उपनिदेशक वरुण जैन ने बताया कि हाथी के आने की जानकारी एनिमल ट्रैकर एप की ओर से शनिवार दोपहर 12 से मैसेज के माध्यम से नागझर और उसके के आस पास के गांवों में भेजी जा रही थी. नागझर गांव के सरपंच को भी इसकी जानकारी दी गई थी. वन अमला भी लगातार हाथी के आस पास मुस्तैद था. जंगल में जिस स्थान पर घटना घटित हुई है, उस जगह ग्रामीणों को जाने की मनाही की गई थी .

साल भर में हाथियों के हमले से तीसरी मौत

पिछले कुछ सालों से जंगल में जिस गति से पेड़ों की अंधाधुंध कटाई हो रही है. उसके चलते जंगली वन्य प्राणियों की आमद लगातर जिले और उसके आस पास के क्षेत्रों में बढ़ी है. हाथी गांव में घुस कर घरों और फसलों को नुकसान तो पहुंचा ही रहे हैं. साथ ही इंसानों की जान भी ले रहे हैं. विभाग की मानें तो साल भर में हाथी के हमले से ये तीसरी मौत हुई है .

ये भी पढ़ें- दिवाली पर CM बघेल का तोहफा, कांग्रेस की सरकार आने पर महिलाओं को मिलेंगे 15 हजार रुपये

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
रात में की लूट, सुबह मिली लाश ! बेटे की मौत के बाद माँ ने कहा- "पुलिस वालों की... "
Chhattisgarh: नहीं थम रहा हाथियों का आतंक, खेत में काम कर रहे बुजुर्ग को गजराज ने उतारा मौत के घाट
Baloda Bazar Big action by the government's food department, substandard food items chicken found in shops and hotels notice issued to shopkeepers, awareness campaign started
Next Article
Baloda Bazar में बड़ा एक्शन, दुकानों-होटलों में मिली अमानक खाद्य सामग्री, Food डिपार्टमेंट से नोटिस जारी
Close
;