विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 11, 2023

पोस्ट कार्ड से आगर-मालवा में आएगी रेल लाइन? लोगों को चाहिए 'मोदी की गारंटी'...

Agar Malwa: आगर-मालवा में करीब चालीस साल पहले राजनीतिक कारणों से रेल लाइन उखाड़ दी गई थी, जिसे फिर से बिछाने के लिए लोग कई सालों से मांग कर रहे हैं. वहीं इसी मांग को आगे बढ़ाते हुए जिलावासी पीएम मोदी को पोस्ट कार्ड लिख रहे हैं. साथ ही रेल लाइन फिर से लाने की गारंटी मांग रहे है.

Read Time: 6 mins
पोस्ट कार्ड से आगर-मालवा में आएगी रेल लाइन? लोगों को चाहिए 'मोदी की गारंटी'...
आगर-मालवा में रेललाइन लाने के लिए पीएम मोदी को लिखा जा रहा पोस्ट कार्ड.
Agar Malwa:

Guarantee of railway line from PM Modi: 17 नवंबर को संपन्न हुए विधानसभा चुनाव 2023 (MP Assembly Election Results) में 'एमपी की गारंटी, मोदी की गारंटी' वाला जुमला लोगों की जुबान पर चढ़ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने चुनावी सभाओं के दौरान कहा था कि एमपी के विकास की गारंटी मोदी की गारंटी है. वही गारंटी यहां के लोगों को रेल लाइन लगाने के लिए चाहिए. 

राजनीतिक कारणों से उखाड़ दी गई  रेल लाइन

दरअसल, आगर-मालवा (Agar Malwa) में आपातकाल तक रेललाइन हुआ करती थी जो उज्जैन तक के सफर का माध्यम थी. इससे लोगों को सहज और सस्ती यात्रा का लाभ मिलता था, लेकिन आपातकाल के बाद राजनीतिक कारणों से रेल लाइन उखाड़ दी गई. जिसका खामियाजा जिले के लोगों को आज तक भुगतना पड़ रहा है. 

गौरतलब है कि उस समय देश की बत्तीस नैरोगेज लाइन बंद की गई थी, जिसमें से इकतीस फिर से चालू कर दी गई, लेकिन आगर-उज्जैन रेल लाइन अभी तक चालू नहीं हो सकी. आगरवासियों को रेल की सुविधा के लिए या उज्जैन, आलोट, झालवाड़ तक का सड़क से लंबा सफर करना होता है. जिसमें समय काफी बर्बाद होता है. रेल लाइन नहीं होने से इलाके में औधोगिक, व्यवसायिक विकास भी गति नही पकड़ पा रहा है. 

रेल लाइन को फिर से चालू करने के लिए चला रहे आंदोलन

रेल लाइन को फिर से चालू करने के लिए कई सालों से कई स्तर पर आंदोलन किए जाते रहे हैं. निर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने समय समय पर मांग उठाई. तत्कालीन सांसद थावरचंद गेहलोत, सज्जन वर्मा और मनोहर ऊंटवाल ने भी संसद में प्रमुखता से इस मुद्दे को उठाया था. थावरचंद गहलोत ने रेल लाइन के सर्वे को भी मंजूरी दिलवा कर सर्वे कार्य करवाया. उज्जैन के सांसद अनिल फिरोजिया ने भी इस विषय पर गंभीरता से संसद में बात रखी. मीडिया में यह मुद्दा लगातार सुर्खियों में बना रहा.

गृहमंत्री अमित शाह ने शाजापुर की एक चुनावी रैली में भी आगर रामगंज रेल लाइन लाने का वादा किया था. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी विधानसभा चुनाव में सभा के दौरान ऐलान किया था कि आगर को जिला हमने बनाया है और यहां रेल भी हम ही लायेंगे.

तमाम प्रायसों के बावजूद अभी तक लोगों को रेल लाइन का इंतजार

बता दें कि अब एक बार फिर रेल लाइन की मांग जोर पकड़ने लगी है. बाजेपी की प्रचंड जीत के बाद यहां के लोग पोस्ट कार्ड के माध्यम से एक बार फिर आवाज उठा रहे हैं. दरअसल, जिलेवासी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर रेल लाइन फिर से लाने की मांग कर रहे हैं. कई सालों से रेल आंदोलन संचालित करने वाले महेंद्र शर्मा अपने साथियों के साथ घर-घर और दुकान-दुकान जा कर पोस्ट कार्ड बांट रहे हैं और पोस्ट कार्ड में प्रधानमंत्री मोदी के नाम रेल की मांग वाला संदेश लिख पोस्ट करवा रहे है. महेंद्र शर्मा इलाके में रेलमैन के नाम से जाने जाते  हैं.

पोस्ट कार्ड में लिखा गया है कि जनता आपकी गारंटी पर मतदान करती है तो रेल लाने की गारंटी भी आपसे ही चाहिए. 

आगर-मालवा के लोगों के साथ भेदभाव

महेंद्र शर्मा ने एनडीटीवी से चर्चा में कहा, 'आपातकाल में जो नैरोगेज लाइन आगर से उज्जैन चलती थी वो राजनीतिक स्वार्थ के चलते उखाड़ दी गई. उस वक्त बंद की गई सभी लाइन वापस चालू कर दी गई, लेकिन आगर लाइन को आज तक चालू नहीं किया गया.  ये इस क्षेत्र के लोगों के साथ भेदभाव है'. 

ये भी पढ़े: MP Next CM: छत्तीसगढ़ को मिले 'विष्णु', क्या एमपी में 'शिव' के सिर सजेगा ताज, फैसला आज

शर्मा आगे कहते है, 'पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के विकास की गारंटी ली तो रेल भी विकास का माध्यम है. पीएम को रेल लाइन फिर से लाने की गारंटी लेनी चाहिए. हमलोग सालों से रेल की मांग कर रहे हैं. उज्जैन से आगर होकर जाने वाली इस लाइन से क्षेत्र में औद्योगिक विकास के रास्ते खुलेंगे और रोजगार के अवसर बनेंगे और व्यापार को भी गति मिलेगी.

महेंद्र शर्मा ने कहा, 'वादे बहुत किए जा चुके हैं, लकिन पूरा अब तक हुआ नहीं. अब हम सभी ने इस वादे को पूरा करवाने के लिए घर-घर पोस्टकार्ड बांटने का काम शुरू किया है. जिसके माध्यम से आमजन की आवाज प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचेगी. उन्होंने कहा, 'हम जीवन की अंतिम सांस तक रेललाइन लाने के लिए इस आंदोलन को चलाते रहेंगे.' 

मेडिकल व्यवसाय नीरज अग्रवाल ने कहा, 'रेल के बिना क्षेत्र का विकास का सपना अधूरा ही है. इसलिए हम प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड लिख रहें है.'

पीएम मोदी को लिख रहे अपने अधिकार की बात

वहीं पंकज गुप्ता ने कहा, 'हम जोलिख रहे हैं ये कोई मामूली पोस्ट कार्ड नहीं है, बल्कि पीएम मोदी को हम अपने अधिकार की बात लिख रहे हैं. यहां के लोगों के दिल में जो बात है वो इस चिट्ठी में लिखी जा रही है.'

बता दें कि पोस्ट कार्ड को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है. हजारों की संख्या में पोस्ट कार्ड लिखे जा रहे हैं. वहीं सार्वजनिक हित के इस आंदोलन में हर वर्ग के लोग जुड़ रहे हैं और अपनी उम्मीदों को लफ्जों में सजा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाने का सिलसिला लगातार जारी है.

ये भी पढ़े: Madhya Pradesh-Chhattisgarh News Live Updates: छत्तीसगढ़ में 'विष्णु' को मिला ताज, क्या MP में फिर होगा 'शिव' का राज...?

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Crime: सास ने बहू को कहा सिर्फ यह एक शब्द, तो बहू ने दी ऐसी सजा कि सुनकर कांप जाएगी रूह
पोस्ट कार्ड से आगर-मालवा में आएगी रेल लाइन? लोगों को चाहिए 'मोदी की गारंटी'...
ceremony of MPL Before 2 people were murdered in Gwalior know how the double murder happened amidst high security
Next Article
MPL के उद्धाटन समारोह से पहले ग्वालियर में 2 लोगों की हत्या, जानें हाई सिक्युरिटी के बीच कैसे हुआ डबल मर्डर?
Close
;