विज्ञापन
Story ProgressBack

MP Highcourt: बेटे ने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में वकालत शुरू की, तो जस्टिस सुजय पाल ने तेलंगाना में करा लिया अपना तबादला

Madhya Pradesh High Court: मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में एडवोकेट के रूप में बेटे के प्रैक्टिस शुरू करने के बाद जस्टिस सुजय पाल ने नैतिकता की मिसाल पेश करते हुए अपना तबादला करने का पत्र सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेज दिया, जिसमें अनुरोध किया कि वे जिस हाई कोर्ट में जज के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और यदि उनका बेटा भी वहीं, प्रेक्टिस करेगा, तो यह उचित नहीं होगा. इसलिए उनका स्थानांतरण कर दिया जाए.

Read Time: 3 min
MP Highcourt: बेटे ने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में वकालत शुरू की, तो जस्टिस सुजय पाल ने तेलंगाना में करा लिया अपना तबादला

Madhya Pradesh High Court  News: देशभर में आए दिन अदालतों के फैसले और जजों की ईमानदारी पर सवाल उठाए जाते हैं. इन सबके बीच कुछ ऐसी खबरें गाहे-बगाहे आती रहती है. जिससे लोगों की न्यायालय और जजों पर निष्ठा बरकरार रहती है. ऐसी ही एक खबर मध्य प्रदेश हाईकोर्ट (Madhya Pradesh High Court) से सामने आई है, जो न सिर्फ अनुकरणीय है, बल्कि तारीफ के यालक भी है. दरअसल, मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सुजय पाल (Justice Sujay Pal) ने बेटे के मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में एडवोकेट के रूप में प्रैक्टिस शुरू करने पर अपना ट्रांसफर तेलंगाना करा लिया है.

खुद कराया तबादला

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में एडवोकेट के रूप में बेटे के प्रैक्टिस शुरू करने के बाद जस्टिस सुजय पाल ने नैतिकता की मिसाल पेश करते हुए अपना तबादला करने का पत्र सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेज दिया, जिसमें अनुरोध किया कि वे जिस हाई कोर्ट में जज के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं और यदि उनका बेटा भी वहीं, प्रेक्टिस करेगा, तो यह उचित नहीं होगा. इसलिए उनका स्थानांतरण कर दिया जाए.

न्यायमूर्ति सुजय पॉल तेलंगाना हाई कोर्ट स्थानांतरित

 मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के वरिष्ठतम न्यायमूर्ति सुजय पॉल का तेलंगाना हाईकोर्ट स्थानांतरण कर दिया गया है. उनका तबादला सुप्रीम कोर्ट के कॉलेजियम की अनुशंसा पर हुआ है. दरअसल, इस तबादले के लिए न्यायमूर्ति पॉल ने सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम से व्यक्तिगत अनुरोध किया था, जिसके बाद अनुशंसा कर दी गई. उनका तर्क था कि उनका पुत्र मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में प्रैक्टिस कर रहा है. लिहाजा, नैतिक आधार पर वे इस हाईकोर्ट से अन्य हाईकोर्ट जाने के आकांक्षी हैं.

ये भी पढ़ें- Rajya Sabha Election: पीढ़ियों से सिंधिया के विरोधी रहे हैं कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह, ये रही इनकी कहानी

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय कॉलेजियम ने अनुरोध स्वीकार कर लिया. इस वक्त मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश रवि मलिमथ सहित 40 न्यायाधीश पदस्थ हैं. न्यायमूर्ति पॉल के जाने के साथ ही यह संख्या 39 रह जाएगी. इस तरह कुल स्वीकृत पद 53 के मुकाबले मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में 14 न्यायाधीशों की कमी हो जाएगी. 


ये भी पढ़ें- MP में आदिवासी पर फिर फूटा दबंगों का कहर! सतना में अपनी दुकान वापस मांगने पर बेरहमी से पीटा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close