विज्ञापन
Story ProgressBack

Indian Railways: इस जगह बन रहा सबसे लंबा वायाडक्ट पुल, इतने करोड़ की लागत से हो रहा तैयार

Katni Rail Grade Separator: भारतीय रेलवे का सबसे लंबा वायाडक्ट रेल पुल बस कुछ ही दिनों में बनकर तैयार होने वाला है. यह एक ग्रेड सेपरेटर के रूप में भी काम करेगा.

Read Time: 3 mins
Indian Railways: इस जगह बन रहा सबसे लंबा वायाडक्ट पुल, इतने करोड़ की लागत से हो रहा तैयार
Katni Railway Grade Separator

Viaduct Rail Bridge: भारतीय रेलवे (Indian Railways) की पूरे देश में बहुत सारी परियोजनाएं चल रही हैं. इनमें से मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में एक ऐसी योजना चालू है जो प्रदेश को रेलवे के क्षेत्र में नंबर 1 बना देगी. पश्चिम मध्य रेलवे (West Central Railways) के जबलपुर रेल मंडल (Jabalpur Rail Division) में भारतीय रेलवे का सबसे लंबा वायाडक्ट पुल (Longest Indian Rail Viaduct Bridge) कटनी (Katni) में बन रहा है. यह एक ग्रेड सेपरेटर (Grade Separator) की तरह काम करेगा. इस परियोजना को पूरी करने के लिए लगभग 1248 करोड़ रुपये की लागत आएगी. यह वायडक्ट पुल एक ग्रेड सेपरेटर की तरह काम करेगी. इस पुल की कुल लंबाई 18 किमी होगी.

Katni Viaduct bridge

Katni Viaduct bridge

दो लेवल पर पुल किया जा रहा तैयार (Katni Rail Viaduct Bridge Details)

कटनी जंक्शन (Katni Junction) के पास बनने वाला वायाडक्ट पुल दो लेवल में बनेगा. इसके बाद इस रूट पर रेल ट्रैफिक (Rail Traffic) को आसानी से कम किया जा सकता है. यहां बनने वाले अप ग्रेड सेपरेटर (Up Grade Separator) की लंबाई 16 किमी और डाउन ग्रेड सेपरेटर (Down Grade Separator) की लंबाई 18 किमी होगी. मतलब, इसकी कुल लंबाई 34 किलोमीटर होगी. इसमें वायाडक्ट 18 किमी, रिटेनिंग वॉल 3 किमी, अर्थवर्क 13 किमी के साथ अप और डाउन ग्रेड सेपरेटर का निर्माण कार्य पूरी तेजी से किया जा रहा है.

ग्रेड सेपरेटर परियोजना से लोगों को फायदा (Benefits of Katni Rail Grade Separator)

  • कटनी-बिलासपुर और सिंगरौली के लिए अतिरिक्त रेल लाइन का सीधे संपर्क जुड़ेगा
  • व्यस्त यार्ड से ट्रेनों का सिधे बायपास होगा
  • पश्चिम मध्य रेल के रेल राजस्व में वृद्धि

ये भी पढ़ें :- Akshay Kanti Bam : कांग्रेस-भाजपा का आया रिएक्शन, जानें किन नेताओं ने क्या कहा ?

इस लिए साबित होगा उपयोगी

इस ग्रेड सेपरेटर परियोजना के बनने के बाद कटनी, कटनी मुड़वारा और न्यू कटनी जंक्शन के व्यस्त यार्ड को आसानी से और जल्दी से पार करने में मदद मिलेगी. अप ग्रेड सेपरेटर में कुल 260 स्पैन और डाउन ग्रेड सेपरेटर में 411 स्पैन बनाए जा रहे हैं. मौजूदा ट्रैक पर सुरक्षा व्यवस्था का ध्यान रखते हुए दिन-रात लगातार ग्रेड सेपरेटर परियोजना का काम किया जा रहा है. अधिकारियों की मानें तो अप ग्रेड सेपरेटर का काम सितंबर 2024 तक और डाउन ग्रेड सेपरेटर का काम मार्च 2025 तक पूरा होने की डेडलाइन दी गई है.

ये भी पढ़ें :- Loksabha Election छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेत्रियों को टॉयलेट इस्तेमाल करने से रोका, अलका बोलीं - और कितना नीचे... 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Katni: जल संरक्षण के लिए अदाणी फाउंडेशन द्वारा तालाबों का किया जा रहा जीर्णोद्धार, 800 किसानों को होगा फायदा
Indian Railways: इस जगह बन रहा सबसे लंबा वायाडक्ट पुल, इतने करोड़ की लागत से हो रहा तैयार
Crossing all limits of cruelty, killed mother-in-law by attacking her 100 times with a sickle, 30 years later the court awarded death sentence to daughter-in-law
Next Article
Rarest Murder: क्रूरता की सारी हदें की पार, सास को दरांती से 100 बार हमलाकर की हत्या, 30 साल बाद कोर्ट ने बहू को सुनाई फांसी की सजा
Close
;