विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 03, 2023

शहडोल में आसमान से बरस रही आफत, जिले के सभी स्कूल-कॉलेज में छुट्टी

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले में लगातार हो रही बारिश से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. जिले की सभी नदियां ऊफान पर हैं. जिसकी वजह से जिले की 12 वीं तक के सभी स्कूलों में छुट्टी का ऐलान कर दिया गया है.

Read Time: 3 mins
शहडोल में आसमान से बरस रही आफत, जिले के सभी स्कूल-कॉलेज में छुट्टी

मध्यप्रदेश के कई इलाकों में जोरदार बारिश हो रही है. खासकर शहडोल में लगातार 24 घंटे की बारिश से हालात खराब हो गए हैं. यहां 3 अगस्त की सुबह-सुबह ही 120 मिलीलीटर बारिश दर्ज की गई. जिसकी वजह से पूरा जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. हालात को देखते हुए कलेक्टर वंदना वैध ने  कक्षा 1 से 12 तक के सभी सरकारी, निजी और केंद्रीय विद्यालय में छुट्टी का ऐलान कर दिया है. लोगों से अपील की गई है कि वे रपटे पुल पुलिया पर न जाएं क्योंकि वहां नदी का पानी ऊपर तक बह रहा है. वहां पुलिस अधिकारियों सहित होमगार्ड के जवानों की ड्यूटी लगाई गई है. इसके अलावा  PWD विभाग के लोगो को भी अलर्ट पर रखते हुए सभी रपटों में बेरिकेट्स लगवाए जा रहे है. 

chuurbio

जिले में कई नदी-नाले ऊफान पर हैं, लिहाजा पुलों के आसपास होमगार्ड के जवानों को तैनात किया गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक जिले में 1 जून से लेकर अब तक  629 मिलीमीटर बारिश हुई है लेकिन गुरुवार की बारिश ने हालात और बिगाड़ दिए.  भारी बारिश की वजह से टांकी ,नवलपुर, विचारपुर, पोंडा नाला कठना नाला,  कुनुक सहित सोन नदी में जलस्तर बढ़ गया है. ड़ना नदी का रपटा डूबने से शहडोल मानपुर मार्ग बंद हो गया है. NH 43 और रीवा शहडोल स्टेट हाइवे में भी जगह जगह पानी भरा हुआ है. शहर की अधिकांश सड़को और निचले इलाकों में जलभराव की स्थिति बन रही है. जिससे आवागमन में वाहनों को परेशानी हो रही है. कई जगहों पर रिहाइशी इलाकों में भी पानी घुस गया है. 

a645q8tg

लगातार बारिश से शहर के रिहायशी इलाकों में आवाजाही से भारी परेशानी हो रह है.

वही शहडोल जिले के देवलोद बाणसागर, में स्थित बाणसागर बांध  में पानी का जलस्तर बढ़ रहा है. 3 अगस्त को बाणसागर डेम का जलस्तर 336.70 मीटर पहुंच गया. हालांकि राहत बात ये है कि ये अभी खतरे के निशान से करीब 5 मीटर नीचे हैं. बाणसागर डैम का पूर्ण भराव 341.64 मीटर है. शहडोल कृषि विज्ञान केंद्र के कृषि एवम मौसम वैज्ञानिक गुरप्रीत सिंह ने बताया कि आने वाले दो दिनों में भी भारी बारिश की आशंका है. लगातार बारिश से खेतों में जलभराव होने से सोयाबीन मूंग औऱ उड़द की फसल को नुकसान हो सकता है. किसानों को चाहिए कि वे खेत में जल भराव न होने दें. हालांकि इस बारिश से धान की फसल को कोई नुकसान नहीं होगा.
 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कंपनी के बाउंसरों ने दलित युवक को पीटा, FIR करने पर दी धमकी
शहडोल में आसमान से बरस रही आफत, जिले के सभी स्कूल-कॉलेज में छुट्टी
shivpuri This is too much! 5 lakh people and a half-finished soil testing laboratory for them...how will this work?
Next Article
MP News: 5 लाख लोग और उनके लिए केवल एक आधी- अधूरी मृदा परीक्षण प्रयोगशाला...ऐसे कैसे चलेगा काम
Close
;