विज्ञापन
Story ProgressBack

सर्वधर्म इफ्तार पार्टी में मतभेद हुए दूर, कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशी ने एक दूसरे को फूल मालाओं से किया स्वागत

Ramazan 2024:  मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इंदौर में एक सर्वधर्म सभा और रोजा इफ्तार के आयोजन में भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी और कांग्रेस के उम्मीदवार अक्षय कांति बम दोनों ही पहुंचे. इस दौरान दोनों ने न सिर्फ मंच साझा किया, बल्कि एक दूसरे से मिलकर फूल मालाओं से स्वागत भी किया.

सर्वधर्म इफ्तार पार्टी में मतभेद हुए दूर, कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशी ने एक दूसरे को फूल मालाओं से किया स्वागत

Ramazan 2024:  कहते है कि धर्म लोगों को जोड़ता है, तोड़ता नहीं है. जिसे मशहूर शायर अल्लामा इकबाल ने इस तरह बयान किया है, 'मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना, हिंदी है हम वतन है, हिंदुसितां हमारा'. कुछ ऐसा ही नजारा मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में सर्वधर्म रोजा इफ्तार पार्टी में देखने को मिला.

मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इंदौर में एक सर्वधर्म सभा और रोजा इफ्तार के आयोजन में भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी और कांग्रेस के उम्मीदवार अक्षय कांति बम दोनों ही पहुंचे. इस दौरान दोनों ने न सिर्फ मंच साझा किया, बल्कि एक दूसरे से मिलकर फूल मालाओं से स्वागत भी किया. दरअसल, इंदौर में स्टेट प्रेस क्लब और काफ़िला मोहब्बत का ग्रुप की ओर से सर्वधर्म रोजा इफ्तार पार्टी का आयोजित किया गया, जिसमें सभी धर्म के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. इस दौरान मानवता की मिसाल पेश करते हुए देश में भाईचारा और एकता का संदेश दिया गया.

भाजपा और कांग्रेस दोनों के प्रत्याशी हुए शामिल

इंदौर शहर में रमजान माह में हर साल सर्वधर्म रोजा इफ्तारी कार्यक्रम आयोजित किया जाता है. इस कार्यक्रम में सभी धर्म के लोग शामिल होकर देश में एकता, भाईचारे और इंसानियत का पैगाम देते हैं. इस दौरान देश में अमन, चैन कायम रखने के लिए खास दुआ की जाती है. लिहाजा, इस बार भी सोमवार को यह कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस दौरान बड़ी संख्या में सभी धर्म के लोग शामिल हुए. रोजा इफ्तारी के कार्यक्रम में भाजपा से प्रत्याशी शंकर लालवानी और कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी अक्षय कांति बम भी शामिल हुए.

दोनों नेताओं ने एक दूसरे का किया स्वागत

आयोजन में भाजपा के सांसद और उम्मीदवार शंकर लालवानी जब अपना उद्बोधन दे रहे थे, तो उसी समय कांग्रेस उम्मीदवार अक्षय कांति बम आयोजन में शामिल होने पहुंचे. तभी अपना उद्बोधन रोक कर भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी ने अपनी मधुर स्वभाव का परिचय देते हुए कांग्रेस उम्मीदवार अक्षय कांति बम का नाम लेकर स्वागत किया. जैसे ही भाजपा के उम्मीदवार शंकर लालवानी का उद्बोधन समाप्त हुआ तो अपनी मधुरता का परिचय देते हुए कांग्रेस उम्मीदवार अक्षय कांति बम ने भी खड़े होकर मंच पर ही लालवानी का स्वागत किया. इस दौरान दोनों उम्मीदवारों ने एक दूसरे का स्वागत किया और एक दूसरे से मिलकर शुभकामनाएं दी.


ये भी पढ़ें- Lok Sabha Chunav: कांग्रेस ने बढ़ाई सिंधिया की परेशानी, महाराज-महारानी के बाद अब चुनाव प्रचार में उतरेंगे युवराज


इंदौर में सांसद चुनाव की घोषणा होने के बाद यह पहला अवसर है, जब भाजपा और कांग्रेस दोनों के ही उम्मीदवार इस तरह एक साथ एक मंच पर नजर आए. हालांकि, दोनों ही चुनाव प्रचार में व्यस्त होने के चलते अपना-अपना उद्बोधन देकर कार्यक्रम के बीच में ही चले गए. इस रोजा इफ्तार में बीजेपी नेता गोपी कृष्ण नेमा, धर्मगुरु भरत ओझा, शहर काजी इशरत अली, सामाजिक कार्यकर्ता मंजूर बैग, अख्तर बेग और प्रदेश  वफ्फ कमेटी के अध्यक्ष सनवर पटेल सहित कई भाजपा कार्यकर्ता और लोगों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सभी धर्म के लोगों ने रोजा इफ्तार कर भाईचारा और एकता का संदेश दिया. इस अवसर पर धर्मगुरु और वक्फ कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम हमारे देश में सामाजिक एकता, भाईचारे और मोहब्बत का पैगाम देते हैं. सभी धर्म इंसानियत और भाईचारे का संदेश देता है. 

ये भी पढ़ें- Madhya Pradesh: लोकसभा चुनाव में जानवर और मकड़ी की एंट्री, जानिए- सिंधिया की मकड़ी के जवाब में किस नेता ने क्या कहा?

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बड़वानी: कस्तूरबा आश्रम में खाना खाते ही बिगड़ी 44 छात्राओं की तबीयत, प्रशासन में मचा हड़कंप
सर्वधर्म इफ्तार पार्टी में मतभेद हुए दूर, कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशी ने एक दूसरे को फूल मालाओं से किया स्वागत
The boys side refused dowry in the marriage in Niwari returned 11 lakh rupees of dowry
Next Article
MP News: ससुराल से मिले 11 लाख रुपये लौटाए, कहा-दहेज समाज की है सबसे बड़ी कुप्रथा
Close
;