विज्ञापन
Story ProgressBack

थैंक यू NDTV.... 3 साल बाद हुई परीक्षा, नर्सिंग स्टूडेंट्स ने हमारी मुहिम को सराहा, देखिए रिपोर्ट

MP Nursing Exam: NDTV ने लगातार अपनी मुहिम के माध्यम से नर्सिंग के छात्रों के लिए आवाज बुलंद की थी. इसके बाद आज आखिरकार नर्सिंग परीक्षा संपन्न हुई. जिसके चलते नर्सिंग के छात्रों ने एनडीटीवी का धन्यवाद दिया. उनका कहना था कि इस कठिन दौर में उनके साथ अगर कोई खड़ा था तो एनडीटीवी ही था.

Read Time: 7 min
थैंक यू NDTV.... 3 साल बाद हुई परीक्षा, नर्सिंग स्टूडेंट्स ने हमारी मुहिम को सराहा, देखिए रिपोर्ट

Nursing Exams in Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी (Madhya Pradesh Medical Science University) ने 3 साल बाद नर्सिंग परीक्षाओं (Nursing Exams) का आयोजन किया. NDTV द्वारा लगातार नर्सिंग स्टूडेंट्स (Nursing Students) के पक्ष में मुहिम चलाई गई थी. एनडीटीवी ने नर्सिंग घोटाले (Nursing Scam) के बारे में भी अपने पाठकों व दर्शकों को पूरी जानकारी दी थी. हमारी मुहिम भी देखने को मिला है. बुधवार, 15 मई को मध्य प्रदेश में नर्सिंग की परीक्षाएं आयोजित हुईं. इसके लिए 181 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. नर्सिंग की परीक्षा में 30 हजार से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुए. परीक्षा के बाद देखिए नर्सिंग के छात्रों ने क्या कहा? आइए हमारी खास रिपोर्ट में देखिए...

इंदौर : हमारे करियर के लिए NDTV ने उठाई आवाज

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के नर्सिंग स्टूडेंट्स ने अपना पहला पेपर दिया. पेपर देकर लौट रहे नर्सिंग स्टूडेंट्स ने एनडीटीवी का आभार व्यक्त किया और कहा की एनडीटीवी ने उनके करियर को लेकर जो खबरें की हैं उसी का नतीजा है है उनके पेपर शुरू हो पाए हैं.

सतना : परीक्षा देकर नर्सिंग के छात्रों ने ली राहत की सांस

सतना और पन्ना जिले के लगभग सात नर्सिंग कॉलेजों के तीन सैकड़ा छात्रों ने शासकीय जनरल नर्सिंग प्रशिक्षण केन्द्र सतना के केन्द्र में परीक्षा देकर राहत की सांस ली. यहां मनोज जैन मेमोरियल कॉलेज सतना, विंध्या नर्सिंग कॉलेज, सद्गुरू नर्सिंग कॉलेज चित्रकूट, छत्रसाल कॉलेज पन्ना, जीएनएम कॉलेज सतना, निषाद नर्सिंग कॉलेज और महात्मागांधी नर्सिंग कॉलेज के लगभग तीन सैकड़ा छात्रों ने तीन साल बाद परीक्षा दी. इन छात्रों ने परीक्षा हॉल से निकलने के बाद एनडीटीवी का धन्यवाद करते हुए अपने अनुभव साझा किए. मनोज जैन कॉलेज के छात्रों ने बताया कि पेपर देकर काफी अच्छा लग रहा है. यूं तो परीक्षा से डर लगता है, लेकिन जब तीन साल बाद प्रथम वर्ष की परीक्षा देने के लिए हॉल में प्रवेश कर रहे थे तो उस खुशी का इजहार नहीं कर सकते. अब उम्मीद है कि सबकुछ अच्छा होगा.

नर्सिंग के छात्रों ने कहा कि वर्ष 2020-21 में हमने यह सोच का प्रवेश लिया कि इससे कोर्स से जल्दी नौकरी (Job) मिलेगी. आज जब खड़े हैं तो प्रथम वर्ष की परीक्षा दे रहे हैं. न जॉब है और डिग्री पूरी हुई है. बस अब विवि से यही उम्मीद करते हैं कि जल्द से जल्द द्वितीय वर्ष और तृतीय वर्ष की परीक्षाओं का आयोजन करे ताकि हम सबका भविष्य बच सके.

स्टूडेंट्स ने कहा कि जीएनएम (GNM Course) का कोर्स करने वाले सभी छात्र बेहद साधारण परिवार से आते हैं. सभी के माता-पिता उम्मीद करते हैं कि बच्चे अपने समय पर नौकरी करें और घर चलाने में आर्थिक सहयोग दें.  मगर, हम अभी तक अपने माता-पिता पर आश्रित हैं. कुछ समय पहले तो लगता था कि जीवन में केवल बर्बादी लिखी है. तभी एनडीटीवी ने छात्रों के भविष्य को लेकर कई शो किए जिसके बाद शासन-प्रशासन और कॉलेजों की गलती का सहभागी छात्रों को बनाने से बचा दिया गया.

सीधी : एनडीटीवी के प्रयासों का बहुत-बहुत धन्यवाद

सीधी जिले के दिव्य ज्योति नर्सिंग कॉलेज के छात्राओं का परीक्षा केंद्र शासकीय नर्सिंग कॉलेज सीधी बनाया गया है. पहले दिन परीक्षा के उपरांत छात्राओं ने कहा कि उम्मीद नहीं थी की परीक्षा प्रारंभ होगी, पर एनडीटीवी के प्रयासों का बहुत-बहुत धन्यवाद, जिसके द्वारा पूरे प्रदेश में मुहिम चलाई गई और आज हम परीक्षा केंद्र से परीक्षा देकर बाहर निकले हैं. इसको लेकर हम सभी काफी खुश है. छात्राओं ने कहा कि हमारा फाइनल ईयर का कोर्स कंप्लीट हो जाना चाहिए था किंतु प्रथम वर्ष का एग्जाम दे रहे हैं ऐसे में हमारा समय भी बेकार गया है और परेशानी भी हुई है. 

छिंदवाड़ा : उम्मीद नहीं थी की परीक्षाएं होंगी, थैंक यू NDTV

छिंदवाड़ा जिले में नर्सिंग कॉलेज के छात्राओं का परीक्षा केंद्र छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज को बनाया गया है. पहले दिन परीक्षा देने के बाद विद्यार्थियों ने कहा कि उम्मीद नहीं थी कि परीक्षा प्रारंभ होगी. एनडीटीवी की मुहिम का हृदय से धन्यवाद, जिसके द्वारा पूरे प्रदेश में मुहिम चलाई गई और आज हम परीक्षा केंद्र से परीक्षा देकर बाहर निकले हैं जिसको लेकर हम सभी काफी खुश हैं. 

छात्राओं ने कहा कि हमारा फाइनल ईयर का कोर्स भी पूरा हो जाना चाहिए था लेकिन 1st ईयर का एग्जाम दे रहे हैं ऐसे में हमारा समय भी बेकार गया है जिसको लेकर कहीं न कहीं गम भी है.

रीवा : खुशी से आवाज नहीं निकल रही है

प्रदेश के 30000 से ज्यादा छात्र-छात्राओं की आज परीक्षा हो गई. उनकी परीक्षाओं पर संकट के बादल लंबे समय से दिखाई पड़ रहे थे. मामला हाई कोर्ट (High Court), सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) और सीबीआई (CBI) तक पहुंचा. परीक्षा देकर निकले छात्र-छात्राओं को भरोसा ही नहीं हो रहा है कि उनकी परीक्षा हो गई. चेहरे पर खुशी झलक रही है, लेकिन मुंह से आवाज नहीं निकल रही है. नर्सिंग कॉलेज की परीक्षा के लिए प्रदेश भर में 181 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. उसी में से एक परीक्षा केंद्र था रीवा के आयुर्वेदिक कॉलेज का. हमने यहां छात्र-छात्राओं से बात की उन्होंने एनडीटीवी की इस मुहिम पर आभार प्रकट किया.

धार : छात्रों के चेहरे खिले

नर्सिंग छात्रों का वनवास खत्म हुआ. यहां पीजी कॉलेज में बुधवार से नर्सिंग कॉलेज के छात्रों की परीक्षाओं का दौर शुरू हो गया है. जिले के 15 कॉलेज से छात्र परीक्षा देने के लिए पहुंचे. फिलहाल प्रथम वर्ष की परीक्षाएं शुरू हुई है. जबकि शेष सत्रों के लिए कार्यक्रम का इंतजार किया जा रहा है. पीजी कॉलेज धार में परीक्षा केंद्र बनाया गया था, जहां पर बुधवार को कुल दर्ज 623 में से 533 छात्र परीक्षा देने पहुंचे थे. इनमें 90 छात्र अनुपस्थित थे. यह परीक्षा 23 मई तक जारी रहेगी. जिले में संचालित होने वाले 15 कॉलेज से विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होने के लिए धार पहुंचे थे. बसों और अन्य साधनों की मदद से इन्हें कॉलेज प्रबंधन द्वारा लाने की व्यवस्था की गई थी.

स्टूडेंट्स का कहना है कि पहला पेपर एटानामी और फिजियोलॉजी का था. पेपर आसान रहा है. लंबे वक्त के बाद परीक्षाएं हो रही है. ऐसे में पहला पेपर आसान होने से काफी राहत रही है. परीक्षाओं को लेकर साढ़े तीन साल से असमंजस की स्थिति बनी हुई थी, जो अब स्पष्ट हुई है. परीक्षाएं शुरू हो गई हैं. यह 23 मई तक चलना है. परीक्षाओं के लिए सभी ने काफी मेहनत की है.

खंडवा : इस कठिन दौर में उनके साथ अगर कोई खड़ा था तो NDTV ही था

एनडीटीवी ने लगातार अपनी मुहिम के माध्यम से नर्सिंग के छात्रों के लिए आवाज बुलंद की थी. इसके बाद आज आखिरकार नर्सिंग परीक्षा संपन्न हुई. जिसके चलते नर्सिंग के छात्रों ने एनडीटीवी का धन्यवाद दिया. उनका कहना था कि इस कठिन दौर में उनके साथ अगर कोई खड़ा था तो एनडीटीवी ही था. इसलिए वे एनडीटीवी का शुक्रिया अदा करते हैं. बता दें कि निजी कॉलेजों में फर्जीवाड़े की जांच के चलते नर्सिंग परीक्षा रुकी हुई थी. CBI ने कोर्ट के निर्देश पर नर्सिंग कॉलेजों की जांच भी की थी. नर्सिंग कॉलेज की परीक्षा का मुद्दा एनडीटीवी ने पुरजोर तरीके से उठाया था. इसके बाद अब आज से नर्सिंग की परीक्षाएं शुरू हुई हैं. परीक्षा देने के बाद नर्सिंग के छात्रों ने कहा कि 3 साल तक उनका जीवन बर्बाद होता रहा लेकिन अब एनडीटीवी की मुहिम के चलते उन्हें परीक्षा देने का अवसर मिला है. इसलिए उन्होंने एनडीटीवी का धन्यवाद.

यह भी पढ़ें : MP के इन नर्सिंग कॉलेजों की 'सर्जरी' जरूरी, जानिए हाईकोर्ट में CBI ने किन खामियों को बताया

यह भी पढ़ें : नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़ा: CBI जांच में अनफिट, नए नियम से हो जाएंगे फिट! देखिए MP के सभी संस्थानों का हाल

यह भी पढ़ें : PM से लेकर विदेश मंत्री और CM को चुनाव जिताने वाला विदिशा, भीषण गर्मी में पानी के लिए क्यों तरस रहा है?

यह भी पढ़ें : मुंबई हादसे से रायपुर नगर निगम अलर्ट, होर्डिंग्स की जांच कर एक हफ्ते में रिपोर्ट देंगी विज्ञापन एजेंसी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close