विज्ञापन
Story ProgressBack

Private Schools: शिक्षा माफियाओं पर सरकार के एक्शन पर MP विवेक तंखा ने कसा तंज, बोले-सस्ती लोकप्रियता के लिए कार्रवाई

सासंद विवेक तंखा का कहना है प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ सरकार के एक्शन से पूरे समाज को शर्मिंदगी महसूस हुई है. मैं अपना विरोध प्रकट करता हूं. उधर, जिला प्रशाशन ने स्कूलों को चेतावनी देते हुए अपने कार्यकलापों में सुधार लाने कहा है.

Read Time: 4 mins
Private Schools: शिक्षा माफियाओं पर सरकार के एक्शन पर MP विवेक तंखा ने कसा तंज, बोले-सस्ती लोकप्रियता के लिए कार्रवाई
(फाइल फोटो)

Action Against MP Private Schools: मध्य प्रदेश में शिक्षा माफिया पर हुई ताबड़तोड़ कार्यवाही का जहां चारो ओर जिला प्रशासन की प्रशंसा की जा रही है, लेकिन राज्यसभा सांसद विवेक तंखा ने मध्य प्रदेश की मोहन सरकार को आड़ों हाथ लिया है. तंखा ने कहा है कि यह सस्ती लोकप्रियता के लिए किया गया काम है.

सासंद विवेक तंखा का कहना है प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ सरकार के एक्शन से पूरे समाज को शर्मिंदगी महसूस हुई है. मैं अपना विरोध प्रकट करता हूं. उधर, जिला प्रशाशन ने स्कूलों को चेतावनी देते हुए अपने कार्यकलापों में सुधार लाने कहा है.

कोर्ट ने 11 स्कूल संचालकों को 31 मई तक पुलिस रिमांड में भेज दिया

गौरतलब है मध्य प्रदेश में बिना अनुमति के निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा बच्चों की स्कूल फीस बढ़ाने और किताब पब्लिकेशन के मामले में गिरफ्तार स्कूल संचालकों को बुधवार को अदालत से जमानत नहीं मिली. कोर्ट ने अवैध फीस वसूली व पाठ्य-पुस्तकों की मनमानी कीमतों पर बिक्री को गंभीर अपराध ठहराते हुए आरोपियों को 31 मई तक पुलिस रिमांड में भेज दिया.

सरकार स्कूल संचालकों को सुधारने का एक मौका दे रही हैः जबलपुर कलेक्टर

जबलपुर में शिक्षा माफिया के खिलाफ कार्रवाई पर कलेक्टर दीपक सक्सेना ने कहा कि अब सरकार स्कूल संचालकों को सुधारने का एक मौका दे रही है, जो ज्यादा फीस लौटने और नियम मनाने तैयार है उनकी एक विशेष कमेटी द्वारा समीक्षा की जाएगी, जिसमें सीए, NGO, विषय विशेषज्ञ शामिल होंगे. इसके बाद भी कोई नही सुधारा तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

कोर्ट ने अवैध फीस वसूली व पुस्तकों को मनमाने दामों में बिक्री को गंभीर अपराध माना

अवैध फीस वसूली व मनमाने दामों में पाठ्य पुस्तक विक्रय गंभीर अपराध ठहराते हुए अदालत ने पुलिस द्वारा कोर्ट में पेश किए गए आरोपित स्कूल क्रमशः क्राइस्ट चर्च स्कूल, जबलपुर के अजय उमेश जेम्स, शाजी थामस, यूवी मैरी, अतुल अनुपम व एकता पीटर्स सहित अन्य को 31 मार्च तक पुलिस रिमांड में भेज दिया.

जबलपुर कलेक्टर ने कहा कि सरकार स्कूल संचालकों को सुधारने का एक मौका दे रही है, जो नियम मनाने तैयार है उनकी एक विशेष कमेटी द्वारा समीक्षा की जाएगी, जिसमें सीए, NGO, विषय विशेषज्ञ शामिल होंगे. इसके बाद भी कोई नही सुधारा तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी.

बिना अनुमति नियम से अधिक फीस वृद्धि कर आरोपितों करोड़ों रुपए अर्जित किए

सीजेएम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में आगे कहा कि आराेपितों ने एक राय होकर बिना वैध अनुमति के छात्रों पर नियम से अधिक फीस वृद्धि कर करोड़ों रुपये अवैध रूप से अर्जित किए गए. यही नहीं, बिना आइबीएसएन की नकली पुस्तकें प्रकाशकों से सैटिंग करके छात्रों को अपेक्षाकृत अधिक कीमत में विक्रय कर अवैध लाभ अर्जित किया गया.

ओमती पुलिस का बयान, आधे दस्तावेज जब्त, शेष की बरामदगी शेष

इससे पूर्व ओमती पुलिस की ओर से रिमांड की मांग करते हुए दलील दी गई कि 27 मई को आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ मेमोरेंडम लिया गया है. उनके आधिपत्य से प्रकरण से संबंधित आधे दस्तावेज जब्त किए गए हैं, जबकि शेष की बरामदगी शेष है.

दस्तावेजों का विश्लेषण के बाद खुलेगी करोड़ों के लेन-देन का राज

पुलिस के मुताबिक जब्त किए गए दस्तावेजों का विश्लेषण किया जाना है, जो आरोपितों की उपस्थिति में ही संभव है. इससे करोड़ों के लेन-देन की परतें खुलेंगी. नकली प्रकाशकोें की जानकारी भी आरोपितों से प्राप्त की जा सकेगी,इसलिए पुलिस रिमांड अपेक्षित है.

11 स्कूल संचालकों और प्रिंसिपल के खिलाफ दर्ज किया गया था मामला

गौरतलब है दो दिन पहले कलेक्टर और एसपी सहित वरिष्ठ अधिकारियों और जांच समिति पूरी रात कलेक्ट्रेट कार्यालय में मामले की तफ्शील से मामले की जांच की गई और स्कूल की किताबों में सांठ-गांठ को लेकर 11 स्कूल संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया और अब उन्हें हिरासत में लेकर संबंधित थानों में ले गई थी.

कोर्ट ने कहा कि आराेपितों ने एक राय होकर बिना वैध अनुमति के छात्रों पर नियम से अधिक फीस वृद्धि कर करोड़ों रुपए अर्जित किए और बिना IBSN की नकली पुस्तकें प्रकाशकों से सैटिंग करके छात्रों को अपेक्षाकृत अधिक कीमत में विक्रय कर अवैध लाभ अर्जित किया गया.

वो 11 स्कूल, जिसके संचालक और प्रिंसिपल के खिलाफ दर्ज हुआ मामला 
1. क्राइस्ट चर्च वॉइस स्कूल
2. ज्ञान गंगा स्कूल
3. स्टेमफील्ड इंटरनेशनल स्कूल 
4. लिटिल वार्ड स्कूल
5. चेतान्य स्कूल
6. सेंट अलोसियस स्कूल सल्लीवारा 
7. सेट अलोसियायस घमापुर
8. सेट अलोसियस सदर
9. क्राइस्टचार्च घामपुर

ये भी पढ़ें-Gwalior: 3 स्कूलों ने बढ़ाकर ली थी फीस, चला कलेक्टर का डंडा, अब स्कूल प्रबंधन को पैरेंट्स को लौटाने होंगे 15.21 लाख

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मदरसों को लेकर मंत्री विजय शाह ने फिर दिया बड़ा बयान, कहा-जो तिरंगे और राष्ट्रगान का अपमान करेगा उसकी...
Private Schools: शिक्षा माफियाओं पर सरकार के एक्शन पर MP विवेक तंखा ने कसा तंज, बोले-सस्ती लोकप्रियता के लिए कार्रवाई
ujjain police action on ipl betting live Bookies captured Ujjain, the city of Mahakal, police seized Rs 14.58 crore from bookies and arrested 9
Next Article
महाकाल की नगरी उज्जैन में सटोरियों का कब्जा, पुलिस ने 9 सट्टेबाजों को दबोच कर जब्त किए 14.58 करोड़ रुपये
Close
;