विज्ञापन
Story ProgressBack

Lok Sabha Election Results: अबकी बार MP में जमानत जब्त करा बैठे 369 में से 311 उम्मीदवार

2024 Election Results: बीजेपी (BJP) के सभी 29, कांग्रेस (Congress) के 27 और बहुजन समाज पार्टी (BSP) के दो उम्मीदवारों समेत 58 उम्मीदवार अपनी जमानत बचाने में सफल रहे.

Read Time: 3 mins
Lok Sabha Election Results: अबकी बार MP में जमानत जब्त करा बैठे 369 में से 311 उम्मीदवार

Madhya Pradesh Election Results: मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव (Election 2024) में प्रदेश की सभी 29 सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने जीत दर्ज की है, वहीं कुल 369 उम्मीदवारों में से 311 की जमानत जब्त हो गई. एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि 84 प्रतिशत से अधिक उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई. हर उम्मीदवार के लिए जमानत राशि 12,500 रुपये से लेकर 25,000 रुपये निर्धारित थी. बीजेपी मध्य प्रदेश में सभी 29 सीटों पर जीत के साथ ही 40 साल बाद ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाली पहली राजनीतिक पार्टी बन गई.

ऐसा है वोटों का विश्लेषण

मध्य प्रदेश की 26 सीट पर बीजेपी की जीत का अंतर एक लाख से पांच लाख मतों के बीच रहा, जबकि भिंड, ग्वालियर और मुरैना निर्वाचन क्षेत्रों में यह अंतर एक लाख से कम मतों का रहा. बीजेपी को 59.3 प्रतिशत वोट मिले, जो 2019 के चुनाव परिणामों की तुलना में लगभग 1.3 प्रतिशत अधिक हैं. मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुपम राजन ने फोन पर ‘पीटीआई भाषा' को बताया कि बीजेपी के सभी 29, कांग्रेस (Congress) के 27 और बहुजन समाज पार्टी (BSP) के दो उम्मीदवारों समेत 58 उम्मीदवार अपनी जमानत बचाने में सफल रहे.

हालांकि इस बार कांग्रेस के मत प्रतिशत में 2.1 प्रतिशत की गिरावट आई, लेकिन इसके किसी भी उम्मीदवार की जमानत नहीं जब्त हुई। पार्टी का मत प्रतिशत 2019 के 34.5 प्रतिशत की तुलना में घटकर 32.4 प्रतिशत हो गया.

आयोग एक अन्य अधिकारी के अनुसार एक उम्मीदवार को जमानत बचाने के लिए निर्वाचन क्षेत्र में डाले गए कुल वैध मतों का छठा हिस्सा हासिल करना होता है. राज्य में सबसे अधिक अंतर से जीत इंदौर से भाजपा के मौजूदा सांसद शंकर लालवानी ने दर्ज की, जिन्होंने संभावित रूप से अब तक के सबसे बड़े अंतर 11,75,092 मतों से सीट जीती.

कांग्रेस के उम्मीदवार अक्षय कांति बम के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने इंदौर सीट पर चुनाव नहीं लड़ा. इंदौर में अन्य सभी 13 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। बसपा उम्मीदवार लक्ष्मण सोलंकी ने 51,659 वोट हासिल किए और इंदौर में दूसरे स्थान पर रहे, लेकिन उनकी भी जमानत जब्त हो गई.

क्या हैं जमानत जब्त होने के नियम?

आयोग के अधिकारी ने बताया कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को जमानत के तौर पर 12,500 रुपये देने होते हैं, जबकि सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 25,000 रुपये देने होते हैं. उन्होंने कहा कि बसपा के दो उम्मीदवार - सतना से नारायण त्रिपाठी और मुरैना से रमेश गर्ग - अपनी जमानत बचाने में सफल रहे. त्रिपाठी को 1.85 लाख से अधिक वोट मिले, जबकि गर्ग को 1.79 लाख से अधिक वोट मिले.

यह भी पढ़ें : Lok Sabha Election Results: पिता बेटे को और बेटा पिता को नहीं दिलवा पाया बढ़त, ये है कमलनाथ-कांतिलाल की कहानी

यह भी पढ़ें : Lok Sabha Election Analysis: MP के मन में मोदी, 100% स्ट्राइक रेट, इन फैक्टर्स से BJP ने रचा इतिहास

यह भी पढ़ें : Modi 3.0: नरेंद्र मोदी लोकसभा के नेता, BJP के नेता और NDA संसदीय दल के नेता चुने गए, जानिए किसने क्या कहा?

यह भी पढ़ें : NEET 2024: प्रियंका गांधी से लेकर मल्लिकार्जुन खरगे तक, NEET Scam पर ऐसे उठे सवाल, NTA ने क्या कहा जानिए

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Katni: जल संरक्षण के लिए अदाणी फाउंडेशन द्वारा तालाबों का किया जा रहा जीर्णोद्धार, 800 किसानों को होगा फायदा
Lok Sabha Election Results: अबकी बार MP में जमानत जब्त करा बैठे 369 में से 311 उम्मीदवार
Crossing all limits of cruelty, killed mother-in-law by attacking her 100 times with a sickle, 30 years later the court awarded death sentence to daughter-in-law
Next Article
Rarest Murder: क्रूरता की सारी हदें की पार, सास को दरांती से 100 बार हमलाकर की हत्या, 30 साल बाद कोर्ट ने बहू को सुनाई फांसी की सजा
Close
;