विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 20, 2023

Jabalpur : दूषित भोजन खाने से 300 बच्चे बीमार, स्कूल की प्रिंसिपल समेत तीन निलंबित

जांच रिपोर्ट के अनुसार हिंदू त्योहार तीजा के कारण जो खाना बनाने वाली महिलाएं हैं उन्होंने जल्दी खाना बना दिया था और अधीक्षिका जो प्रतिदिन भोजन वितरित करने के पूर्व खाकर देखती थी वह भी तीजा के कारण उपवास पर थी, जिसके कारण उन्होंने खाना खाकर जांच नहीं की थी.

Read Time: 3 mins
Jabalpur : दूषित भोजन खाने से 300 बच्चे बीमार, स्कूल की प्रिंसिपल समेत तीन निलंबित
सभी 300 बच्चों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया
जबलपुर:

जबलपुर के एक छात्रावास में रात का खाना खाने के बाद करीब 300 बच्चे बीमार हो गए, जिसके बाद स्कूल की प्रिंसिपल के साथ-साथ बालिका छात्रावास की अधीक्षक और बालक छात्रावास के अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया है. दरअसल जबलपुर के एकलव्य आवासीय विद्यालय में बच्चों को खाने में कटहल की सब्जी परोसी गई थी, जिसे खाने के बाद तीन सौ से ज्यादा बच्चों को फूड पॉइजनिंग हो गई. जिसके बाद सभी 300 बच्चों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया. जहां पर इलाज के बाद लगभग 200 बच्चों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया. अस्पताल में 101 बच्चों को एडमिट रखा गया था, जिसमें से 12 बच्चों की स्थिति गंभीर बताई जा रही थी, जिनकी हालत में फिलहाल सुधार है.

ये भी पढ़ें: MP : नेता प्रतिपक्ष गोविंद पर HC ने लगाया 10 हजार का जुर्माना, जानें पूरा मामला


बच्चों के अभिभावक दिखाई दिए आक्रोशित

अनुसूचित जाति-जनजाति छात्र संघ के छात्र-छात्राओं ने इस मामले में डिप्टी कमिश्नर ट्राइबल कार्यालय का घेराव किया और धरना दिया. साथ ही बच्चों की तबीयत खराब होने की खबर लगने पर बड़ी संख्या में अभिभावकों भी आ गए. बच्चों के स्वास्थ्य के साथ हुए इस खिलवाड़ पर अभिभावक काफी आक्रोशित दिखाई दिए. उन्होंने स्कूल प्रिंसिपल पर इस लापरवाही के लिए सख्त कार्रवाई की मांग की.

इस मामले की जांच के लिये कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन द्वारा एसडीएम गोरखपुर पंकज मिश्रा के नेतृत्व में जांच दल बनाया गया था. जांच रिपोर्ट के बाद विद्यालय की प्राचार्य गीता साहू, बालक छात्रावास के अधीक्षक मोहन पटेल और बालिका छात्रावास की अधीक्षक ज्योति बाला गोल्हानी को निलंबित कर दिया है.

तीजा के कारण नहीं हो पाई जांच

जांच रिपोर्ट के अनुसार हिंदू त्योहार तीजा के कारण जो खाना बनाने वाली महिलाएं हैं. उन्होंने जल्दी खाना बना दिया था और अधीक्षिका जो प्रतिदिन भोजन वितरित करने के पूर्व खाकर देखती थी, वह भी तीजा के कारण उपवास पर थी, जिसके कारण उन्होंने खाना खाकर जांच नहीं की थी. इससे बच्चों को वितरित किए जाने वाले भोजन में गड़बड़ी के बारे में पता नहीं चल पाया.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस ने जन आक्रोश यात्रा का किया आगाज, निशाने पर हैं शिवराज

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कैलाश विजयवर्गीय के करीबी नेता की हत्या के दोनों आरोपियों को पुलिस ने मंडीदीप से दबोचा, हो सकते हैं बड़े खुलासे
Jabalpur : दूषित भोजन खाने से 300 बच्चे बीमार, स्कूल की प्रिंसिपल समेत तीन निलंबित
Mockery of law in Ashoknagar 1 died after being crushed by a police vehicle
Next Article
अशोकनगर में उड़ा कानून का मखौल ! पुलिस गाड़ी से कुचलकर 1 की मौत
Close
;