विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Nov 25, 2023

IES Exam: एमपी के सारांश बने देश के सबसे कम उम्र के क्लास वन ऑफिसर, जानिए इनका सक्सेस मंत्र

सक्सेस मंत्र : खास बात यह है कि सारांश गुप्ता ने अपनी पढ़ाई  घर में रहकर ही की है. उनका कहना है कि जो बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें एकाग्र होने की जरूरत है. 

IES Exam: एमपी के सारांश बने देश के सबसे कम उम्र के क्लास वन ऑफिसर, जानिए इनका सक्सेस मंत्र

Madhya Pradesh News: कुछ कर गुजरने की ललक और जज्बा हो तो सफलता ज़रूर मिलती है. ऐसा ही जज्बा लेकर शिवपुरी (Shivpuri)  के 22 साल के सारांश गुप्ता (Saransh Gupta) अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहे और उन्हें पहली ही बार में सफलता मिल गई. सारांश  देश के सबसे कम उम्र के आईईएस (Indian Engineering Services) अफसर बने हैं. देशभर में उन्हें 20वीं रैंक मिली है. इसके पहले उन्हें देश विदेश की कई बड़ी कंपनियों से लाखों रुपये के पैकेज का ऑफर भी मिला था. जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था. बेहद कम उम्र में IES बनने वाले सारांश के घर ख़ुशी का माहौल है. सारांश के भाई बैंक सर्विसेज में हैं. बहन भी बैंक सर्विसेज में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर काम कर रही है.

घर पर रहकर ही की थी तैयारी
खास बात यह है कि सारांश गुप्ता ने अपनी पढ़ाई  घर में रहकर ही की है. उनका कहना है कि जो बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें एकाग्र होने की जरूरत है. सारांश के पिता संजीव गुप्ता पंचायत सचिव हैं. मां शोभा गुप्ता गृहणी हैं. जबकि भाई, बहन बैंक सर्विसेज में है. सारांश कहते हैं कि उन्हें अपने परिवार से काफी सपोर्ट मिला और उन्हें पढ़ने के लिए पूरा माहौल दिया. यही वजह है कि उन्होंने यह सफलता हासिल की है.

ये भी पढ़ें: MP Weather Update: मध्य प्रदेश में मौसम ने ली करवट, जानें कब से पड़ेगी कड़ाके की ठंड

देश सेवा का ही रखा विकल्प
शिवपुरी के बेहद सामान्य परिवार के सारांश गुप्ता की इस सफलता के बाद न केवल शहर वाले खुश हैं, बल्कि उनको चाहने वाले भी लगातार बधाई दे रहे हैं. जल्द ही इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज (Indian Engineering Services) में अपना पदभार संभालने वाले सारांश ने बताया कि यह उनकी पसंदीदा जॉब है. इस सफलता से पहले ही उन्हें देश और विदेश की तमाम बड़ी कंपनियां ऑफर दे चुकी हैं. सारांश कहते हैं कि उनके पास कई सारी कंपनियों के अपॉइंटमेंट लेटर आए हैं, लेकिन उनके लिए देश की सेवा करने से बेहतर दूसरा कोई विकल्प नहीं है.

JEE  मेंस और एडवांस दोनों परीक्षाएं उत्तीर्ण की हैं
सारांश को BHU की पढ़ाई के दौरान ही टाटा प्रोजेक्ट से मिला 16 लाख का पैकेज ठुकराया था. 2023 में IIT सिविल इंजीनियरिंग पास की और गेट परीक्षा में भी सफलता हासिल की थी.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बिना सैलरी के कैसे होगा काम ? MP के इस जिले में सफाई कर्मियों ने जताया विरोध
IES Exam: एमपी के सारांश बने देश के सबसे कम उम्र के क्लास वन ऑफिसर, जानिए इनका सक्सेस मंत्र
Dead people not able to be carried with four shoulders because of bad road condition in Maihar
Next Article
ऐसी भी क्या मजबूरी थी? शव को नसीब नहीं हुए चार कंधे, तो इस तरह निकली अंतिम यात्रा
Close
;