विज्ञापन
Story ProgressBack

Fraud: सीबीआई का डर दिखाकर व्यापारी से दो करोड़ रुपये ऐंठने वाले 5 आरोपियों को पुलिस ने दबोचा, हैरान करने वाले हैं इनके कारनामे

Loot in MP: उज्जैन में खुद को सीबीआई अधिकारी बता कर पांच बदमाशों ने एक व्यापारी से दो करोड़ रुपए की ऑनलाइन ठगी की. इस मामले में पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया है, लेकिन अभी तक लूट के पैसे जब्त नहीं किए.

Read Time: 3 mins
Fraud: सीबीआई का डर दिखाकर व्यापारी से दो करोड़ रुपये ऐंठने वाले 5 आरोपियों को पुलिस ने दबोचा, हैरान करने वाले हैं इनके कारनामे
लूट में शामिल सभी आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Ujjain Crime News: उज्जैन से एक बड़ी लूट की घटना सामने आई. यहां बिहार और उत्तर प्रदेश (Bihar and Uttar Pradesh) के गिरोह ने एक व्यापारी से दो करोड़ रुपए लूट लिए. उन्होंने खुद को सीबीआई अधिकारी (CBI Officer) बताकर व्यापारी (Businessman in Ujjain) को फसाया. सीबीआई के एक केस में नाम होने का डर दिखा कर व्यापारी के साथ ठगी की गई.

करीब 15 दिन पहले हुई इस सनसनीखेज घटना में पुलिस ने खोजबीन कर गिरोह के पांच बदमाशों को पकड़ लिया. हालांकि, उनके हाथ अब तक लूटे हुए पैसे नहीं लगे. इसके लिए पुलिस जांच कर रही है. मामले का मंगलवार शाम एसपी प्रदीप शर्मा ने खुलासा किया है.

जेट एयरवेज से नाम जोड़कर किया फ्रॉड

दरअसल, 8 अप्रैल को शहर के एक स्क्रैप व्यवसायी को अलग अलग मोबाइल से कॉल आया. फोन पर कुछ लोगों ने खूद को सीबीआई का एजेंट बताते हुए बात की और कहा कि जेट एयरवेज मालिक नरेश गोयल के द्वारा किए फ्रॉड का रुपया उनके बैंक खाते में आया है जिसका सीबीआई प्रकरण दर्ज होने से इन्वेस्टीगेशन कर रही है. व्यवसायी ने डर से बिहार स्थित नालंदा की पंजाब नेशनल बैंक शाखा के एक अकाउंट में पहले डेढ़ करोड़ और दो दिन बाद फिर मांगने पर 50 लाख आरटीजीएस कर दिए.

लुटेरों ने व्यवसायी को विश्वास दिलाने के लिए उसे व्हाट्सएप पर गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के विभिन्न विभागों के लेटर पर दिया अरेस्ट ऑर्डर,गोपनीय समझौते की सहमति का एग्रीमेंट एवं सीबीआई अधिकारी के हस्ताक्षरित पत्र भेज दिए. लेकिन दो दिन बाद ठगी का एहसास होने पर वह एसपी प्रदीप शर्मा के पास पहुंचा. उन्होंने जांच करवाई तो गिरोह की करतूत सामने आ गई.

गिरफ्तारी के बाद भी बरामद नहीं हुए पैसे

मामले में पुलिस ने नालंदा बिहार के मुकेश कुमार, ग्राम बारापुर के अमरेंद्र कुमार (बाहुबली) ग्राम किंजर के शाहनवाज आलम मैनपुरी (यूपी) के अनिल यादव और शरद पांडे को गिरफ्त में लेकर उनसे 10 मोबाइल जब्त कर लिए. लेकिन, ठगी गई राशि नहीं मिली. एसपी शर्मा ने बताया कि मुकेश पर क़रीब 3.50 लाख रुपए का कर्ज था. उसे दोस्त अमरेंद्र ने कर्ज चुकाने के साथ हर माह 50 हजार रूपए तक कमाने का तरीका बताया. योजनानुसार मुकेश ने मुकेश इंटरप्राइजेज के नाम से फर्म बनाकर पंजाब नेशनल बैंक शाखा नालंदा में खाता खुलवाकर जीएसटी नंबर भी लिया.

ये भी पढ़ें :- MP News: 'कोई भी राजा बनें, हमें क्या फर्क पड़ता है', लोकसभा चुनाव से पहले यहां 30 से 40% लोग कर गए पलायन

नालंदा और मैनपुरी एडवांस जामतारा

एसपी शर्मा के अनुसार आरोपियों से पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि अमरेंद्र,शरद और अनिल ने बीएससी की है.वहीं, मुकेश और शाहनवाज 8 वीं तक पढ़े हैं. मुकेश के खातों की जांच से पता चला है कि एक ही दिन में उसके खाते में चार करोड़ का ट्रांजेक्शन हुआ था. हालांकि,फिलहाल उसके खाते में 1.30 लाख रुपए ही है. मामले में अभी राशि जब्त नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें :- PM Modi in Chhattisgarh: पीएम मोदी के राजभवन में ठहरने पर भड़के कांग्रेसी, चुनाव आयोग में की शिकायत

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Crime: सास ने बहू को कहा सिर्फ यह एक शब्द, तो बहू ने दी ऐसी सजा कि सुनकर कांप जाएगी रूह
Fraud: सीबीआई का डर दिखाकर व्यापारी से दो करोड़ रुपये ऐंठने वाले 5 आरोपियों को पुलिस ने दबोचा, हैरान करने वाले हैं इनके कारनामे
ceremony of MPL Before 2 people were murdered in Gwalior know how the double murder happened amidst high security
Next Article
MPL के उद्धाटन समारोह से पहले ग्वालियर में 2 लोगों की हत्या, जानें हाई सिक्युरिटी के बीच कैसे हुआ डबल मर्डर?
Close
;