विज्ञापन
Story ProgressBack

FIR After New Laws: नया कानून लागू होने के बाद MP में 855 से ज्यादा FIR, ई एफआईआर में भी आई बढ़ोत्तरी...

New Indian Laws: बात ई-एफआईआर की करें तो इसमें बीते दो दिन में ही बढ़ोत्तरी देखी गई है. मध्यप्रदेश में दो दिन के भीतर 98 ई-एफआईआर दर्ज की गई हैं. सीसीटीएनएस के मुताबिक एक जुलाई को 53 और दो जुलाई को 45 एफआईआर दर्ज की गई हैं.

Read Time: 3 mins
FIR After New Laws: नया कानून लागू होने के बाद MP में 855 से ज्यादा FIR, ई एफआईआर में भी आई बढ़ोत्तरी...
MP Police: पहले दिन सबसे अधिक एफआईआर भोपाल अर्बन में दर्ज की गई, जिसकी संख्या 35 रही.

Madhya Pradesh: नए कानून के देश में लागू होने के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में दो दिन में 855 से ज्यादा FIR हुई हैं. इसमें भी प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में सबसे ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं. MP में पहले दिन यानी 1 जुलाई को कुल 378 एफआईआर दर्ज की गई थीं, वहीं दूसरे दिन 2 जुलाई को 477 एफआईआर दर्ज की गईं. नए कानून के बाद प्रदेश के सभी 11 जोन की सभी रेंज में एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं. उम्मीद की जा रही हैं कि जिस तेजी से एफआईआर दर्ज हुई हैं उसी तेजी के साथ उन पर आगे की कार्रवाई होगी जिससे आम आदमी को न्याय के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

पहले दिन भोपाल अर्बन में दर्ज की गईं 35 FIR

पहले दिन सबसे अधिक एफआईआर भोपाल अर्बन में दर्ज की गई, जिसकी संख्या 35 रही वहीं दूसरे दिन उज्जैन जिले में सबसे ज्यादा एफआईआर दर्ज की गईं. जिनकी संख्या कुल 29 है. बात ई-एफआईआर की करें तो इसमें बीते दो दिन में ही बढ़ोत्तरी देखी गई है. मध्यप्रदेश में दो दिन के भीतर 98 ई-एफआईआर दर्ज की गई हैं. सीसीटीएनएस के मुताबिक एक जुलाई को 53 और दो जुलाई को 45 एफआईआर दर्ज की गई हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

IPC और CrPC बन गई इतिहास

नए कानून के लागू होने देश सहित प्रदेश के लोगों को काफी फायदा होने की उम्मीद है. सोमवार से देशभर में तीन नए आपराधिक कानून (Three Criminal Law) लागू हो गए थे. जिसके साथ ही पुराने यानी कि औपनिवेशिक काल के कानूनों के तीन कानून खत्म कर दिए गए थे. आईपीसी और सीआरपीसी भी इसी के साथ इतिहास बन गई थी. साथ ही आईईए को भी खत्म कर दिया गया था. तीन नए क्रिमिनल लॉ लागू हुए थे, जिन्हें भारतीय न्याय संहिता  (BNS), भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता (BNSS, भारतीय साक्ष्य अधिनियम (BSA) कहा गया है. मतलब ये है कि  आईपीसी की जगह BNS, सीआरपीसी की जगह BNSS और आईईए की जगह BSA ने ले ली.

ये भी पढ़ें MP News: कभी देखा है ऐसा क्लास रूम! एक घंटे की बरसात के बाद बना स्विमिंग पूल... किताबें और मेज- कुर्सी दिखीं तैरती

ये भी पढ़ें MP के पूर्व डीजी और उनकी पत्नी के विवाद मामले में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, अब हर महीने देना होगा गुजारा भत्ता

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Weather: MP में आज भारी बारिश, IMD का अलर्ट; जानें बिजली गिरे तो कैसे करें खुद का बचाव?
FIR After New Laws: नया कानून लागू होने के बाद MP में 855 से ज्यादा FIR, ई एफआईआर में भी आई बढ़ोत्तरी...
Jyotiraditya Scindia took a dig at Rahul Gandhi, saying- The parties which did not open their account in 13 states, they are...
Next Article
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राहुल गांधी पर किया कटाक्ष, बोले-जिन पार्टियों का 13 राज्यों में खाता नहीं खुला, वो...
Close
;