विज्ञापन
Story ProgressBack

अगर जरूरत पड़ेगी तो देखेंगे... गांधी परिवार की बहू ने बेटे वरुण गांधी, BJP, सुल्तानपुर के बारे क्या कहा? जानिए

Lok Sabha Polls: मेनका गांधी ने कहा-जब मैं यहां चुनाव लड़ने आई थी तो मुझे कोई जानता नहीं था. समय बहुत कठिन था. प्रतिद्वंदी दो दल, एक साथ मिलकर लड़ रहे थे. इस बार मुझे लोग अच्छे से जानते हैं. यहां लगातार मैं लोगों के बीच रही हूं.

Read Time: 5 mins
अगर जरूरत पड़ेगी तो देखेंगे... गांधी परिवार की बहू ने बेटे वरुण गांधी, BJP, सुल्तानपुर के बारे क्या कहा? जानिए

Maneka Gandhi Interview: भारतीय जनता पार्टी (BJP) की वरिष्ठ नेता और गांधी परिवार (Gandhi Family) की बहू मेनका गांधी (Maneka Gandhi) अभी सुल्तानपुर (Sultanpur Lok Sabha Seat) से सांसद हैं. बीजेपी ने उन्हें फिर से अपना उम्मीदवार बनाया है. वह, प्रचार में नुक्कड़ सभाएं तो कर ही रहीं हैं, साथ ही दरवाजे-दरवाजे जाकर लोगों से व्यक्तिगत रूप से भी मिल रही हैं. वह कहती हैं कि लोगों से सीधा संवाद ही जीत पक्की करती है. अपने बेटे वरुण गांधी (Varun Gandhi) के बारे में मेनका गांधी ने कहा कि उनका कद बड़ा है. उनके भविष्य की कोई चिंता नहीं है. उन्होंने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से विभिन्न मुद्दों पर खुलकर बातचीत की. पेश हैं बातचीत के कुछ अंश :

सवाल : वरुण गांधी इस चुनाव में आपकी कैसे मदद कर रहे हैं?

जवाब : वरुण इस चुनाव में आना चाहते हैं, लेकिन अभी मौसम के कारण उन्हें परेशान नहीं करना चाहती हूं. फिलहाल, प्रचार अच्छा चल रहा है. अगर जरूरत पड़ेगी तो देखेंगे.

सवाल : वरुण गांधी के राजनीतिक भविष्य को लेकर आप कितनी चिंतित है?

जवाब : उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर बिल्कुल भी चिंतित नहीं हूं. वरुण का कद बड़ा है. उनमें अक्ल और धैर्य भी है. वह देश से प्यार भी करते हैं. जो भी करेंगे, अच्छा करेंगे.

सवाल : भारतीय जनता पार्टी को इस चुनाव में आप कितनी सीटों पर विजयी होते देख रही हैं?

जवाब : पार्टी ने 400 पार का लक्ष्य रखा है. अच्छा होगा अगर लक्ष्य तक पहुंच सकते हैं. यदि मैं ज्योतिषी होती तो कितना मजा आता. नहीं! (हंसते हुए)

सवाल : रायबरेली और अमेठी को गांधी परिवार का गढ़ माना जाता है, लेकिन कांग्रेस सिर्फ एक सीट पर सीमित है, इसे कैसे देखती हैं?

जवाब : एक सीट से चुनाव लड़ तो रहे हैं न। अमेठी के बारे मैं कौन होती हूं कुछ कहने वाली. मैं तो अपने तक ही सीमित हूं.

सवाल : विपक्ष बार-बार आरोप लगा रहा है कि आपके पास कोई मुद्दा नहीं है। भाजपा, ध्रुवीकरण की कोशिश कर रही है?

जवाब : सुल्तानपुर में विकास के बारे में बोलकर चुनाव लड़ रहे हैं. कोई ध्रुवीकरण जैसी बात नहीं है.

सवाल : यहां पर उद्योग विकसित करने के बारे में आप क्या सोच रही हैं?

जवाब : इस इलाके को इंडस्ट्रियल बेस बनाने का कोई फायदा नहीं है. अमेठी में ऐसा करके हम देख चुके है. वहां फेल हो चुके हैं. इसकी जगह जयसिंह पुर में छोटे उद्योग को विकसित कर रहे हैं. हालांकि इसकी जगह कृषि विज्ञान केंद्र विकसित करने की भी सोच रही हूं. मेंहदी और बांस के काम को बढ़ावा देकर हम करोड़ों रुपए कमा सकते हैं. लोगों को अच्छा रोजगार भी मिल जायेगा.

सवाल : 2019 के बाद इस चुनाव को कैसे देख रही हैं?

जवाब : जब मैं यहां चुनाव लड़ने आई थी तो मुझे कोई जानता नहीं था. समय बहुत कठिन था. प्रतिद्वंदी दो दल, एक साथ मिलकर लड़ रहे थे. इस बार मुझे लोग अच्छे से जानते हैं. यहां लगातार मैं लोगों के बीच रही हूं. अब सुल्तानपुर में कानून व्यवस्था और अन्य बिगड़ी चीजें काबू में है. यह पीलीभीत की तरह शांत है.

सवाल : 2019 की अपेक्षा इस बार कितने मार्जिन से जीतने की संभावना है?

जवाब : इस चीज पर मेरा विश्वास नहीं है. जीत, जीत होती है. अगर मौसम ठीक रहा तो लोग ज्यादा निकलते हैं. खराब रहा तो कम.

सवाल : पहले और दूसरे चरण में चुनाव का प्रतिशत घटने के बारे में क्या कहना है?

जवाब : आमतौर पर हर चुनाव में मतदान प्रतिशत 60 से 70 फीसदी के बीच रहता है. यह चुनाव भी अलग नहीं है. कुछ जगह यह 48-50 प्रतिशत मतदान हुआ है, यह आमतौर पर शहरों में हुआ है; क्योंकि लोग यहां बाहर आना ही नहीं चाहते.

सवाल : अभी तक कितना प्रचार हो चुका है?

जवाब : 35 दिन में 500 से ज्यादा गांवों में जाकर लोगों से सीधा संवाद कर चुकी हूं. हम विकास व सुशासन के मुद्दे पर चुनाव मैदान में हैं.

सवाल : सुल्तानपुर में काम करने की रणनीति कैसे है, कितने काम हुए?

जवाब : यहां बहुत सारे काम हो चुके हैं. जो शेष हैं, इस बार पूरे होंगे. 60 कामों की लिस्ट मैंने बनाई थी. उन्हें अधिकारियों को दिया था. उनमें से कुछ काम घटते बढ़ते हैं. अलग अलग विभागों में हम संपर्क करते हैं और फिर उस पर काम होता है. इनमें सड़क चौड़ीकरण से लेकर नई सड़क बनाने तक के काम शामिल हैं.

यह भी पढ़ें : गांव नहीं स्मार्ट सिटी का है ऐसा हाल! जलावर्धन व अमृत योजना पर बहा दिए ₹150 करोड़, फिर भी टैंकर भरोसे

यह भी पढ़ें : यहीं श्री कृष्ण को सुदर्शन चक्र मिला... जानापाव में CM ने कहा- आचार संहिता के बाद ये बड़ा काम होगा

यह भी पढ़ें : सावधान! कहीं आपका दूधवाला शराब की डिलीवरी तो नहीं करता? पुलिस के बिछाए जाल में फंसा 'मिल्क मैन'

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Indian Railways: क्या है कवच, जिसकी बंगाल रेल हादसे के बाद एक बार फिर से हो रही है चर्चा
अगर जरूरत पड़ेगी तो देखेंगे... गांधी परिवार की बहू ने बेटे वरुण गांधी, BJP, सुल्तानपुर के बारे क्या कहा? जानिए
NEET 2024 Answer Key Release Date Stay Updated Here
Next Article
कब जारी होगी NEET 2024 की Answer Key ? जानें यहां
Close
;