विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 10, 2023

Pratappur Assembly Seat: भाजपा की शकुंतला सिंह पोर्ते ने जमाया कब्ज़ा, इन वजहों से कांग्रेस ने गंवाई सीट

प्रतापपुर विधानसभा में इस बार दोनों ही राष्ट्रीय पार्टियों ने नए नवेले चेहरों पर दांव लगाया था. जहां इस बार भाजपा की शकुंतला सिंह पोर्ते और कांग्रेस की राजकुमारी मराबी के बीच यहां सीधा मुकाबला था.

Pratappur Assembly Seat: भाजपा की शकुंतला सिंह पोर्ते ने जमाया कब्ज़ा, इन वजहों से कांग्रेस ने गंवाई सीट

Pratappur Assembly Sea Result: अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित सूरजपुर की प्रतापपुर विधानसभा सीट, जिसे परिसीमन के बाद साल 1985 में प्रतापपुर नाम दिया गया. प्रतापपुर के लिए माना जाता है कि विधानसभा चुनाव में शायद ही कभी ऐसा हुआ हो कि किसी पार्टी ने दूसरी बार या यूं कहें कि लगातार जीत दर्ज की हो. कांग्रेस के प्रेमसाय सिंह ने मात्र एक बार यह कारनामा किया था. इस विधानसभा का आधा हिस्सा सूरजपुर और आधा हिस्सा बलरामपुर में आता है. जहां इसकी सीमा उत्तर प्रदेश से लगती है. 

ऐसा रहा प्रतापपुर विधानसभा का रिजल्ट

3 दिसंबर को हुई मतगणना के बाद प्रतापपुर विधानसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी की शकुंतला सिंह पोर्ते ने इंडियन नेशनल कांग्रेस की राजकुमारी मराबी को तकरीबन 11708 वोटों से मात दी. इस चुनाव में शकुंतला सिंह पोर्ते को कुल 83796 वोट मिले. वहीं, राजकुमारी मराबी को 72088 वोट प्राप्त हुए थे. 

नए चेहरों पर दांव

दरअसल, प्रतापपुर विधानसभा में इस बार दोनों ही राष्ट्रीय पार्टियों ने नए नवेले चेहरों पर दांव लगाया था. जहां इस बार भाजपा की शकुंतला सिंह पोर्ते और कांग्रेस की राजकुमारी मराबी के बीच यहां सीधा मुकाबला था. जहां सकुंतला पोर्ते एडवोकेट ओर तेजतर्रार छवि वाली महिला हैं. वहीं, कांग्रेस से जिला पंचायत अध्यक्ष राजकुमारी बेहद सीधी, सरल  और घरेलू प्रवृत्ति की महिला हैं.

ये रहे हार जीत के समीकरण

प्रतापपुर से कांग्रेस सिटिंग विधायक प्रेमसाय सिंह 1980 से लेकर अब तक पांच बार यहां से विधायक चुने गए हैं. इस बार सिटिंग विधायक का टिकट कटने की अटकलों के बीच दर्जनों दावेदार प्रतापपुर से दावेदारी कर रहे थे. लेकिन, कांग्रेस ने जिला पंचायत की अध्यक्ष को टिकट देकर सबको चौका दिया, जिससे नाराज़ हुए अन्य दावेदारों को मना पाने में पार्टी नाकाम रही. वहीं, चुनाव का संचालन कर रहे कांग्रेस प्रत्याशी के पति शिव भजन सिंह मराबी में अति आत्मविश्वास के कारण लोगों को इग्नोर करना भी भारी पड़ गया. वहीं, पंचायतों में हुए भ्रष्टाचार को लेकर भी ग्रामीणों में आक्रोश था. राजस्व विभाग से संबंधित मामलों को लेकर भी नाराजगी देखी गई. वहीं, भाजपा की ओर से किए गए आक्रामक प्रचार और महतारी वंदना योजना के भराए गए फॉर्म का हार जीत में खासा असर देखने को मिला.

ये भी पढ़ें- CG News: सुकमा में 5 महिला नक्सली समेत 20 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण, सरकार करेगी मदद

विधानसभा 2018 के दौरान ऐसा था नतीजा

हालांकि, वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में प्रतापपुर विधानसभा से कांग्रेस के डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जीत दर्ज की थी. जहां भाजपा के रामसेवक पैकरा को दूसरे नंबर पर संतोष करना पड़ा था. वहीं, कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी को जहां चुनाव में 90148 वोट प्राप्त हुए थे. वहीं, भाजपा के पैकरा को 46043 मत मिले थे. 

ये भी पढ़ें- CG News: कोंडागांव में जब्त की गई 8 टन थाई मांगुर मछली, जानें कानूनी प्रक्रिया के बाद क्यों किया गया नष्ट

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NDTV Exclusive: डिप्टी CM विजय शर्मा ने आंकड़े पेश कर किया बड़ा दावा, बोले- भूपेश सरकार...
Pratappur Assembly Seat: भाजपा की शकुंतला सिंह पोर्ते ने जमाया कब्ज़ा, इन वजहों से कांग्रेस ने गंवाई सीट
Jashpur CM Vishnu Deo Sai children get vocational education along with school education there will also be two board exams
Next Article
Chhattisgarh: बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ मिलेगी व्यावसायिक शिक्षा भी, दो बोर्ड Exam भी होंगे, जानें CM साय ने और क्या कहा? 
Close
;