विज्ञापन
Story ProgressBack

CG News: अवैध रूप से संचालित किए जा रहे 35 ईंट भट्टे, चोरी के कोयले से बन रही ईंटें

Illegal Brick Kilns: एमसीबी जिले में अवैध रूप से 35 ईंट भट्टे संचालित किए जा रहे हैं. इसपर संज्ञान लेने वाला भी कोई नहीं है.

Read Time: 3 mins
CG News: अवैध रूप से संचालित किए जा रहे 35 ईंट भट्टे, चोरी के कोयले से बन रही ईंटें
अवैध ईंट भट्टा

MCB News: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के चिरमिरी (Chirmiri) जिले के बड़ा बाजार के इंद्रा नगर में एसईसीएल (SECL) की 10 एकड़ लीज भूमि पर 2 दशक से अवैध ईंट भट्ठे (Brick kilns) का उद्योग संचालित किया जा रहा है. इसके ठीक सामने एसईसीएल चिरमिरी क्षेत्र का ओपन कास्ट कोयला खदान है, जहां से रोज रात कोयला चोरी किया जाता है, जिसे ईंट पकाने में उपयोग किया जाता है. बावजूद इसके, खनिज विभाग से लेकर स्थानीय प्रशासन आज तक इसपर कार्रवाई नहीं कर सका है. 

रोजाना बनती हैं 5-6 ट्रक ईंटें

अवैध लाल ईंट भट्टे से हर दिन 5 से 6 ट्रक ईंट चिरमिरी समेत आसपास के ग्रामीण इलाकों में भिजवाई जाती है. ईंट लेकर ट्रक चिरमिरी के मुख्य मार्गों से गुजरती हैं. इनपर कोई कार्रवाई नहीं होती है. खास बात तो यह है कि ईंट भट्ठा संचालक इसके लिए खनिज विभाग में रॉयल्टी तक नहीं दे रहे हैं. चोरी की बिजली, चोरी का कोयला और मुफ्त की जमीन पर संचालक अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं. चिरमिरी में विभागीय अधिकारी छोटे ईंट भट्ठों पर तो कार्रवाई करते हैं, लेकिन इंद्रा नगर के ईंट भट्ठों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है. 

अवैध रूप से बनाई जा रही ईंट

अवैध रूप से बनाई जा रही ईंट

एसडीएम और तहसील कार्यालय के पीछे हो रहा खेल 

ओसीपी चिरमिरी और इंद्रा नगर बड़ा बाजार से चिरमिरी थाना की दूरी एक किमी है, जबकि एसडीएम और तहसील कार्यालय 500 मीटर की दूरी पर ही हैं. एसईसीएल के अधिकारी और यूनियन नेताओं का आना-जाना इसी सड़क से होता है, लेकिन मामले में कार्रवाई नहीं होती है. दूसरी ओर, खनिज विभाग के अनुसार जिले में 6 लोगों को लाल चिमनी ईंट बनाने की अनुमति दी गई है. जबकि इस क्षेत्र में कुल 35 भट्टे संचालित हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें :- Exit Poll के सामने आते ही छिंदवाड़ा को लेकर डर गए कमलनाथ? बोले- 'भाजपा झूठा प्रोपेगंडा....'

चोरी की बिजली और पानी का हो रहा उपयोग

चिरमिरी ओसीपी से हर महीने में 15 टन से अधिक चोरी का कोयला इंद्रा नगर में संचालित अवैध ईंट भट्टों में ईंट पकाने के लिए उपयोग किया जाता है. यहां पर्यावरण विभाग, खनिज विभाग समेत राजस्व विभाग की नजर नहीं पड़ती है. यहां रॉयल्टी क्लीयरेंस का भी मामला नहीं आता, जबकि अवैध तरीके से मिट्‌टी, कोयला, चोरी की बिजली और पानी का उपयोग किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें :- Vande Bharat Express: मात्र इतने रुपये में कर सकते हैं वंदे भारत के जरिए भोपाल से दिल्ली का सफर, यहां जानें पूरी जानकारी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Illegal Liquor: शराब के हैं शौकीन तो हो जाएं सावधान, यहां बिक रही हैं ब्रांडेड के नाम पर नक्ली शराब
CG News: अवैध रूप से संचालित किए जा रहे 35 ईंट भट्टे, चोरी के कोयले से बन रही ईंटें
Bus full of devotees overturns on Agra-Lucknow Expressway 40 injured 3 Death
Next Article
Chhattisgarh: श्रद्धालुओं से भरी बस आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर पलटी; 3 की मौत, 40 घायल
Close
;