विज्ञापन
Story ProgressBack

सराहनीय पहल: तपती धूप में पर्यावरण बचाने के लिए करते है संघर्ष, पौधों को सूखने से हैं बचाते

MP News: विदिशा में एक ऐसा भी व्यक्ति है जो तपती गर्मी में खुद संघर्ष करके पेड़-पौधों की जान बचात है... पर्यावरण बचाने वाले इस सख्स की बहुत खास है कहानी..

Read Time: 3 mins
सराहनीय पहल: तपती धूप में पर्यावरण बचाने के लिए करते है संघर्ष, पौधों को सूखने से हैं बचाते
पर्यावरण को लेकर बहुत सजग है विदिशा के असीम शर्मा

Vidisha Viral Man: देश भर में अक्सर समाज सेवा (Social Service) के कई किस्से देखें और सुने जाते हैं. लोग अपना पूरा जीवन दूसरे के लिए समर्पित कर देते हैं. लेकिन, आज हम आपको बताने जा रहे है विदिशा (Vidisha) जिले से ऐसी ही एक कहानी के बारे में, जो तपती धूप में पर्यावरण बचाने (Save Environment) को लेकर संघर्ष करता दिखाई देता है. मकसद है शहर में लगे छोटे पौधे गर्मियों में सुख न जाए, इसलिए उनमें नियमित रूप से पानी डालते रहना.. असीम शर्मा (Asim Sharma) खुद तेज धूप में अपनी मॉडिफाइड बाइक (Modified Bike) पर घुम-घुमकर सड़क किनारे लगे पेड़-पौधों में पानी डालते नजर आते है. वह अपना सारा दर्द और कष्ट भूलकर पर्यावरण की रक्षा के लिए पूरे दिन लगे रहते है.

पर्यावरण रक्षा के लिए है सजग

इतनी भीषण गर्मी की तपती दोपहर में जब आसमान से आग बरस रही है और पारा लगभग 43 डिग्री तक पहुंच गया है, उस समय असीम शर्मा आने वाली पीढ़ियों को शुद्ध और ठंडी हवा मिल सके इसके लिए अपने लगाए पेड़ों में लगातार पानी दे रहे है. इन्हें ऐसा करते देख लोग हैरत में पड़ जाते है क्योंकि इन्होंने अपनी बुलेट मोटर साइकल को पानी के टैंकर में बदल दिया है.

तेज धूप में पौधों को पानी देते असीम

तेज धूप में पौधों को पानी देते असीम

उन्होंने अपनी बुलेट को तिपहिया करवाकर उसमें 300 लीटर की टंकी फिट करवा ली है. साथ ही उन्होंने टंकी के आसपास 50-50 लीटर के बड़े-बड़े कंटेनर में पानी भरकर रख लिए है. दोपहर 3 बजे के आसपास यह पौधों में पानी देने निकल पड़ते है. सड़क पर लगे पेड़-पौधों और सूख रहे पेड़ों में भी यह पानी देते है.

ये भी पढ़ें :- वजन का खेल: राशन दुकानों में तय वजन से कम पहुंच रहा चावल, अधिकारियों के कान पर जू तक नहीं रेंग रही

सड़क बनने के उपलक्ष में लगाए थे पेड़

प्रशासन सड़क बनाने के लिए पेड़ काटकर भुल गई. तब असीम ने नव निर्मित सड़क के दोनों तरफ पेड़ लगाए और आज तेज धुप में भी उनमें पानी देते है. इनका दावा है कि इन्होंने शो पीस पेड़ों की बजाय पर्यावरण को शुद्ध करने वाले पेड़ लगाए है. इनका कहना है कि बजाय प्रशासन को दोष देने के हमें भी अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए .

ये भी पढ़ें :-  Indore: चाय बना रही थी 16 साल की नाबालिग, तभी गैस सिलेंडर में लग गई आग, घर के सभी लोग झुलसे

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP News: महिला डॉक्टर ने लगाया सिविल सर्जन पर मानसिक प्रताड़ना के आरोप, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश
सराहनीय पहल: तपती धूप में पर्यावरण बचाने के लिए करते है संघर्ष, पौधों को सूखने से हैं बचाते
MPSC Result 2021 Gwalior Pawan Ghuriya passed PAC exam in first attempt became Deputy Collector
Next Article
MPPSC के 1st Attempt में पवन बने डिप्टी कलेक्टर, गरीब बच्चों पर कही बड़ी बात 
Close
;