विज्ञापन
Story ProgressBack

स्टेट बार काउंसिल में हंगामा, चेयरमेन भदौरिया के खिलाफ भड़के सदस्यों ने कर दिया अविश्वास प्रस्ताव पेश, जानें क्या है पूरा मामला  

MP News: मध्य प्रदेश के एक लाख से अधिक वकीलों की सर्वोच्च संस्था एमपी स्टेट बार काउंसिल के चेयरमेन प्रेम सिंह भदौरिया के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया है. जानते हैं क्या है पूरा मामला...

Read Time: 2 mins
स्टेट बार काउंसिल में हंगामा, चेयरमेन भदौरिया के खिलाफ भड़के सदस्यों ने कर दिया अविश्वास प्रस्ताव पेश, जानें क्या है पूरा मामला  

Madhya Pradesh News : मध्य प्रदेश के स्टेट बार काउंसिल (Madhya Pradesh State Bar Council) के चेयरमैन प्रेम सिंह भदौरिया के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव (No confidence Motion) पेश किया गया है. शनिवार को मीटिंग हॉल में ताला जड़ा हुआ था. सामान्य सभा की बैठक के यहां यहां जमकर हंगामा हुआ. फिर वकीलों ने भदौरिया के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया कर दिया. इसके बाद अब माना जा रहा है कि इस प्रस्ताव में भदौरिया का पद छिन सकता है. 

ये है पूरा मामला 

दरअसल शनिवार को  स्टेट बार काउंसिल के सदस्यों ने सामान्य सभा की बैठक रखी थी. जब सभी सदस्य मीटिंग हॉल पहुंचे तो वहां लगे टाला को देख सभी भड़क गए और जमकर हंगामा किया.  स्टेट बार प्रवक्ता राधेलाल गुप्ता व वाइस चेयरमैन आरके सिंह सैनी ने बताया कि सदस्यों के भारी विरोध के बाद ताला खुलवाया गया। इसी के साथ सामान्य सभा की बैठक शुरू हुई.  इस दौरान वर्तमान चेयरमैन भदौरिया से असंतुष्ट 25 में 19 सदस्यों से हस्ताक्षरित पत्र सौंप दिया. नियमानुसार अब स्टेट बार सचिव को अब 21 कार्यदिवसों के भीतर अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा व मतदान के लिए बैठक आहूत करनी होगी. 

ये भी पढ़ें RR Vs KKR: राजस्थान और कोलकाता के बीच आज होगी भिड़ंत, जानें मैच प्रेडिक्शन, पिच रिपोर्ट और प्लेइंग इलेवन

वाइस चेयरमेन के हस्तक्षेप से निपटा विवाद  

स्टेट बार के वाइस चेयरमैन आरके सिंह सैनी ने बताया कि पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत सभी सदस्य सुबह स्टेट बार भवन पहुंच गए थे. लेकिन वे यह देखकर आक्रोशित हो गए कि बैठक कक्ष में ताला लगा हुआ है. पूछताछ पर पता चला कि यह सब चेयरमैन भदौरिया के निर्देश पर किया गया है. यह सुनते ही सदस्य हंगामा करने लगे। इस बीच हस्तक्षेप कर ताला खुलवाया गया. जिसके साथ ही सामान्य सभा की बैठक प्रारंभ हो गई और सदस्यों का गुस्सा शांत हो गया. हालांकि जिस भय के चलते चेयरमैन भदौरिया ने तालाबंदी करवाई थी, उसके अनुरूप उनके खिलाफ बहुमत के आधार पर अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत कर दिया गया.  

ये भी पढ़ें "रेप की झूठी FIR दर्ज कराना और धमकी देना भी सुसाइड के लिए उकसाना", जानें MP हाईकोर्ट ने क्यों सुनाया ये फैसला ? 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Katni: जल संरक्षण के लिए अदाणी फाउंडेशन द्वारा तालाबों का किया जा रहा जीर्णोद्धार, 800 किसानों को होगा फायदा
स्टेट बार काउंसिल में हंगामा, चेयरमेन भदौरिया के खिलाफ भड़के सदस्यों ने कर दिया अविश्वास प्रस्ताव पेश, जानें क्या है पूरा मामला  
Crossing all limits of cruelty, killed mother-in-law by attacking her 100 times with a sickle, 30 years later the court awarded death sentence to daughter-in-law
Next Article
Rarest Murder: क्रूरता की सारी हदें की पार, सास को दरांती से 100 बार हमलाकर की हत्या, 30 साल बाद कोर्ट ने बहू को सुनाई फांसी की सजा
Close
;