विज्ञापन
Story ProgressBack

MPPSC: 1.83 लाख उम्मीदवारों के लिए सिर्फ 110 पद, बेरोजगार युवा नाराज, जानिए कहां फंसा है मामला

MPPSC Exam: 30 वर्षीय आकाशदीप अपने परिवार से दूर रहकर पिछले छह साल से राज्य सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कड़े मुकाबले वाली राज्य सेवा परीक्षा के जरिये होने वाली भर्ती के लिए महज 110 पद बेहद नाकाफी हैं. इसमें कम से कम 500 पद तो होने ही चाहिए थे.

Read Time: 4 mins
MPPSC: 1.83 लाख उम्मीदवारों के लिए सिर्फ 110 पद, बेरोजगार युवा नाराज, जानिए कहां फंसा है मामला

MPPSC News: मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (Madhya Pradesh Public Service Commission) यानी कि एमपीपीएससी (MPPSC) द्वारा आयोजित की जाने वाली राज्य सेवा परीक्षा (State Service Exam) के जरिये होने वाली भर्ती (Recruitment) के घटते पदों को लेकर बेरोजगार युवाओं (Unemployed Youth) ने नाराजगी प्रकट की है. बेरोजगार युवाओं की डिमांड है कि प्रदेश में बड़ी तादाद में खाली पड़े प्रशासनिक पदों के मद्देनजर इस भर्ती के पदों की तादाद को बढ़ाकर कम से कम 500 किया जाना चाहिए जो पिछले पांच सालों में सबसे बड़ी गिरावट के साथ इस बार महज 110 पर सिमट गई है.

अधिकारियों का क्या कहना है?

अधिकारियों ने बताया कि 2019 की राज्य सेवा परीक्षा 571 पदों, 2020 की राज्य सेवा परीक्षा 260 पदों, 2021 की राज्य सेवा परीक्षा 290 पदों, 2022 की राज्य सेवा परीक्षा 457 पदों और 2023 की राज्य सेवा परीक्षा 229 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित की गई थी. उन्होंने बताया कि 2024 की राज्य सेवा परीक्षा कुल 110 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित है जिसके तहत 23 जून को होने वाली प्रारंभिक परीक्षा में 1.83 लाख उम्मीदवार शामिल होंगे. इनमें उप जिलाधिकारी Deputy Collector (डिप्टी कलेक्टर) के 15 पद और पुलिस उपाधीक्षक DSP (डीएसपी) के 22 पद शामिल हैं.

इंदौर का भोलाराम उस्ताद मार्ग क्षेत्र सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों का बड़ा केंद्र है जहां कई कोचिंग संस्थान और छात्रावास संचालित होते हैं. इस क्षेत्र में 30 वर्षीय आकाशदीप अपने परिवार से दूर रहकर पिछले छह साल से राज्य सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. उन्होंने बुधवार को पीटीआई-भाषा'' से कहा, ‘‘कड़े मुकाबले वाली राज्य सेवा परीक्षा के जरिये होने वाली भर्ती के लिए महज 110 पद बेहद नाकाफी हैं. इसमें कम से कम 500 पद तो होने ही चाहिए थे.

राज्य सेवा परीक्षा के उम्मीदवारों के अगुवा आकाश पाठक ने कहा कि हमारी मांग पर एमपीपीएससी ने हमें लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) से पहले भरोसा दिलाया था कि वह राज्य सरकार के अलग-अलग विभागों को पत्र लिखकर सिविल सेवा परीक्षा के तहत भर्ती के पदों की तादाद बढ़ाने की कोशिश करेगा, लेकिन यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारी मांग अब तक पूरी नहीं की गई है.

पाठक ने दावा किया कि राज्य में दो से तीन लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं जिनमें डिप्टी कलेक्टर और डीएसपी के उच्च प्रशासनिक पद भी शामिल हैं.

एमपीपीएससी के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी (OSD) रवींद्र पंचभाई ने कहा कि सरकारी विभाग हमसे जितने पदों पर भर्ती के लिए कहते हैं, हम उतने पदों के लिए राज्य सेवा परीक्षा का विज्ञापन जारी करते हैं. उन्होंने हालांकि कहा कि विज्ञापन जारी होने के बाद भी अगर सरकारी विभाग एमपीपीएससी से कुछ और पदों पर भर्ती की मांग करते हैं, तो राज्य सेवा परीक्षा के प्रारंभिक दौर का परिणाम आने से पहले तक इन अतिरिक्त पदों को नियमों के मुताबिक भर्ती प्रक्रिया में शामिल किया जा सकता है.

OBC आरक्षण का पेंच फंसा हुआ है

राज्य सेवा परीक्षा के जरिये होने वाली भर्ती में अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) आरक्षण के मसले के कारण लम्बे समय से बड़ा कानूनी पेंच फंसा हुआ है. इसके कारण जितने पदों के विज्ञापन के साथ राज्य सेवा परीक्षा आयोजित की जाती है, उतने पदों पर भर्तियां नहीं हो पा रही हैं.

राज्य सेवा परीक्षा के उम्मीदवारों की तरफ से आकाश पाठक ने कहा कि सरकारी नौकरियों में ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने का मुकदमा मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय (MP High Court) में लम्बित होने का हवाला देते हुए एमपीपीएससी कुल विज्ञापित पदों में से केवल 87 प्रतिशत ओहदों पर भर्ती कर रहा है और बाकी 13 प्रतिशत पदों पर नियुक्तियां अटकी हुई हैं.

प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के प्रवक्ता मृणाल पंत ने प्रदेश की भाजपा सरकार को घेरते हुए कहा कि सूबे में राजपत्रित अधिकारियों के हजारों पद खाली पड़े हैं. ऐसे में केवल 110 पदों के लिए राज्य सेवा परीक्षा आयोजित करना उन बेरोजगार नौजवानों के साथ धोखाधड़ी है जो पिछले कई सालों से इसकी तैयारी में जुटे हैं.

यह भी पढ़ें : MPPSC Results: एमपी पीएससी राज्य सेवा परीक्षा 2021 का रिजल्ट जारी, टॉप 10 में सात बेटियां, अंकिता पाटकर बनीं टॉपर

यह भी पढ़ें : DAP-NPK के लिए लाइन है लंबी... किसान परेशान, मानसून में बुआई के लिए नहीं मिल रही पर्याप्त खाद

यह भी पढ़ें : MPPSC Mains 2022 Result घोषित, इतने स्टूडेंट्स का हुआ इंटरव्यू के लिए चयन, यहां देखें अपना रोल नंबर

यह भी पढ़ें : MPPSC Result: 11th Fail हैट्रिक लगाकर बनी डिप्टी कलेक्टर, किसान की बेटी ने बढ़ाया मान, जानिए सक्सेस प्लान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
3 साल से विकास की बाट जोह रहा पीतलमील का अंडर ब्रिज, रेलवे ट्रैक पार करने में हर महीने 3-4 लोग गंवा रहे जान
MPPSC: 1.83 लाख उम्मीदवारों के लिए सिर्फ 110 पद, बेरोजगार युवा नाराज, जानिए कहां फंसा है मामला
Assembly By-Polls Nirmala Bhuria claims victory says BJP will win Amarwada by-election with huge votes
Next Article
निर्मला भूरिया का अमरवाड़ा जीत का दावा, बोलीं- 'अमरवाड़ा उपचुनाव भारी मतों से जीतेगी बीजेपी'
Close
;