विज्ञापन
Story ProgressBack

Loksabha Election : गजब है सतना की जिला निर्वाचन शाखा !  ये कारनामा जान आप भी हो जाएंगे हैरान  

Loksabha Election 2024:  सतना में रिटायरमेंट की कगार पर खड़े कर्मचारियों को पोलिंग अफसर की ट्रेनिंग दिलाई गई. कैंसर पीड़ितों से भी चुनावी ड्यूटी कराने की तैयारी की जा रही है. 

Read Time: 3 min
Loksabha Election : गजब है सतना की जिला निर्वाचन शाखा !  ये कारनामा जान आप भी हो जाएंगे हैरान  

Loksabha Election Satna Seat : मध्य प्रदेश के सतना में Loksabha Election 2024 की तैयारियों में जुटे जिला निर्वाचन कार्यालय ने अजब-गजब कारनामा कर डाला. अफसरों की अनदेखी के कारण ऐसे कर्मचारियों को भी पोलिंग अफसरों की ट्रेनिंग दिलाई जा रही है जो रिटायरमेंट की कगार पर हैं. यही नहीं गंभीर रोगों से जकड़े कर्मचारियों को भी चुनावी प्रशिक्षण देकर उन्हें पोलिंग ऑफिसर के तौर पर तैनात करने की तैयारी चल रही है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या रिटायर्ड कर्मचारियों की चुनाव में ड्यूटी लगाई जाएगी? 

ट्रेनिंग का काम शुरु 

बता दें कि सतना लोकसभा सीट (Satna Loksabha Seat) के लिए मतदान दूसरे चरण यानी 26 अप्रैल को होगा.  इसके बाद भी 31 मार्च को रिटायर हो रहे कर्मचारियों को प्रशिक्षण में शामिल होने के आदेश जिला निर्वाचन कार्यालय के द्वारा जारी कर दिए गए. फिलहाल कर्मचारियों के प्रशिक्षण का काम शुरू हो चुका है. 

केस-1 शकुंतला सिंह कन्या विद्यालय मैहर में उच्च माध्यमिक शिक्षक के तौर पर पदस्थ हैं. इनका रिटायरमेंट 31 मार्च 2024 को है. इसके बाद भी जिला निर्वाचन कार्यालय सतना के द्वारा पोलिंग अफसर के तौर पर ट्रेनिंग प्राप्त करने का आदेश जारी कर दिया गया. इनकी ट्रेनिंग 27 मार्च को शासकीय महाविद्यालय मैहर में आयोजित की गई. जहां पर मास्टर ट्रेनर के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया. इसी प्रकार से सहायक शिक्षक सुनील अग्रवाल और लेक्चरर राधा अग्रवाल का भी रिटायरमेंट 31 मार्च को है. इसके बाद भी उनको ट्रेनिंग में शामिल होने का आदेश दिया गया . 

केस-2 घूरडांग संकुल के घूरडांग विद्यालय में उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर पदस्थ शीतल बाजपेई गंभीर कैंसर रोग से पीडि़त हैं. इनको भी पोलिंग आफीसर क्रमांक-1 के तौर पर ट्रेनिंग दिलाने के लिए प्रशिक्षण केन्द्र व्यंकट क्रमांक 2 में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए. इसी प्रकार से मैहर कन्या विद्यालय में पदस्थ माध्यमिक शिक्षक उमा सिंह भी कैंसर पीडि़त हैं. इन्हें भी मैहर महाविद्यालय में ट्रेनिंग के लिए उपस्थित होने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें RR vs DC Preview: राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल्स की जयपुर में भिड़ंत, ये खिलाड़ी चला तो कर देगा टीम की नैया पार...

जानें क्या है नियम

कर्मचारियों की चुनावी ड्यूटी के संबंध में निर्वाचन आयोग (Election Commission) के द्वारा समय-समय पर दिशा निर्देश जारी होते रहते हैं. जिसमें साफ किया गया है कि जिन कर्मचारियों के रिटायरमेंट की अवधि मतदान तिथि से छह माह कम है उनकी ड्यूटी चुनाव कार्य में नहीं लगाई जाए. लेकिन इसके बाद भी दर्जनों की संख्या में कर्मचारियों को ट्रेनिंग दिलाई जा रही है जिनकी रिटायरमेंट की डेट से लगभग 26 दिन बाद सतना लोकसभा में मतदान होना है. यही नहीं गंभीर रोगियो को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें Congress Star Campaigners: कांग्रेस ने MP में जारी की स्टार प्रचारकों की सूची, खरगे-सोनिया-राहुल समेत ये 40 नाम शामिल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close