विज्ञापन
Story ProgressBack

Dhar Bhojshala Case: रिपोर्ट पेश करने के लिए ASI को मिला 15 दिनों का समय, जानें हाईकोर्ट ने क्या कहा ? 

Dhar Bhojshala ASI Survey: आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI ) के अधिवक्ता हिमांशु जोशी द्वारा सर्वे रिपोर्ट सौंपने के लिए मोहलत मांगी गई. युगलपीठ ने आगामी 15 जुलाई तक रिपोर्ट सुपुर्द करने के निर्देश दिए हैं.

Dhar Bhojshala Case: रिपोर्ट पेश करने के लिए ASI को मिला 15 दिनों का समय, जानें हाईकोर्ट ने क्या कहा ? 

Dhar Bhojshala and Kamal Maula Masjid Case: मध्य प्रदेश के इंदौर शहर की हाई कोर्ट खंडपीठ में धार भोजशाला और कमाल मौला मस्जिद विवाद को लेकर सुनवाई हुई. इसमें ASI द्वारा मांगी गई 15 दिन की मोहलत को हाईकोर्ट ने स्वीकार कर लिया.  हाईकोर्ट ने 15 जुलाई तक रिपोर्ट पेश करने के आदेश दे दिए, साथ ही सुनवाई की अगली तारीख 22 जुलाई तय कर दी है .इस विवाद में  हिंदू समाज के साथ-साथ जैन समाज द्वारा एक अलग से याचिका दायर कर धार भोजशाला कमाल मौला मस्जिद को जैन मंदिर बताने की याचिका पर भी हिंदू पक्ष के याचिकर्ता ने अपनी बात रखी.

मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ ने गुरुवार को  धार की विवादित धार्मिक स्थल भोजशाला मामले की सुनवाई की है. युगलपीठ के प्रशासनिक न्यायमूर्ति एसए धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति डीवी रमन्ना ने प्रकरण में लगी जनहित याचिकाओं के पक्षकारों की दलीलें सुनीं. युगलपीठ ने आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI ) के अधिवक्ता हिमांशु जोशी द्वारा सर्वे रिपोर्ट सौंपने के लिए मोहलत मांगे जाने पर आगामी 15 जुलाई तक रिपोर्ट सुपुर्द करने के निर्देश दिए हैं.

हिंदू समाज की ओर से याचिकाकर्ता आशीष गोयल ने बताया ASI की रिपोर्ट पर हिंदू समाज को पूरा भरोसा है और जैन समाज द्वारा जो नई याचिका लगाई गई है उसे धार  के जैन समाज से कोई लेना-देना नहीं है यह व्यक्ति विशेष की याचिका है.   

दिल्ली के वरिष्ठ वकील भी हुई सुनवाई में शामिल 

मौलाना कमालउद्दीन के अध्यक्ष समद खान की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सलमान खुर्शीद ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पक्ष रखा. खुर्शीद ने मांग की कि एएसआई द्वारा भोजशाला स्थल में की जा रही खुदाई और सर्वे कार्य को तत्काल रोका जाए. जिस पर ASI के अधिवक्ता जोशी ने कोर्ट को बताया कि चूंकि बारिश जारी है और इस दौरान सर्वे कार्य के लिए की गई खुदाई की मरम्मत किया जाना जरूरी है. यदि भोजशाला सर्वे स्थल को दोबारा दुरुस्त नहीं किया गया तो यहां बनी मजार को नुकसान हो सकता है. जिस पर न्यायालय ने सर्वे के लिए की गई खुदाई और अन्य कार्यों को पूरा करने के लिए अनुमति दे दी है.

ये भी पढ़ें MP budget 2024 : बजट पेश करने के बाद CM की बड़ी प्रतिक्रिया, बोले- वित्तीय इतिहास का सबसे बड़ा बजट है 

इस याचिका को अलग से सुने जाने की व्यवस्था

 युगल पीठ ने मामले की आगामी सुनवाई 22 जुलाई को निर्धारित की है. भोजशाला को लेकर विश्व जैन संगठन ने भी अपना अधिकार बताते हुए एक याचिका पृथक से दायर की है. जैन समाज की ओर से उपस्थित हुए अधिवक्ता ने उनकी याचिका को मुस्लिम पक्ष और हिन्दू पक्ष की याचिकाओं के साथ जोड़कर सुनवाई किए जाने की प्रार्थना की है. इस पर न्यायालय ने जैन समाज की याचना को अलग से सुने जाने की व्यवस्था दी है. इसका अर्थ है कि जैन समाज के पक्ष को न्यायालय जारी दोनों हिन्दू व मुस्लिम पक्ष की याचिकाओं के साथ नहीं सुनेगा. जैन समाज की याचिका को अब भविष्य में अलग से सुना जा सकता है. 

ये भी पढ़ें MP budget 2024: मोहन सरकार ने खोला सौगातों का पिटारा! जानिए इस बजट की 10 बड़ी घोषणाएं, किसे क्या मिला? 

ये भी पढ़ें NDTV की खबर का असर: सीहोर में अवैध खनन को लेकर एक्शन में सरकार, हटाए गए खनिज निरीक्षक

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बिना जानकारी दिए बहू की लाश को फूंक रहे थे ससुराल वाले, सूचना मिलते ही परिजन चिता से खींच लाए शव
Dhar Bhojshala Case: रिपोर्ट पेश करने के लिए ASI को मिला 15 दिनों का समय, जानें हाईकोर्ट ने क्या कहा ? 
Plea of ​​the poor farmer was heard recognition of this school was cancelled in the case related to NCERT book and private publication book
Next Article
MP News: सुन ली गई गरीब किसान की गुहार! NCERT Book से जुड़े मामले में इस स्कूल की मान्यता कर दी गई निरस्त
Close
;