विज्ञापन
Story ProgressBack

अजब MP में गजब कारनामें... इस मॉडल कालेज में 17 स्टूडेंट्स पर हर महीने खर्च होते हैं ₹5 लाख

Government Model College Vidisha: विदिशा जाफरखेड़ी पहाड़ी पर कॉलेज का विशाल भवन बनकर तैयार है. शासन-प्रशासन ने विदिशा की युवा पीढ़ी को शिक्षा क्षेत्र में बढ़ावा देने की बड़े-बड़े विज्ञापनों और घोषणाओं के साथ इसकी शुरुआत की थी. लेकिन सरकारी तंत्र की मेहनत पर तब पानी फिर गया जब मॉडल कालेज की शुरुआत के बाद एडमिशन को लेकर स्टूडेंट्स ने रुचि नहीं दिखाई. 

Read Time: 4 mins
अजब MP में गजब कारनामें... इस मॉडल कालेज में 17 स्टूडेंट्स पर हर महीने खर्च होते हैं ₹5 लाख

Vidisha News: नीति आयोग की रिपोर्ट्स (NITI Aayog Reports) में विदिशा (Vidisha) देश व मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के फिसड्डी जिलों में शुमार है. वहीं अपनी छवि सुधारने के लिए मध्य प्रदेश में 12 माॅडल काॅलेजों (Model College) की नींव रखी गई थी. इनमें विदिशा जिला मुख्यालय में भी एक मॉडल काॅलेज (Vidisha Model College) बनना था. समय-सीमा के अंदर काॅलेज का भव्य भवन बनकर तैयार भी किया गया. इसे बनाने में करोड़ों रुपए की राशि खर्च की गई, लेकिन दो साल में इस मॉडल कालेज में महज 17 विद्यार्थी ही शिक्षा हासिल करने आ पाए है. गजब की बात यह है कि इन 17 स्टूडेंट्स पर 6 लोगों का स्टाफ है, जिन पर सरकार हर महीने पांच लाख रुपए खर्च कर रही है.

खूब हुआ प्रचार, पर नहीं मिला अनुकूल परिणाम

सरकार की वाहवाही और जोर-शोर से किए गए प्रचार-प्रसार के बावजूद पहले साल मात्र 13 स्टूडेंट्स ने ही इस कालेज में  दाखिला (College Admission) लिया था.

विदिशा जाफरखेड़ी पहाड़ी पर कॉलेज का विशाल भवन बनकर तैयार है. शासन-प्रशासन ने विदिशा की युवा पीढ़ी को शिक्षा क्षेत्र में बढ़ावा देने की बड़े-बड़े विज्ञापनों और घोषणाओं के साथ इसकी शुरुआत की थी. लेकिन सरकारी तंत्र की मेहनत पर तब पानी फिर गया जब मॉडल कालेज की शुरुआत के बाद एडमिशन को लेकर स्टूडेंट्स ने रुचि नहीं दिखाई. 

स्टाफ पर हर माह पांच लाख रुपए खर्च करती है सरकार

जाफर खेड़ी मॉडल कालेज में छात्रों की अच्छी व गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने के लिए 6 लोगों का स्टाफ तैनात किया गया था. जिसमें 3 प्रधाध्यापक और सहायक प्रधानाध्यापक के अलावा 3 गेस्ट फैकल्टी टीचर हैं. इनका वेतन हर माह करीब पांच लाख रुपए निकलता है. सबसे हैरानी की बात तो यह है कि सरकार पांच लाख खर्च कर मात्र 17 छात्रों को पढ़ाने का काम कर रही है.

MP News: Government model college Vidisha

MP News: विदिशा का मॉडल कॉलेज
Photo Credit: नावेद खान

वजह :  शहर से दूर वीरान पहाड़ी पर कराया गया काॅलेज का निर्माण

प्रदेश भर में नीति आयोग की अनुशंसा पर कालेजों का निर्माण करना था. प्रशासन ने शहर से 12 से 13 किलोमीटर दूर जाफर खेड़ी की पहाड़ी पर मॉडल कालेज का निर्माण कराया, जो समझ से परे है. वहीं सरकारी सिस्टम की कार्यप्रणाली पर भी कई सवालियां निशान खड़े होते हैं. जब शहर भर में इस कॉलेज के लिए जगह पर्याप्त थी तो दूरदराज इलाके में काॅलेज का निर्माण करने का क्या औचित्य था? 

मॉडल ही बनकर रह गया यह कॉलेज

विदिशा जिले का पैरामीटर बढ़ाने के लिए नीति आयोग के अधिकारियों की अनुशंसा पर विदिशा जिले को कई सौगातें दी गई हैं, जिनमें ये कालेज भी शुमार था. इस कालेज में बीए (BA), बीकॉम (B Com) के अलावा कई कोर्स संचालित किए जाते हैं. यह जिले का एक मात्र मॉडल कालेज है. लेकिन यह मॉडल कालेज विदिशा में मॉडल ही बनकर रह गया.

यह भी पढ़ें : विदिशा में भावुक शिवराज ने कहा- PM मोदी के नेतृत्व में गांव बनाएंगे विकसित, राहुल मुंगेरी लाल के सपने...

यह भी पढ़ें : मैली हो रही बेतवा... आस्था की डुबकी पड़ेगी भारी, राजनीति तो खूब हुई पर नहीं निभाई किसी ने जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें : Vidisha Lok Sabha Seat Result 2024: फिर BJP फिर शिवराज... इस VIP सीट पर मिली कांग्रेस को करारी हार

यह भी पढ़ें : Shani Jayanti 2024: शनि जयंती पर शुभ मुहूर्त से लेकर कथा, आरती, चालीसा तक जानिए सब कुछ

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP में बदलेगी शिक्षा की तस्वीर, सीएम यादव ने इन जिलों में 55 'पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस' खोलने का किया ऐलान
अजब MP में गजब कारनामें... इस मॉडल कालेज में 17 स्टूडेंट्स पर हर महीने खर्च होते हैं ₹5 लाख
Desi Jugad: government did not supply water from dam, farmers of Dindori collected money built a canal for irrigation, now growing crops in large numbers
Next Article
Jugad: डिंडौरी के किसानों का कमाल, सरकार ने नहीं पहुंचाया पानी, तो खुद बना ली नहर, अब लहलहाने लगी फसलें
Close
;