विज्ञापन
Story ProgressBack

51 लाख रुपये के नोटों से सजा बुद्धेश्वर महादेव मंदिर, कोई गार्ड नहीं, फिर भी यहां चोरों के घुसने से भी कांपते हैं हाथ-पांव

Budheshwar Mahadev: उज्जैन से करीब 52 किमी दूर बड़नगर के प्रसिद्ध श्री बुद्धेश्वर महादेव मंदिर को महाशिवरात्रि मेले के दौरान सजाने की परंपरा है. लिहाजा, इस बार मंदिर का 51 लाख रुपए के नोटों की लड़ियां, हार और मुकुट से आकर्षक श्रृंगार किया गया है. इसमें एक से 500  रुपये तक के नोटों की गड्डियां शामिल हैं.

Read Time: 3 min
51 लाख रुपये के नोटों से सजा बुद्धेश्वर महादेव मंदिर, कोई गार्ड नहीं, फिर भी यहां चोरों के घुसने से भी कांपते हैं हाथ-पांव

Budheshwar Mahadev Mandir: रतलाम की महालक्ष्मी मंदिर (Maha Laxami Mandir) की तर्ज पर बड़नगर (Badnagar) का महादेव मंदिर (Mahadev mandir) को भी 51 लाख रुपए के नोटों से सजाया गया है. ये रुपये व्यापारी यहां भगवान भरोसे छोड़े हुए हैं, क्योंकि इस मंदिर में न तो किसी पुलिस की तैनाती है और न ही कोई सुरक्षाकर्मी ही तैनात है. यहां लोगों के बीच भोलेनाथ (Bholenath) का खौफ अस कदर है कि यहां घुसने से भी चोरों के हाथ-पांव कांपने लगते है.

उज्जैन से करीब 52 किमी दूर बड़नगर के प्रसिद्ध श्री बुद्धेश्वर महादेव मंदिर को महाशिवरात्रि मेले के दौरान सजाने की परंपरा है. लिहाजा, इस बार मंदिर का 51 लाख रुपए के नोटों की लड़ियां, हार और मुकुट से आकर्षक श्रृंगार किया गया है. इसमें एक से 500  रुपये तक के नोटों की गड्डियां शामिल हैं. ख़ास बात ये है कि मंदिर के शृंगार में लगाए गए लाखों रुपये भगवान भरोसे है. दरअसल, यहां कोई सुरक्षाकर्मी और पुलिस का पहरा नहीं है. बता दें कि लक्ष्मी पूजन पर रतलाम के महालक्ष्मी मंदिर में भी कुबेर के दर्शन के मौके पर करोड़ों रुपए का श्रृंगार किया जाता है.

फूल मुरझाने पर नोटों से श्रृंगार की हुई शुरुआत

बुद्धेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी पंडित महेश ने बताया कि पहले मंदिर को फूलों से सजाया जाता था, लेकिन चार वर्ष पहले मंदिर समिति ने फूलों के मुरझाने पर फैसला लिया कि अब मंदिर का श्रृंगार नोटों से किया जाएगा. तभी ये सिलसिला शुरू हो गया. 2021 में 7 लाख,  2022 में 11 लाख, 2023 में 21 और अब 2024 में 51 लाख रुपये के नोटों से भगवान का श्रृंगार किया गया है. 14 मार्च को मंदिर का नोटों से श्रृंगार किया गया, जो 23 मार्च तक रहेगा. इसके बाद लोगों को उनकी राशि लौटा दी जाएगी. हालांकि, हालत ये है कि लोग अब भी रुपये लेकर आ रहे हैं, लेकिन मना करना पड़ रहा है. पुजारी ने बताया कि अगले साल ज्यादा राशि रखने का प्रयास करेंगे, ताकि ज्यादा भक्तों को भगवान का आशीर्वाद मिल सके.

यह भी पढ़ें: Ujjain: महाकाल के रिसेप्शन की तैयारी शुरू, 19 मार्च को बाबा के दरबार में भव्य आयोजन
 

सात दिन फूलों से श्रृंगार के बाद किया जाता है नोटों से श्रृंगार 

दरअसल, महादेव मंदिर परिसर में पिछले 15 वर्षों से प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि पर मेला लगता है. इस बार भी 8 मार्च से मेला लगा और 14 तारीख तक फूलों का श्रृंगार किया गया. इसके बाद 14 से 23  तक नोटों का श्रृंगार रहेगा. पंडित शर्मा ने बताया कि महादेव मित्र मण्डली समिति के 25 से अधिक सदस्यों ने श्रृंगार के लिए दे  51 लाख रुपए दिए हैं. मंदिर 24 घंटे के लिए खुला रहेगा.

यह भी पढ़ें: क्या MP के पन्ना में दबा है कोई मंदिर? जांच में ASI ने किए चौंकाने वाले खुलासे 
 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close