विज्ञापन
Story ProgressBack

International Labor Day 2024: इस साल मजदूर दिवस थीम क्या है? कैसा है इसका इतिहास जानिए यहां

आज पूरा देश अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मना रहा है. हर साल इसकी अलग थीम होती है, इस बार अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस की थीम (International Labor Day theme) क्या है, इस दिन को मनाने की शुरुआत कैसे हुई और इस दिन के पीछे के इतिहास (International Labor Day history) के बारे में जानेंगे....

Read Time: 3 mins
International Labor Day 2024: इस साल मजदूर दिवस थीम क्या है? कैसा है इसका इतिहास जानिए यहां
International Labour Day 2024

International Labor Day: हर साल 01 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया जाता है. इस दिन को मई दिवस, कामगार दिवस, श्रम दिवस, श्रमिक दिवस नाम से भी जाना जाता है. दुनिया भर में इस दिन को मनाने के पीछे बेहद ख़ास उद्देश्य है. देश में श्रमिकों को उनके योगदान के लिए सराहना, मजदूरों का सम्मान करना और उनकी परिस्थिति और समस्याओं के प्रति जागरूक और संवेदनशील बनाने की कोशिश करना, आज पूरा देश अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मना रहा है. हर साल इसकी अलग थीम होती है, इस बार अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस की थीम (International Labor Day theme) क्या है, इस दिन को मनाने की शुरुआत कैसे हुई और इस दिन के पीछे के इतिहास (International Labor Day history) के बारे में जानेंगे...

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस का इतिहास

लगभग 135 साल पहले अमेरिका में श्रमिकों की हालत बेहद खराब हुआ करती थी और उन्हें दिन में लगभग 15 घंटे काम करना पड़ा था. साथ ही काम की जगह पर सफाई भी नहीं होती थी और मज़दूर बहुत बदतर परिस्थितियों में काम करते थे, ऐसे में उन्होंने हड़ताल करने का फ़ैसला लिया.

पुलिस ने चला दी थी गोलियां

1 मई 1886 को कई श्रमिक अमेरिका की सड़कों पर उतर गए, उनकी मांग थी कि काम के घंटों को 15 घंटे से घटाकर 8 घंटे किया जाए और काम की जगह में भी सुधार लाया जाए, जब पुलिस को लगा कि उनकी स्थिति क़ाबू से बाहर हो रही है उन्होंने गोलियां चला दी, जिसमें सौ से भी ज़्यादा मज़दूरों की जान चली गई, इसी दिन को याद करते 1989 को अंतरराष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन की दूसरी बैठक में 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने का प्रस्ताव दिया गया, इस दिन श्रमिकों को 8 घंटे से ज़्यादा काम न करवाने के फैसले को पारित किया गया.

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने का उद्देश्य

इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य देश के निर्माण श्रमिकों के योगदान को याद करना और उन्हें सम्मान देना है. इस दिन श्रमिकों के संघर्षों को याद किया जाता है और उनके काम की सराहना की जाती है, इस दिन को मनाने के पीछे एक और उद्देश्य जो है मज़दूरों के अधिकारों की रक्षा करना और उसके प्रति लोगों को जागरूक करना.

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस की थीम

हर साल अंतरराष्ट्रीय मजबूर  दिवस के लिए खास थीम चुनी जाती है, इस साल की थीम है- "ensuring workplace safety and health amidst climate change", यानी जलवायु परिवर्तन के बीच काम की जगह पर श्रमिकों के स्वास्थय और सुरक्षा को सुनिश्चित करना.

यह भी पढ़ें: Yoga Tips For Beginners: आप भी शुरू करने जा रहे हैं योगा, तो नजर डाल लें इन जरूरी बातों पर

Disclaimer: यहां पर बताई गई बातें आम जानकारियों पर आधारित है. यह किसी भी तरह से योग्य राय का विकल्प नहीं है. ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा किसी संबंधित विशेषज्ञ से परामर्श करें. NDTV इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
चेहरे को निखारने के साथ-साथ Vitamin E के और भी हैं फायदे, जानिए यहां
International Labor Day 2024: इस साल मजदूर दिवस थीम क्या है? कैसा है इसका इतिहास जानिए यहां
dehydration-in-summer-Water shortage should not become a big problem in summer, consumption of these things is very important
Next Article
Dehydration In Summer: गर्मियों में पानी की कमी न बन जाए बड़ी समस्या, इन चीजों का सेवन है बेहद जरूरी
Close
;