विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 08, 2023

डॉक्टरों ने किया कमाल! महिला के पेट से निकाला 15 किलो का ट्यूमर, मरीज खतरे से बाहर

41 वर्षीय महिला मूलरूप से आष्टा की रहने वाली है और बीते कुछ दिनों से पेट दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टरों के चक्कर काट रही थी. डॉ अतुल व्यास ने बताया कि प्राथमिक जांच के बाद डॉक्टरों ने पाया कि महिला के पेट में एक  बड़ा ओवोरियन ट्यूमर है.

डॉक्टरों ने किया कमाल! महिला के पेट से निकाला 15 किलो का ट्यूमर, मरीज खतरे से बाहर

इंडेक्स अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने बेहद कठिन ऑपरेशन को अंजाम देते हुए एक महिला के शरीर से 15.2 किलो का ट्यूमर निकाल दिया. महिला मूल रूप से आष्टा की रहने वाली है और बीते कुछ दिनों से पेट दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टरों के चक्कर काट रही थी. जब कई अस्पताल में सही इलाज नहीं मिला तो इंडेक्स अस्पताल में ऑपरेशन का फैसला किया.अस्पताल के डॉ. अतुल व्यास, डॉ गौरव सक्सेना, डॉ गौरव यादव,डॉ आशीष शर्मा, डॉ मीनल झाला की टीम ने 2 घंटे में ऑपरेशन किया.

41 वर्षीय महिला मूलरूप से आष्टा की रहने वाली है और बीते कुछ दिनों से पेट दर्द की शिकायत लेकर डॉक्टरों के चक्कर काट रही थी. डॉ अतुल व्यास ने बताया कि प्राथमिक जांच के बाद डॉक्टरों ने पाया कि महिला के पेट में एक  बड़ा ओवोरियन ट्यूमर है. उसका ट्यूमर बहुत बड़ा था और उसे खाना खाने के अलावा चलने में भी समस्या हो रही थी. इस ट्यूमर को डिम्बग्रंथि ट्यूमर  के रूप में जाना जाता है. इसके बाद इलाज की तैयारियां शुरू हुईं और महिला के पेट से सफलतापूर्वक ट्यूमर निकाला गया.ऑपरेशन इसलिए कठिन था क्योंकि महिला के पेट में ट्यूमर 15 किलो का था और जरा सी चूक से शरीर की कई नसों को नुकसान हो सकता था इसलिए ऑपरेशन में 2 घंटे का समय लगा.

महिला का कुल वजन 49 किलो है और शरीर में 15 किलो का ट्यूमर

अस्पताल के मुताबिक महिला का कुल वजन 49 किलो है और शरीर में 15 किलो का ट्यूमर था जिसकी वजह से उसका पेट काफी फूल गया था और महिला को चलने या बैठने तक में परेशानी हो रही थी..यदि समय रहते इस ट्यूमर को नहीं हटाया जाता तो इसके शरीर में फटने की संभावना बढ़ जाती और महिला की जान चली जाती. फिलहाल महिला खतरे से बाहर है. सर्जरी टीम में डॉ विधि देसाई, डॉ यश भारद्वाज, डॉ राज केसरवानी, डॉ होशियार सिकरवार, डॉ राहुल शर्मा,एनेस्थीसिया टीम में डॉ आनंद कुशवाह, डॉ प्रियंका ठाकुर, डॉ रूचि तिवारी, डॉ अपूर्वा सक्सेना, डॉ वैभव तिवारी टीम में शमिल रहे.

अस्पताल से मिला जीवनदान

परिजन मयूरी शर्मा ने बताया कि मरीज शीतल को इंदौर सहित आष्टा के कई अस्पताल में दिखाया था. इंडेक्स अस्पताल में डॉक्टर ने पेट में ओवोरियन ट्यूमर के बारे में बताया. इसके बाद डॉक्टर ने ऑपरेशन का निर्णय लिया. कई महीने से इस बीमारी के कारण मरीज परेशान थी. इंडेक्स समूह के चैयरमैन सुरेशसिंह भदौरिया व वाइस चेयरमैन मयंकराज सिंह भदौरिया, डायरेक्टर आर एस राणावत,एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव,इंडेक्स मेडिकल कॉलेज डीन डॉ.जीएस पटेल,हॉस्पिटल चिकित्सा अधीक्षक डॉ.स्वाति प्रशांत ने डॉक्टरों की टीम की सराहाना की.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET Result Exam Scam: सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, दोबारा नहीं होगी परीक्षा
डॉक्टरों ने किया कमाल! महिला के पेट से निकाला 15 किलो का ट्यूमर, मरीज खतरे से बाहर
Madhya Pradesh Highcourt reject the application of coppy candidate of Congress in Indore lok sabha Seat for Loksabha Election 2024
Next Article
MP News: इंदौर में कांग्रेस को लगा एक और झटका, हाईकोर्ट ने खारिज की ‘डमी’ उम्मीदवार की याचिका
Close
;