विज्ञापन
Story ProgressBack

Indian Railways: कब से शुरू होगा भारत की पहली Vande Metro का ट्रायल, जानें आखिर क्या हैं इसमें अन्य ट्रेनों से खास

Vande Metro Train: भारतीय रेलवे ने एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है. रेलवे ने इंट्रा-सिटी परिवहन प्रणाली को बदलने के लिए देश की पहली वंदे मेट्रो ट्रेन को लॉन्च कर किया है. आइए जानते हैं कि इसका परिचालन कब से शुरू होने वाला है और इसमें क्या खास बातें हैं..

Read Time: 3 mins
Indian Railways: कब से शुरू होगा भारत की पहली Vande Metro का ट्रायल, जानें आखिर क्या हैं इसमें अन्य ट्रेनों से खास
Vande Metro Trains

Vande Metro Trial: भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने पिछले एक साल में लगभग 150 से अधिक सेमी हाई स्पीड श्रेणी की वंदे भारत ट्रेनों (Vande Bharat Trains) का परिचालन शुरू किया. अब इसके बाद रेलवे ने वंदे मेट्रो सेवा (Vande Metro Services) की भी शुरुआत करने वाली है. 30 अप्रैल को रेलवे ने कम दूरी के बीच यात्रा सुगम बनाने के लिए इस खास मेट्रो सेवा के लिए पहली वंदे मेट्रो ट्रेन (Vande Metro Train) का अनावरण किया. बता दें कि यह खास मेट्रो सेवा की मदद से 250 किलोमीटर तक की दूरी तय करते हुए शहरी यात्रियों को आसान सेवा प्रदान करेगी. वंदे मेट्रो ट्रेनों के साथ यात्री 100 किलोमीटर से 250 किलोमीटर की दूरी तक शहर के भीतर यात्रा कर सकते हैं.

इस दिन शुरू होगा वंदे मेट्रो का ट्रायल (Vande Metro Trail Run Date)

सूत्रों की मानें तो वंदे मेट्रो ट्रेन का परीक्षण इसी साल जुलाई महीने में शुरू किया जा सकता है. इसके बाद इसके स्लीपर वैरिएंट का भी परीक्षण किया जाएगा. रेल मंत्रालय की योजना के अनुसार, देश भर के 124 शहरों को वंदे मेट्रो ट्रेन सेवा की मदद से आपस में जोड़ा जाएगा.

वंदे मेट्रो ट्रेन रूट (Vande Metro Train Route)

जानकारी के अनुसार, शुरुआत में वंदे मेट्रो ट्रेनों को चेन्नई-तिरुपति, भुवनेश्वर-बालासोर, आगरा-मथुरा, दिल्ली-रेवाड़ी और लखनऊ-कानपुर रूटों पर चलाया जाएगा. चेन्नई से अरक्कोणम रूट फाइनल होने  के बाद तमिलनाडु में कनेक्टिविटी का विस्तार होगा.

ये भी पढ़ें :- Indian Railways: रेल यात्रियों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, अब मात्र इतने रुपये में IRCTC उपलब्ध कराएगा भोजन

वंदे मेट्रो की खास बातें (Vande Metro Train Features)

वंदे मेट्रो ट्रेन की अगर खास विशेषताओं के बारे में बात करें तो इसे हाई टेक लोकल ट्रेन भी कहा जा सकता है. क्योंकि इसमें बैठने की व्यवस्था लोकल ट्रेन की ही तरह है, लेकिन यह पूरी तरह से एसी होगी. साथ ही इसमें लगे सीट अधिक आरामदायक होंगे. इसके साथ ही पूरे ट्रेन में सीसीटीवी कैमरा और कई जगहों पर चार्जिंग प्वाइंट भी दिए गए है. मौजूदा मेट्रो सेवाओं की ही तरह इसमें इमरजेंसी टॉकबैक की भी सुविधा होगी. 

ट्रेन में ऑटोमेटिक दरवाजे भी लगे होंगे, जो सुरक्षा की दृष्टि से काफी अहम माना जा सकता है. एक ट्रेन में कम से कम 12 कोच लगे होंगे. शुरूआती तौर पर 12 कोच वाली 12 वंदे मेट्रो को संचालित किया जाएगा. जिसे, रूट की मांग के अनुसार बढ़ाकर 16 कोच वाली ट्रेन भी बनाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें :- Indian Railways: हाईकोर्ट का ऑर्डर, पटरी पार करते समय गई जान तो नहीं मिलेगा मुआवजा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Reservation in Bihar: पटना हाईकोर्ट ने बिहार में आरक्षण बढ़ाए जाने के फैसले को किया रद्द, बताया संविधान के खिलाफ
Indian Railways: कब से शुरू होगा भारत की पहली Vande Metro का ट्रायल, जानें आखिर क्या हैं इसमें अन्य ट्रेनों से खास
These trains will remain canceled due to Remal cyclone know the complete list, helpline number and other information
Next Article
Indian Railways: रेमल चक्रवात के कारण रद्द रहेंगी ये ट्रेनें, जानें पूरी सूची, हेल्पलाइन नंबर और अन्य जानकारी
Close
;