विज्ञापन
Story ProgressBack

बताइए! जंगल में भी Safe नहीं हैं जंगली जानवर, वन्य प्राणियों के अंग के साथ पकड़े गए संदिग्ध शिकारी

Poachers of Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में जंगलों की संख्या बहुत ज्यादा हैं. लेकिन, यहां के जंगली जानवर सुरक्षित नहीं हैं. पुलिस ने शिकारियों को कई तरह के जंगली जानवरों के अंग के साथ गिरफ्तार किया.

बताइए! जंगल में भी Safe नहीं हैं जंगली जानवर, वन्य प्राणियों के अंग के साथ पकड़े गए संदिग्ध शिकारी
जंगली जानवर के अंगों के साथ पकड़े गए शिकारी

Baloda Bazar News: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जंगल में जंगली जानवर (Wild Animals) सुरक्षित नहीं हैं. वन विभाग (Forest Department) में कर्मचारियों की भारी कमी जीवों के जान गंवाने का कारण बनती जा रही है. बल की कमी के कारण सही गस्त नहीं हो पा रही है. इसका फायदा वन्य जीवों का शिकार (Poachers) करने वाले उठा रहे हैं. यही कारण है कि वन्य जीवों का लगातार शिकार हो रहा है. बालौदा बाजार में  वन विभाग ने शिकारियों को कई तरह के जंगली जानवरों के अंग के साथ गिरफ्तार किया.

बाघ आ रहे हैं नजर

बलौदा बाजार जिले में आने वाले बारनवापारा अभयारण्य एवं वन विकास निगम के क्षेत्र में बाघों का विचरण विगत 4 मार्च से देखा गया है. वन विकास निगम के कौवाबहरा में बाघ को ट्रैक करने के लिए ट्रैप कैमरा भी लगाया गया है. इसी कैमरा में 21 मार्च की रात एक संदिग्ध व्यक्ति को देखा गया.

शिकारी के घर की ली गई तलाशी

शिकारी व्यक्ति 5 कुत्ते और हथियार लेकर जंगल में घूम रहा था. व्यक्ति की पहचान कौवाबहरा पंचायत रवान निवासी 27 वर्षीय लोचन ठाकुर के रूप में हुई. इसके घर की तलाशी वन विभाग के अधिकारियों ने ली. घर से 5 नग गोला बम, पैंगोलिन छाल, 10 नग साही आंत, 1 किलो जंगली सुअर का मांस, 5 नग दांत और 1 नग जबड़ा जब्त किया गया. साथ ही मामले में एक और आरोपी ऋषि ठाकुर, शिव ठाकुर और महासिंग ठाकुर को शिकार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

ये भी पढ़ें :- Holi के रंग में रंगे हुए नजर आए डिप्टी CM विजय शर्मा, पुलिस वालों के साथ खेली होली, दिया यह संदेश

गांव के लोगों ने किया बवाल

शिकारियों की गिरफ्तारी के बाद गांव के लोगों ने बवाल कर दिया. वन विभाग की कार्रवाई को झूठा फंसाने की बात कहते हुए कार्यालय का घेराव कर विभागीय कार्रवाई पर गांव वालों ने सवाल उठा दिया. इधर, बवाल और कार्यालय का घेराव होने पर वन विभाग ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मामले को शांत करने कार्यालय के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया.

ये भी पढ़ें :- Food Poisoning से कोरबा में एक ही परिवार के सभी सात लोग बीमार, दो मासूमों ने गंवाई जान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Union Budget: ऐसे देख सकते हैं बजट 2024 की घोषणा का सीधा प्रसारण, जानें पूरी डिटेल
बताइए! जंगल में भी Safe नहीं हैं जंगली जानवर, वन्य प्राणियों के अंग के साथ पकड़े गए संदिग्ध शिकारी
Why Are Assam Wild Buffaloes Still Captive in Chhattisgarh High Court Demands Answers
Next Article
Chhattisgarh : असम के वन भैंसे अब तक कैद क्यों ? हाई कोर्ट ने जवाब किया तलब
Close
;