विज्ञापन
Story ProgressBack

छत्तीसगढ़ में 44.21 % हिस्से में जंगल फिर क्यों पड़ रही है रिकॉर्डतोड़ गर्मी ?

आम तौर पर ऐसा माना जाता है कि जैसे-जैसे जंगल कम हो रहे हैं वैसे-वैसे ग्लोबल वार्मिंग विकराल होता जा रहा है. लेकिन छत्तीसगढ़ में जहां का 44.21 फीसदी हिस्सा जंगलों से ढका है वहां भी आसमान से आग बरस रही है. प्रदेश के ज्यादातर हिस्से में तापमान 45 डिग्री के ऊपर बना हुआ है. 28 मई को प्रदेश के मुंगेली में तापमान 47.3 डिग्री पहुंच गया जो कि बीते 10 सालों में सबसे ज्यादा है.

Read Time: 3 mins
छत्तीसगढ़ में 44.21 % हिस्से में जंगल फिर क्यों पड़ रही है रिकॉर्डतोड़ गर्मी ?

Weather of Chhattisgarh: आम तौर पर ऐसा माना जाता है कि जैसे-जैसे जंगल कम हो रहे हैं वैसे-वैसे ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) विकराल होता जा रहा है. लेकिन छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh News) में जहां का 44.21 फीसदी हिस्सा जंगलों से ढका है वहां भी आसमान से आग बरस रही है. प्रदेश के ज्यादातर हिस्से में तापमान 45 डिग्री के ऊपर बना हुआ है. 28 मई को प्रदेश के मुंगेली में तापमान 47.3 डिग्री पहुंच गया जो कि बीते 10 सालों में सबसे ज्यादा है. यहां तक की छत्तीसगढ़ के शिमला के नाम से मशहूर मैनपाट (Mainpat) भी अब ठंडा नहीं रहा. यहां का तापमान 42 डिग्री पार कर चुका है. इसके अलावा घनघोर वन और अभ्यारण्य क्षेत्र वाले बलरामपुर और सूरजपुर (Balrampur and Surajpur) में पारे के तेवर चौंका रहे हैं. आखिर इसकी वजह क्या है? इस पर विस्तार से बात करेंगे लेकिन पहले ये जान लेते हैं कि प्रदेश के किस हिस्से में तापमान का कैसा खेल चल रहा है? 

Latest and Breaking News on NDTV

दरअसल सच्चाई ये है कि छत्तीसगढ़ लगातार वन क्षेत्र कम हो रहे हैं. वन भूमि लगातार पट्टे पर दिए जा रहे हैं. इसके अलावा यहां की प्राकृतिक चट्टान भी बाक्साइट उत्खनन के कारण खत्म हो रहे हैं. जिससे कई तरह की वनस्पतियां कम हो रही हैं. पेड़-पौधे ऑक्सीजन छोड़ते हैं जिससे ठंडक और नमी बनी रहती है. मौसम विभाग  के वैज्ञानिक एच पी चंद्रा का कहना है छत्तीसगढ़ में गर्मी उत्तर पश्चिम दिशा से गर्म शुष्क हवाओं की वजह से है. गर्मी के बढ़ने के अन्य कारण भी है. जिसमें जंगलों का धीरे धीरे कम होना, गाड़ियों, इंडस्ट्री और AC का बढ़ता उपयोग भी तापमान में वृद्धि का कारण है. इसके अलावा छत्तीसगढ़ कर्क रेखा में पड़ता है. कर्क रेखा के निकट होने और बारिश के लिए मानसून पर निर्भरता के कारण यह इलाका गर्म और आर्द्र रहने लगा है. घटते जंगलों की वजह से गर्मी और बढ़ रही है. हालांकि अच्छी खबर ये है कि जून के पहले पखवाड़े में मॉनसून छत्तीसगढ़ पहुंच सकता है. जिसके बाद हीटवेव से राहत मिलने के आसार हैं. 

ये भी पढ़ें: MP News: पहले यू ट्यूब पर देखे सुसाइड करने के तरीके! फिर नाइट्रोजन सिलेंडर की मदद से दे दी जान...अनोखा मामला आया सामने

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Elephant Terror: जंगली हाथियों का आतंक ! पल भर में कई घरों को कर दिया तहस-नहस, बेघर हुए लोग
छत्तीसगढ़ में 44.21 % हिस्से में जंगल फिर क्यों पड़ रही है रिकॉर्डतोड़ गर्मी ?
Chhattisgarh Encounter: 5 Naxalites Killed 3 Soldiers Injured in Narayanpur
Next Article
Chhattisgarh Encounter : नारायणपुर में मुठभेड़ में 7 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल
Close
;