विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh Weather: मार्च में अजब-गजब मौसम..छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में पड़े ओले, फसलों को भारी नुकसान

Chhattisgarh Weather News: छत्तीसगढ़ में मौसम ने अचानक पलटी मार दी है. जीपीएम जिले में सोमवार दोपहर बाद अचानक बारिश के बाद ओलावृष्टि हुई. इससे आम सहित कई फसलों को नुकसान हुआ है.

Chhattisgarh Weather: मार्च में अजब-गजब मौसम..छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में पड़े ओले, फसलों को भारी नुकसान
लोगों के आंगन में पसरा ओले का चादर

Hailstorm in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (Gaurella-Pendra-Marwahi) जिले के मरवाही में सोमवार को दोपहर बाद से जमकर ओलावृष्टि (Hailstorm) के साथ बारिश हुई. इसके बाद सड़कों और लोगों के आंगन में छोटे-छोटे ओलों की चादर बिछ गई. इसकी वजह से आम, सब्जी सहित गेहूं की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है. हालांकि, मौसम विज्ञान विभाग रायपुर (Weather Department Raipur) ने पहले ही कहा था कि आगामी चार दिनों में मौसम में भारी बदलाव देखने को मिल सकते हैं. वहीं सूरजपुर जिले में भी बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई. जिसके बाद जिले के कई इलाकों में ब्लैक आउट है.

मौसम विभाग ने दिया था पूर्वानुमान

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के दिए गए पूर्वानुमान के अनुसार, आगामी चार दिनों में मेघ गर्जन और बारिश की गतिविधियों में वृद्धि की चेतावनी जारी कर दी गई थी. पूर्वानुमान के अनुसार प्रदेश के अलग-अलग जिलों में मौसम में भारी बदलाव के संकेत दिए गए थे. बिलासपुर, रायपुर और दुर्ग संभाग के सभी जिलों के एक-दो स्थानों पर मेघ गर्जन के साथ वर्षा और अंधड़ चलने की संभावना बताई गई थी.

विभाग ने बताएं थे इससे बचने के उपाय (Guidelines for Chhattisgarh Weather Alert)

मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर ने मौसम के इस अचानक परिवर्तन से होने वाली जनहानि और पशुहानि से बचने लिए उपाय भी जारी किए थे. इसके अनुसार,

  • गड़गड़ाहट सुनने के बाद घर के अंदर जाएं या सुरक्षित पक्के आश्रय की तलाश करें. अगर कोई आश्रय उपलब्ध नहीं हैं तो तुरंत उखडू बैठ जाएं.

  • घास फूस की झोपड़ियों और एस्बेस्टस की छत वाले घरों को नुकसान हो सकता है और इनके छप्पर उड़ सकते हैं. अधूरे बंधे धातु की चादर उड़ सकती हैं.

  • पेड़ के नीचे भूलकर भी आश्रय न लें.

  • बिजली या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का प्रयोग न करें. बिजली की लाइनों से दूर रहें .

  • कृषि मंडियों में खुले में रखे हुए अनाज को भीगने से बचाने के लिए उन्हें सुरक्षित स्थान पर भंडार करें.

  • ओलावृष्टि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए बागवानी एवं सब्जी की फसलों में उपलब्धता के आधार पर एंटी हेल नेट का उपयोग करें.

जिले में बिजली व्यवस्था बाधित

मौसम के इस तरह अचानक पलटने से और आंधी के कारण कई इलाकों में बिजली व्यवस्था बाधित हुई. हालांकि, आने वाले 24 घंटे में बारिश के साथ ओलावृष्टि हो सकती है. ओलावृष्टि और बारिश से मौसम ने बढ़ते पारे पर कुछ कमी लाई है.

सूरजपुर में भी गिले ओले

सूरजपुर में मौसम का मिजाज बदल गया है. यहां तेज आंधी के साथ जमकर ओलावृष्टि हुई. जिसके बाद किसानों की चिंताएं बढ़ गई हैं. जोरदार ओलावृष्टि के चलते फसलों के नुकसान की आशंका जताई जा रही है. वहीं मौसम खराब होने के चलते जिले के कई इलाकों में ब्लैक आउट है.

यह भी पढ़ें - Holi Special Train: रेल यात्रियों के लिए होली पर आई बड़ी खुशखबरी, अब इस रूट पर तीन-तीन ट्रिप चलेगी होली स्पेशल ट्रेन

यह भी पढ़ें - सराहनीय पहल: एक ऐसा गांव, जहां के लोग जन्मदिन और सालगिरह जैसे दिनों पर सपरिवार करते हैं रक्तदान

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NDTV Exclusive: डिप्टी CM विजय शर्मा ने आंकड़े पेश कर किया बड़ा दावा, बोले- भूपेश सरकार...
Chhattisgarh Weather: मार्च में अजब-गजब मौसम..छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में पड़े ओले, फसलों को भारी नुकसान
Jashpur CM Vishnu Deo Sai children get vocational education along with school education there will also be two board exams
Next Article
Chhattisgarh: बच्चों को स्कूली शिक्षा के साथ मिलेगी व्यावसायिक शिक्षा भी, दो बोर्ड Exam भी होंगे, जानें CM साय ने और क्या कहा? 
Close
;