विज्ञापन
Story ProgressBack

सफेद हाथी बना करोड़ों की लागत वाला प्लांट, 15 सालों बाद भी साफ पानी की दरकार

Balrampur District Chhattisgarh : जिले में भीषण गर्मी की वजह से नदी तालाब कुएं व ट्यूबवेल का जलस्तर तेज़ी से नीचे जा रहा है. इसके वजह से शहर वासियों की सामने जल संकट जैसी मुसीबत खड़ी हो रही है. अभी आधी गर्मी ही बीती है कि लोगों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है.

Read Time: 3 mins
सफेद हाथी बना करोड़ों की लागत वाला प्लांट, 15 सालों बाद भी साफ पानी की दरकार
सफेद हाथी बना करोड़ों की लागत वाला प्लांट, 15 सालों के बाद भी साफ़ पानी की दरकार

Chhattisgarh News in Hindi : छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)  के बलरामपुर (Balrampur) ज़िले में 15 साल पहले चनान नदी पर इंटकवेल एवं फिल्टर प्लांट लगाया था. आवर्धन योजना (Aavardhan Yojna) के तहत बनाया गया ये प्लांट इतने सालों बीत जाने के बाद एक सफेद हाथी अब साबित हो रहा है. साल 2008-09 में इस प्लांट को लगवाने में करीब 10 करोड़ रुपये का खर्चा आया था. अब करोड़ों की लागत से बना ये प्लांट  बदहाल स्थिति में पड़ा हुआ है. यही नहीं, देखरेख व विभागीय उदासीनता की वजह से आज शहर के 7 गांवों को शुद्ध पीने लायक पानी भी नहीं नसीब हो पाया है.

15 सालों से ठप पड़ा फिल्टर प्लांट

दरअसल, जिले में भीषण गर्मी की वजह से नदी तालाब कुएं व ट्यूबवेल का जलस्तर तेज़ी से नीचे जा रहा है. इसके वजह से शहर वासियों की सामने जल संकट जैसी मुसीबत खड़ी हो रही है. अभी आधी गर्मी ही बीती है कि लोगों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है. स्थानीय लोगों ने बताया कि नलकूप में पानी भरने के लिए उन्हें काफी समय तक अपने बड़ी का इंतजार करना पड़ता है. साथ ही स्वच्छ पानी नहीं मिल पाता है. लोग आज भी चना नदी पर बने इंटकवेल के सप्लाई पानी के इंतजार में है. शासन की करोड़ों रुपए की लागत से बने फिल्टर प्लांट और इंटकबेल योजना मात्र शो पिस बनकर रह गया है.

प्रशासन को नहीं कोई सरोकार

स्थानीय लोगों की मानें तो प्रशासन की उदासीनता की वजह से उन्हें आज जल समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. भीषण गर्मी की वजह से पानी की समस्या को देखते हुए ग्रामीण काफी परेशान हो रहे हैं. जिसको लेकर स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है. वहीं, इस मामले पर जब नगर पंचायत के मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें अभी तक निर्माण के बाद इस योजना को हैंडोवर नहीं किया गया है. इसकी वजह से उन्हें भी पानी सप्लाई करने में दिक्कत हो रही है फिलहाल टैंकर के माध्यम से पानी सप्लाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें : 

45 लाख रुपये खर्च करने के बाद भी पार्क खस्ताहाल ! कहीं झूले खराब तो कहीं फव्वारे पड़े हैं बंद

बीवी ने अपनी बहन की शादी में उड़ाया अंधा पैसा, नाराज़ पति ने कर ली ख़ुदकुशी

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET के बाद अब NET Exam पर उठे सवाल, एडमिट कार्ड न मिलने से परीक्षार्थी परेशान, NTA नहीं कर रहा समाधान
सफेद हाथी बना करोड़ों की लागत वाला प्लांट, 15 सालों बाद भी साफ पानी की दरकार
Sukma CRPF Arogyadham Hospital Naxalite Commander Hidma Puwrti Village 
Next Article
नक्सली कमांडर हिड़मा के गांव  में CRPF का ‘आरोग्यधाम’, 16 प्रकार की बीमारियों का होगा फ्री में इलाज 
Close
;