विज्ञापन
Story ProgressBack

Chhattisgarh: लापरवाही की हद तो देखिए! टॉयलेट के वाशरूम में लगा दिया पीने के पानी का वाटर कूलर

Ambikapur News: शासकीय पीजी कॉलेज के ग्रंथपाल चमन कुमार से जब NDTV ने इस बारे में पुछा तो उन्होंने बताया कि टॉयलेट के वॉशरूम में वाटर कूलर लगाए जाने को लेकर कुछ छात्रों ने विरोध दर्ज कराया है. जिसे देखते हुए महाविद्यालय प्रबंधन जल्दी वाटर कूलर को वहां से हटाकर दूसरे स्थान में शिफ्ट करने की तैयारी कर रहा है.

Chhattisgarh: लापरवाही की हद तो देखिए! टॉयलेट के वाशरूम में लगा दिया पीने के पानी का वाटर कूलर
Chhattisgarh Latest News: वाशरूम में लगा दिया वाटर कूलर

Chhattisgarh: अम्बिकापुर (Ambikapur) के शासकीय पीजी कॉलेज में वाटर कूलर टॉयलेट के वाशरूम में लगाने का मामला सामने आया है. जिसके कारण कॉलेज के छात्र-छात्राएं इस वाटर कूलर से पानी पीने में परहेज कर रही हैं. वहीं छात्रों के द्वारा जब इस मामले को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया तो अब कॉलेज प्रबंधन उक्त वाटर कूलर वहां से हटाने की बात तो कर रही है लेकिन अभी तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है. जिससे छात्रों में काफी रोष है. कॉलेज प्रबंधक ने भी हद कर दी उसे पूरे कॉलेज में इसके अलावा कोई और जगह ही नहीं मिली.

100 से ज्यादा कमरे वाला है महाविद्यालय

दरअसल सरगुजा संभाग के एक मात्र सबसे बड़े आटोनोमस महाविद्यालय जहां हजारों छात्र -छात्राएं अध्ययन करने आते हैं. इसके बावजूद महाविद्यालय प्रबंधन छात्रों को सुविधाएं देने के नाम पर केवल खानापूर्ति कर रहा है. 100 से ज्यादा कमरे वाले इस महाविद्यालय में केवल दो वाटर कूलर लगाए गए हैं. एक जो महाविद्यालय के प्रवेश द्वार पर लगा है. उसकी भी हालत काफी खराब है. यहां सफाई के अभाव में चारों तरफ काफी गंदगी पसरी हुई है तो दूसरा वाटर कूलर महाविद्यालय प्रबंधन ने पुस्तकालय के टॉयलेट के वॉशरूम में ही फिट करवा दिया है. जिसका पानी पीने से महाविद्यालय के छात्र-छात्राएं परहेज कर रहे हैं.

खरीदकर पी रहे हैं पानी

ऐसे में ग्रामीण तपके अध्ययन करने महाविद्यालय में आने वाले छात्र-छात्राओं को किस कदर पेयजल को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. इस संबंध में महाविद्यालय के छात्रों का कहना है की टॉयलेट के वॉशरूम में वाटर कूलर लगाने का क्या औचित्य है जिसके लिए उन्होंने कॉलेज प्रबंधक से इसकी शिकायत भी की लेकिन अभी तक इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया है. उन्होंने बताया कि पेयजल की सबसे ज्यादा आवश्यकता महाविद्यालय के छात्रों के साथ-साथ खेल गतिविधि में शामिल होने वाले छात्र खिलाड़ियों को होती है. ऐसे में खिलाड़ियों को या तो घर से पानी लेकर जाना पड़ रहा है या फिर खरीद के पानी पीना पड़ रहा है.

दूसरे स्थान में लगाया जाएगा वाटर कूलर.......

शासकीय पीजी कॉलेज के ग्रंथपाल चमन कुमार से जब NDTV ने इस बारे में पुछा तो उन्होंने बताया कि टॉयलेट के वॉशरूम में वाटर कूलर लगाए जाने को लेकर कुछ छात्रों ने विरोध दर्ज कराया है. जिसे देखते हुए महाविद्यालय प्रबंधन जल्दी वाटर कूलर को वहां से हटाकर दूसरे स्थान में शिफ्ट करने की तैयारी कर रहा है. ग्रंथपाल चमन कुमार ने अपनी ओर से सफाई देते हुए यही बताया कि वाटर कूलर में पानी सप्लाई के लिए अलग टंकी छत पर रखी गई है. टॉयलेट के पानी से उसका कोई कनेक्शन नहीं है. वहीं पीजी कॉलेज के प्राचार्य रिजवान अहमद ने भी जल्द से जल्द वाटर कूलर वॉशरूम से हटाने की बात कही है.

ये भी पढ़ें CG News: अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए स्वास्थ्यकर्मी, अब 3400 कर्मचारी रायपुर पहुंच कर सरकार के घर में बोलेंगे हल्ला!

ये भी पढ़ें Crime: चूना भट्ठे में मैनेजर को फेंकने वाले चार आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, चोरी की नीयत से पहुंचे आरोपियों ने की थी हत्या

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
गजब इश्क ! यहां के लोगों ने पेड़ों से की रिश्तेदारी, किसी को बनाया पति तो किसी को पिता
Chhattisgarh: लापरवाही की हद तो देखिए! टॉयलेट के वाशरूम में लगा दिया पीने के पानी का वाटर कूलर
IT Notice Apoorva Jain claims he paid a fee of Rs 50,000 to a CA to settle a tax dispute of Rs 1 with the Income Tax Department, pay attention while filing ITR
Next Article
IT Notice: मजाक नहीं! एक रुपये के विवाद में CA को चुकानी पड़ी ₹50 हजार की फीस- दिल्ली के शख्स का दावा
Close
;