विज्ञापन
Story ProgressBack

Mahadev Betting App Case : सीएम भूपेश बघेल का जवाब- दिख रही है ईडी की नीयत और केंद्र सरकार की बदनीयत

CG Election : सीएम भूपेश बघेल लिखते हैं कि "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi), केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) दोनों मिलकर भी कांग्रेस का छत्तीसगढ़ में मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं तो वे जांच एजेंसियों के सहारे चुनाव लड़ना चाहते हैं."

Read Time: 5 min
Mahadev Betting App Case : सीएम भूपेश बघेल का जवाब- दिख रही है ईडी की नीयत और केंद्र सरकार की बदनीयत

Assemblyelection2023 : छत्तीसगढ़ विधान सभा चुनाव (CG Assembly Election 2023) में ईडी (ED) और महादेव बेटिंग एप (Mahadev Betting App) की चर्चा भी जोर-शोर है. छत्तीसगढ़ में आए दिन प्रवर्तन निदेशालय की टीम (ED Team) छापेमारी कर रही है. हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय ने महादेव बेटिंग एप मामले पर बड़ा दावा करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) को 508 करोड़ रुपये दिए गए है. ईडी की ओर से बाकायदा प्रेस रिलीज (ED Press Release) जारी करके इसकी जानकारी दी गई है. ईडी ने कहा "मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को 508 करोड़ रुपये दिए गए हैं. हालांकि ये जांच का विषय है. अभी इस मामले में जांच जारी है." वहीं अब इस मामले में सीएम भूपेश बघेल ने भी अपनी बात रखी है. 

भूपेश बघेल ने क्या कहा?

छत्तीसगढ़ के सीएम (Chhattisgarh CM) भूपेश बघेल ने इस मामले में सोशल मीडिया पर लंबी-चौड़ी पोस्ट शेयर की है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि "जैसा कि मैंने पहले कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ईडी, आईटी (IT), डीआरआई (DRI) और सीबीआई (CBI) जैसी एजेंसियों के सहारे छत्तीसगढ़ का चुनाव (CG Election) लड़ना चाहती है. चुनाव के ठीक पहले ईडी ने मेरी छवि धूमिल करने की सबसे कुत्सित प्रयास किया है. यह कांग्रेस की लोकप्रिय सरकार को बदनाम करने का राजनीतिक प्रयास है जो ईडी के माध्यम से किया जा रहा है."

CM बघेल ने आगे लिखा "‘महादेव ऐप' की कथित जांच के नाम पर ईडी ने पहले मेरे करीबी लोगों को बदनाम करने के लिए उनके घर छापे डाले और अब एक अनजान से व्यक्ति के बयान को आधार बनाकर मुझ पर 508 करोड़ लेने का आरोप लगा दिया है"
ईडी की चालाकी देखिए कि उस व्यक्ति का बयान ज़ाहिर करने के बाद एक छोटे से वाक्य में लिख दिया है कि बयान जांच का विषय है. अगर जांच नहीं हुई है तो एक व्यक्ति के बयान पर प्रेस रिलीज़ जारी करना न केवल ईडी की नीयत को बताता है बल्कि इसके पीछे केंद्र सरकार की बदनीयती को भी ज़ाहिर करता है.

भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़

CM ने उठाए ये सवाल

भूपेश बघेल आगे सवाल करते हुए लिखते हैं कि "इस समय राज्य में चुनाव हो रहे हैं. सब कुछ चुनाव आयोग के हाथों में है. पुलिस के अलावा सीआरपीएफ़ के जवान जांच कर रहे हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि इतनी बड़ी रकम लेकर लोग किस तरह से छत्तीसगढ़ पहुंच पा रहे हैं? कहीं इसमें भी तो केंद्रीय एजेंसियों की सांठगांठ नहीं चल रही है? कहीं ये रकम उन संदूकों में तो भरकर नहीं लाई गई है जो ईडी के अफ़सरों और सुरक्षा एजेंसियों के साथ विशेष विमान से तो नहीं पहुंची है?"

कांग्रेस का छत्तीसगढ़ में मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं PM : CM 

सीएम भूपेश बघेल आगे लिखते हैं कि "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi), केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) दोनों मिलकर भी कांग्रेस का छत्तीसगढ़ में मुकाबला नहीं कर पा रहे हैं तो वे जांच एजेंसियों के सहारे चुनाव लड़ना चाहते हैं."

भूपेश बघेल ने कहा - ईडी के ख़िलाफ मैंने खुले बयान दिए हैं और जनता को बताता रहा हूं कि ईडी किस तरह से काम करती है. वह पहले लोगों के नाम तय करती है फिर लोगों को गिरफ़्तार करके धमकाती डराती है और नाम लेने के लिए बाध्य करती है. इसके लिए वह किसी भी हद तक जा सकती है. मारना, डराना धमकाना तो सामान्य बात है.

अंत में सीएम ने लिखा है कि "कांग्रेस तैयार है. कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता तैयार है. ईडी, आईटी जैसी एजेंसियों के मुक़ाबले के लिए छत्तीसगढ़ की जनता हमारे साथ है. हम लड़ेंगे और जीतेंगे."

यह भी पढ़ें : महादेव ऐप प्रमोटर्स ने भूपेश बघेल को किया 508 करोड़ रुपए का भुगतान? ED करेगी जांच

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close