विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 03, 2023

18 हजार से अधिक रन, 35 शतक, इस भारतीय क्रिकेटर ने किया संन्यास का ऐलान

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज और पश्चिम बंगाल सरकार में खेल मंत्री मनोज तिवारी ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविद कह दिया है.

Read Time: 4 mins
18 हजार से अधिक रन, 35 शतक, इस भारतीय क्रिकेटर ने किया संन्यास का ऐलान
मनोज तिवारी ने संन्यास का ऐलान कर दिया है.

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज मनोज तिवारी ने क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास का ऐलान कर दिया है. मनोज तिवारी ने टीम इंडिया के लिए 12 वनडे और 3 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले. मनोज तिवारी ने रणजी ट्राफी 2022-2023 सीजन में बंगाल का नेतृत्व किया था. इसके अलावा वो वर्तमान में पश्चिम बंगाल के खेल मंत्री है.

मनोज तिवारी ने अपने संन्यास का ऐलान करते हुए एक इमोशनल पोस्ट करते हुए लिखा,"क्रिकेट के खेल को अलविदा. इस खेल ने मुझे सब कुछ दिया है, मेरा मतलब है कि हर एक चीज़ जिसके बारे में मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था, उस समय से लेकर जब मेरे जीवन को विभिन्न प्रकार की कठिनाइयों से चुनौती मिली थी.. मैं इस खेल और भगवान का हमेशा आभारी रहूंगा, जो हमेशा मेरे पक्ष में रहे.." मनोज तिवारी ने इस दौरान उन सभी लोगों को धन्यवाद दिया, जिन्होंने अनके करियर के दौरान भूमिका निभाई थी."

यह भी पढ़ें:मध्यप्रदेश के इस गांव ने 'मिनी ब्राजील' नाम से बनाई पहचान, 'मन की बात' में PM Modi ने किया जिक्र

बंगाल में जन्में मनोज तिवारी ने आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स (दिल्ली कैपिटल), कोलकाता नाइट राइडर्स, किंग्स इलेवन पंजाब (पंजाब किंग्स) और पुणे सुपर जायंट्स का प्रतिनिधित्व किया है. मनोज तिवारी साल 2012 में आईपीएल खिताब जीतने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम का हिस्सा थे, जिन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 2 गेंद रहते ही 191 रनों का लक्ष्य हासिल किया था.

मनोज तिवारी ने 2006-07 के रणजी ट्रॉफी में 99.50 की औसत से 796 रन बनाकर सभी को प्रभावित किया था. उनके इस प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया में उन्हें शामिल किया गया था. मनोज तिवारी को बांग्लादेश दौरे पर गई टीम में जगह दी गई थी और सभी यह मानकर चल रहे थे कि वो अपना डेब्यू कर सकते है. हालांकि, मीरपुर में मैच से पहले वो अभ्यास के दौरान चोटिल अपना कंधा चोटिल कर बैठे थे और डेब्यू के लिए उनका इतंजार बढ़ गया था.

यह भी पढ़ें: भारत के खिलाफ सफल होगा 'बैजबॉल'? इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स ने दिया ये जवाब

इसके बाद उन्होंने 2008 में ब्रिसबेन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में अपना वनडे डेब्यू किया था. लेकिन इसके बाद वो फिर ड्रॉप हुए थे और उन्हें फिर तीन साल बाद टीम में जगह मिली थी. मनोज तिवारी ने 2015 में अपना आखिरी मुकाबला खेला था.

मनोज तिवारी ने भारत के लिए खेले 12 वनडे मुकाबलों में 26.09 की औसत से 287 रन बनाए थे. इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और एक अर्धशतक आया. इसके अलावा उन्होंने 3 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 15 रन बनाए. लेकिन उनका घरेलू सर्किट में दमदार प्रदर्शन रहा.

 मनोज तिवारी ने फर्स्ट क्लास के खेले 141 मुकाबलों में 48.56 की औसत से 9908 रन बनाए थे. इस दौरान उनके बल्ले से 29 शतक और 45 अर्द्धशतक आए, जबकि लिस्ट ए के खेले 169 मैचों में उन्होंने 5581 रन बनाए. लिस्ट ए मैचों में उनके नाम 6 शतक और 40 अर्धशतक हैं. वहीं उन्होंने 183 टी20 मुकाबलों में 3436 रन बनाए हैं. टी20 में उन्होंने 15 अर्द्धशतकीय पारियां खेलीं.

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के इस खिलाड़ी ने डेब्यू में बनाया था ऐसा रिकॉर्ड, 34 साल बाद भी है कायम

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
T20WC Super-8:सुुपर 8 के मुकाबले में कल इंडिया Vs अफगानिस्तान, किसने कहा, 'भारत को रहना होगा सावधान'
18 हजार से अधिक रन, 35 शतक, इस भारतीय क्रिकेटर ने किया संन्यास का ऐलान
IPL 2024 Before the start of IPL MS Dhoni recreated Jadeja's winning moment 2023 final Video viral on social media
Next Article
IPL शुरू होने से पहले धोनी ने CSK फैन्स के लिए रीक्रिएट किया स्पेशल मूमेंट, VIDEO देख कहेंगे 'एक बार फिर माही'
Close
;