विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 05, 2023

चोरी के शक में दलित महिला को थाने में निर्वस्त्र करने का आरोप, होटल स्टाफ ने बुरी तरह पीटा

पिटाई से महिला की हालत खराब होने के बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया. महिला के परिजनों ने जब उसके पूरे शरीर पर बेरहम पिटाई के निशान देखे तब पीड़िता का परिवार समाज के लोगों के साथ थाने पहुंचा.

Read Time: 4 mins
चोरी के शक में दलित महिला को थाने में निर्वस्त्र करने का आरोप, होटल स्टाफ ने बुरी तरह पीटा
चोरी के शक में दलित महिला को थाने में निर्वस्त्र करने का आरोप

Jabalpur News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अभी नई सरकार का शपथ ग्रहण भी नहीं हुआ है और आचार संहिता हटने के आदेश जारी होने के चंद घंटों पहले जबलपुर (Jabalpur) में पुलिस (MP Police) का बर्बर चेहरा सामने आया है. आरोप है कि जबलपुर के होटल समदड़िया इन में कार्यरत दलित महिला से चोरी के शक में न केवल होटल स्टाफ ने मारपीट की बल्कि पुलिस ने देर रात थाने में तलाशी के नाम पर उसे निर्वस्त्र किया और बिना कोई एफआईआर पूछताछ के नाम पर उसे टॉर्चर किया. महिला की हालत इतनी बिगड़ गई है कि उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

क्या है पूरा मामला?

पीड़िता महिला ने बताया कि वह जबलपुर के होटल समदड़िया इन में साफ-सफाई का काम करती है. 3-4 दिन पहले उसे होटल में एक ब्रेसलेट पड़ा मिला, जिसे उसने अपनी ऑफिस की यूनिफॉर्म के जेब में रख दिया था. मंजू ने बताया कि साफ-सफाई के दौरान ऐसी चीजें अक्सर उन्हें मिलती हैं और हर बार की तरह इस बार भी दूसरे दिन उसने अपने होटल के फैसिलिटी स्टाफ को इसकी जानकारी दी. मगर जब उसने ब्रेसलेट बाकी स्टाफ के सामने जेब में टटोला तो वह गायब था. ब्रेसलेट कीमती था. दो दिन बाद पुलिस आई और ओमती थाने की महिला पुलिसकर्मी ने तलाशी के नाम पर उसे निर्वस्त्र किया और फिर बेरहमी से पिटाई की.

यह भी पढ़ें : MP Election Results: महाकौशल में चला बीजेपी का जादू, फिर भी कमलनाथ ने बचाई कांग्रेस की इज्जत

इलाज के लिए भेज दिया निजी अस्पताल

पिटाई से महिला की हालत खराब होने के बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया. महिला के परिजनों ने जब उसके पूरे शरीर पर बेरहम पिटाई के निशान देखे तब पीड़िता का परिवार समाज के लोगों के साथ थाने पहुंचा. महिला को इलाज के लिए नियम अनुसार शासकीय अस्पताल ना ले जाकर निजी अस्पताल भेजा गया. सवालों के घेरे में आई पुलिस ने बताया कि वहां उसे अच्छे इलाज के लिए भेजा जा रहा है. हालांकि निजी अस्पताल ने भी नियमों का हवाला देते हुए उसके इलाज से इनकार कर दिया.

यह भी पढ़ें : Jabalpur: किसानों ने हाईवे पर जमकर किया हंगामा, मटर की सही कीमत नहीं मिलने बिगड़े हालात

विभागीय जांच होने का दिया हवाला

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रियंका शुक्ला को मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने आश्वस्त किया कि CSP संपर्क करेंगे और पीड़िता का इलाज निजी अस्पताल में ही होगा पर आखिर थक-हारकर परिजनों को पीड़िता को शासकीय अस्पताल विक्टोरिया ले जाना पड़ा जहां उसे भर्ती कर इलाज किया जा रहा है. नगर पुलिस अधीक्षक पंकज मिश्रा ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मी पर विभागीय जांच की जा रही है और उसे लाइन हाजिर करने के आदेश कल जारी कर दिए जाएंगे. हालांकि बिना FIR के थाने में मारपीट और पूछताछ के मामले में जवाब देने से अधिकारी बचते रहे.

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Madhya Pradesh: पीडब्लूडी मंत्री राकेश सिंह ने किया बड़ा दावा, कहा-बिना किसी नए टैक्स के प्रदेश बजट का आकार बढ़ा
चोरी के शक में दलित महिला को थाने में निर्वस्त्र करने का आरोप, होटल स्टाफ ने बुरी तरह पीटा
Madrasa will be closed in MP CM Mohan Yadav gave big hints
Next Article
'चिंता मत करो...' MP में बंद होंगे मदरसे? सीएम मोहन यादव ने दिए बड़े संकेत
Close
;