विज्ञापन
Story ProgressBack

पानी की तरह बहाए करोड़ों रुपए, फिर भी ज्यादातर तालाब सूखे, भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई अमृत सरोवर योजना

MP News: उप-सरपंच ने NDTV को बताया की बारिश के मौसम में ये सरोवर पानी से लबालब भरा हुआ था, लेकिन घटिया निर्माण के चलते पानी का तेजी से रिसाव हो गया और बारिश का मौसम जाने से पहले ही सरोवर सूख गया.

Read Time: 5 mins
पानी की तरह बहाए करोड़ों रुपए, फिर भी ज्यादातर तालाब सूखे, भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई अमृत सरोवर योजना

NDTV Reality Check: केंद्र और राज्य सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजनाओं में शुमार अमृत सरोवर योजना (Amrit Sarovar Yojana) आदिवासी बाहुल्य डिंडौरी जिले में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है. NDTV ने डिंडौरी जिले के तीन अलग- अलग गांवों में बने अमृत सरोवरों की पड़ताल की है, जिसमें हैरान कर देने वाले कई तथ्य सामने आये हैं. डिंडौरी जिले (Dindori District) में अमृत सरोवर योजना के तहत ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के द्वारा 101 सरोवरों का निर्माण कराया गया है और एक सरोवर के निर्माण में औसतन पचास लाख रुपये खर्च किये गए हैं, लेकिन अधिकांश सरोवर सूखे पड़े हुए हैं. जल संरक्षण (Water Conservation), मछली पालन (Fish Farming), सिंचाई (Irrigation), सिंघाड़े की खेती (Water Chestnut Cultivation) आदि उद्देश्यों को लेकर बनाये गए सरोवरों में एक बूंद पानी को संरक्षित नहीं किया जा सका है. जल संरक्षण के नाम पर सरोवरों का सिर्फ ढांचा तैयार कर योजना की राशि का बंदरबांट कर लिया गया है.

MP News: Amrit Sarovar Yojana

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

ढांचा तैयार कर निकाल ली योजना की राशि

डिंडौरी जिला मुख्यालय से महज दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित सरहरी ग्राम पंचायत में डेढ़ साल पहले करीब 57 लाख रुपये की लागत से अमृत सरोवर योजना के तहत सरोवर का निर्माण कराया गया था, जिसमें जिम्मेदार विभाग के अधिकारीयों द्वारा किस कदर भ्रष्टाचार किया गया है इसका अंदाजा सरोवर की तस्वीरों को देखकर बड़ी आसानी से लगाया जा सकता है. ग्राम पंचायत के उप-सरपंच दशरथ राठौर ने NDTV को बताया की बारिश के मौसम में ये सरोवर पानी से लबालब भरा हुआ था, लेकिन घटिया निर्माण के चलते पानी का तेजी से रिसाव हो गया और बारिश का मौसम जाने से पहले ही सरोवर सूख गया.

दशरथ राठौर बताते हैं कि जब इस सरोवर का निर्माण हो रहा था तब ग्रामीण इस बात पर बेहद खुश थे की अब उन्हें जल संकट से निजात मिल जायेगी व खेतों की सिंचाई, मछली पालन समेत अन्य कार्यों के लिए ये सरोवर उनके लिए अमृत साबित होगा, लेकिन भ्रष्ट अधिकारियों ने न सिर्फ ग्रामीणों बल्कि सरकार की मंशा पर पानी फेर दिया.

ग्रामीणों के द्वारा अमृत सरोवर योजना में हुए भ्रष्टाचार की शिकायत भी की गई है, लेकिन कार्यवाही तो दूर जिम्मेदारों ने अब तक इस मामले में जांच करने की जहमत तक नहीं उठाई है. सरकारी दस्तावेजों में सरहरी ग्राम का यह अमृत सरोवर पूर्ण है एवं योजना की राशि 57 लाख रुपये निकाले जा चुके हैं. 

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

निर्माण स्थल पर लगे बोर्ड दे रहे हैं भ्रष्टाचार की गवाही

डिंडोरी जिले के समनापुर विकासखंड क्षेत्र अंतर्गत पड़रिया गांव में घने जंगलों के बीच करीब 41 लाख रुपये की लागत से अमृत सरोवर योजना के तहत सरोवर का निर्माण कराया गया था. जिसमें दूर-दूर तक एक बूंद पानी भी आपको नजर नहीं आयेगा. निर्माण स्थल के पास योजना से संबंधित लगे बोर्ड खुद ही भ्रष्टाचार की गवाही दे रहे हैं.

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

निर्माण स्थल के पास तीन बोर्ड लगे हुए हैं. एक बोर्ड में योजना से सम्बंधित जरुरी जानकारी दर्ज़ है. तो वहीं दूसरे बोर्ड में बाकायदा चेतावनी लिखी हुई है कि सरोवर में बहुत ज्यादा पानी है. इसलिए इससे दूर रहा जाये एवं तीसरा बोर्ड मां सीता स्व सहायता समूह का लगा हुआ है जिसे शायद सरोवर में मछली पालन करने का काम दिया गया है. बोर्ड में किये गए सरकारी दावों में कितनी सच्चाई है यह आप खुद देख लीजिये.

सपेतिन बाई नामक एक महिला जो जंगल से चार का बीज लेकर सरोवर के ऊपर से गुजर रही थी उसने हमें बताया कि सरोवर निर्माण के दौरान उसने यहां मजदूरी का काम किया था. उसने हमें यह भी बताया कि सरोवर का निर्माण गुणवत्तापूर्ण नहीं किया गया, जिसके चलते यह पूरी तरह से सूखा पड़ा हुआ है.

जांच की बात कर पल्ला झाड़ रहे अधिकारी

जिला प्रशासन की नाक के नीचे ग्राम पंचायत हिनौता के जोगी टिकरिया गांव में 60 लाख रुपये की लागत से अमृत सरोवर योजना के तहत सरोवर का निर्माण कराया गया था. 60 लाख रुपये से बनकर तैयार हुए इस सरोवर में 60 लीटर पानी भी संरक्षित नहीं किया जा सका है. सरोवर के बीचों-बीच एक छोटे से गड्ढे में कीचड़ जरूर नजर आता है, जिसमें जानवर अपनी तपिश मिटाते हुए नजर आ रहे हैं. इस सरोवर में पानी की तलाश में मवेशियों का हुजूम लगा हुआ है.

ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री आर एस धुर्वे से अमृत सरोवर योजना में हुए भ्रष्टाचार को लेकर जब भी सवाल किया जाता है तो वे जांच का हवाला देकर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लेते हैं.
MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

MP News: डिंडोरी में अमृत सरोवर योजना का हाल

डिंडोरी जिले को मिली थी 101 अमृत सरोवरों की सौगात

आजादी के 75वीं वर्षगांठ मनाने से पहले अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav) काल में केंद्र सरकार ने आदिवासी बाहुल्य डिंडोरी जिले को 101 अमृत सरोवरों की सौगात दी थी, जिसका मुख्य उद्देश्य जल संरक्षण के साथ साथ मछली पालन, सिंघाड़े की खेती, खेतों की सिंचाई आदि था, लेकिन डिंडौरी जिले में अफसरों ने सरोवर निर्माण के नामपर ढांचा खड़ा कर करोड़ों रुपये का बंदरबांट कर दिया.

यह भी पढ़ें : यहां के जलाशयों में बचा सिर्फ 55 फीसदी पानी, कृषि विभाग ने किसानों को ये फसल उगाने की दी सलाह

यह भी पढ़ें : MP में सबसे ज्यादा होशंगाबाद तो रीवा में सबसे कम वोटिंग, कैसा रहा दमोह, सतना, खजुराहो व टीकमगढ़ का हाल?

यह भी पढ़ें : चुनाव आयोग के अधिकारियों से लेकर नेता तक हैं परेशान! आखिर क्यों कम हो रहा मतदान? जानिए इसके मायने

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
23 जून को राज्य सेवा एवं राज्य वन सेवा का Prelims Exam, जानिए समय
पानी की तरह बहाए करोड़ों रुपए, फिर भी ज्यादातर तालाब सूखे, भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई अमृत सरोवर योजना
6 people died and 11 injured in road accidents in Sehore Neemuch and Balaghat
Next Article
एमपी में तीन अलग-अलग सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत, 11 हुए घायल
Close
;