विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 13, 2024

कलियासोत के 33 मीटर दायरे में काबिज लोगों को हाई कोर्ट से मिली राहत, अभी नहीं टूटेंगे मकान

MP News : एनजीटी (NGT) यानी नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (National Green Tribunal) के निर्देश पर नगर निगम ने कलियासोत नदी के 33 मीटर के दायरे में आ रहे निर्माणकर्ताओं को नोटिस दिये थे. इस संबंध में लगभग 700 से अधिक लोगों को नोटिस जारी किए गए हैं.

कलियासोत के 33 मीटर दायरे में काबिज लोगों को हाई कोर्ट से मिली राहत, अभी नहीं टूटेंगे मकान

Madhya Pradesh High Court Order : भोपाल और उसके आस-पास बहने वाली की कलियासोत नदी (Kaliyasot River) के 33 मीटर के दायरे में आने वाले रहवासियों के मकान तोड़ने के आदेश (Orders to Demolish The House) पर हाईकोर्ट (High Court) ने रोक लगा दी है. हाईकोर्ट ने मामले पर सुनवाई करते हुए भोपाल नगर निगम (Nagar Nigam Bhopal) को नोटिस जारी कर 4 सप्ताह में जवाब पेश करने के निर्देश दिए है. बता दें कि कलियासोत नदी के पास स्थित एक रेसिडेशियल कॉम्प्लैक्स (Residential Complex) के रहवासियों ने यह याचिका दायर (Petition Filed) की थी. याचिका में कहा गया था कि उन्होंने अपने जीवन भर की जमा पूंजी से फ्लैट्स खरीदे थे, लेकिन भोपाल नगर निगम उन्हें हटाने की एकपक्षीय कार्यवाही कर रहा है.

एनजीटी ने दिया है निर्माण हटाने का आदेश

एनजीटी (NGT) यानी नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (National Green Tribunal) के निर्देश पर नगर निगम ने कलियासोत नदी के 33 मीटर के दायरे में आ रहे निर्माणकर्ताओं को नोटिस दिये थे. इस संबंध में लगभग 700 से अधिक लोगों को नोटिस जारी किए गए हैं. रहवासियों का कहना है कि नगर निगम सहित अन्य एजेंसियों की अनुमति के बाद ही मकान का निर्माण किया गया था. फिलहाल हाईकोर्ट ने रहवासियों को हटाने की कार्रवाई पर रोक लगा दी है और इस मामले पर भोपाल नगर निगम को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. अब इस मामले पर अगली सुनवाई 9 फरवरी को होगी.

क्या है मामला?

कलियासोत नदी के किनारों पर अवैध अतिक्रमण (Illegal Encroachment) और पक्के निर्माण को देखते हुए यह मामला नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में उठा था. जिसके अंतर्गत चली लंबी सुनवाई के बाद एनजीटी इस नतीजे पर पहुंचा था कि कलियासोत नदी के तट से 33 मीटर की दूरी में काबिज सभी निर्माण को हटाया जाए. एनजीटी द्वारा जारी निर्देश में ग्रीन बेल्ट एरिया में सर्वाधिक अतिक्रमण लोकेशन अयोध्या नगर बायपास रोड पर स्थित है, इसके साथ नीलबड़ से मुगालिया छाप, पटेल नगर बायपास से 11 मील रोड, करोंद बायपास रोड भानपुरा चौराहा से आशाराम बापू चौराहा पर बड़ी संख्या में अतिक्रमण है.

यह भी पढ़ें : पत्नी द्वारा लगातार फिजिकल संबंध से मना करना एक तरह की मानसिक क्रूरता है : मध्य प्रदेश हाई कोर्ट

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP News: बुंदेलखंड पैकेज से यहां बनाई गई मंडी, व्यापारी काट रहे मौज और भटक रहे किसान
कलियासोत के 33 मीटर दायरे में काबिज लोगों को हाई कोर्ट से मिली राहत, अभी नहीं टूटेंगे मकान
Thieves carried out theft in a bungalow in Mandsaur if the heavy safe was not broken then the thieves took it away
Next Article
मंदसौर में चोरों ने दी बंगले में चोरी को अंजाम, वजनी तिजोरी नहीं टूटी तो उखाड़कर ले गए चोर
Close
;