विज्ञापन
Story ProgressBack

MP News: ऐसा भी कहीं होता है क्या? ड्रेनेज लाइन पड़ी ही नहीं और कर दिया गया 24 करोड़ का भुगतान...

Madhya Pradesh: इंदौर से भ्रष्टाचार का एक बड़ा मामला सामने आया है. पुलिस अब तक 36 फाइलों की जांच कर चुकी है. जांच में 48 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया है.

Read Time: 3 mins
MP News: ऐसा भी कहीं होता है क्या? ड्रेनेज लाइन पड़ी ही नहीं और कर दिया गया 24 करोड़ का भुगतान...
Indore: इंदौर ड्रेनेज घोटाले में नया खुलासा हुआ है

Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) का इंदौर (Indore) स्वच्छता के मामने में कई बार देश में नंबर वन रह चुका है. पिछले साल भी इंदौर स्वच्छता के मामले में देश में अव्वल रहा था. प्रदेश और देश को हमेशा इस मामले में गौरवान्वित करता रहा है. लेकिन इस वो बार गलत वजह से चर्चा में बना हुआ है. दरअसल इंदौर (Inodre) में हुए ड्रेनेज घोटाले (Drainage Scam) में बड़ा खुलासा हुआ है. जांच में 48 करोड़ के घोटाले में 24 करोड़ का फर्जी भुगतान सामने आया है. हैरानी की बात ये है कि ड्रेनेज लाइन डाली नहीं गई है और 24 करोड़ का ठेकेदारों के खातों में भुगतान कर दिया गया है. इसे काफी बड़ा घोटाला माना जा रहा है.

36 फाइलों की जांच में आई है बात सामने

इस घोटाले से जुड़ी 36 फाइलों की जांच पुलिस अब तक कर चुकी है. जांच में 48 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया है. जिसमें से आरोपियों द्वारा 24 करोड़ रुपए का भुगतान अपनी फर्म के खातों में करवाने की बात सामने आई है. पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है. जिसमें तीन निगम के कर्मचारी भी शामिल हैं.

स्विच किए गए खातों में मिले 70 लाख रुपए

इंदौर नगर निगम ड्रेनेज विभाग से शुरू हुए 28 करोड़ रुपए के फर्जी बिल मामले में रोजाना नए नए खुलासे हो रहे हैं. पुलिस की जांच में अब 36 फाइलों की जांच की जा चुकी है है. जिसमें 48 करोड़ रुपए के फर्जी बिलों का मामला सामने आ चुका है. तो वही पांच फर्मों को खातों में 24 करोड़ रुपए का भुगतान भी हुआ है. पुलिस ने इन खातों को स्विच कर लिया है जिसमें 70 लाख रुपए मिले हैं.

आरोपियों का 4 तारीख तक है रिमांड

डीसीपी पंकज पांडे ने पूरे मामले में बताया की इंदौर नगर निगम में फर्जी फाइलों के माध्यम से पैसा निकालने के मामले में जांच चल रही है. पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है और जो दस्तावेज मिले हैं उसके आधार पर आरोपियों से पूछताछ हो रही है. कूट रचित कर फर्जी बिल कैसे बनाए गए रिमांड में लेकर पूछताछ की जा रही है और जो भी सबूत सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी. सभी आरोपियों का 4 तारीख तक रिमांड चल रहा है. जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. उन सबके अलग-अलग तरह के रोल हैं, जो जिस विभाग में पदस्थ है उसी के आधार पर उनका इस मामले में रोल पाया गया है.

ये भी पढ़ें शांतिपूर्ण वोटिंग के लिए ग्वालियर में अपराधियों पर बड़ा एक्शन, 8 जिला बदर, 37 रोजाना लगाएंगे हाजिरी

ये भी पढ़ें Heeramandi On Netflix: भंसाली 'हीरामंडी' में इन 70s और 90s की अभिनेत्रीयों को करना चाहते थे कास्ट, पाकिस्तानी एक्टर्स के नाम भी हैं शामिल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET Exam Scam: परीक्षा में हुई गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस हुई आक्रामक, NSUI ने सड़क पर उतर किया प्रदर्शन
MP News: ऐसा भी कहीं होता है क्या? ड्रेनेज लाइन पड़ी ही नहीं और कर दिया गया 24 करोड़ का भुगतान...
Father's Day Special: When Madhya Pradesh CM Mohan Yadav asked for 500 rupees from his father and then...
Next Article
Father's Day Special: जब मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव ने पिता से मांगे 500 रुपए और फिर...
Close
;