विज्ञापन
Story ProgressBack

2014 के मुकाबले 2019 में ज्यादा वोट किया था मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ ने, इस बार और बढ़ाना है रिकॉर्ड

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में तीसरे चरण के लिए मंगलवार यानी 7 मई को वोटिंग होगी. मध्यप्रदेश में 9 लोकसभा सीटों और छत्तीसगढ़ की 7 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है. अब सवाल ये है कि क्या दोनों ही राज्य इस चुनाव में मतदान के अपने पिछले रिकॉर्ड को और बेहतर करेंगे? दरअसल इन सभी लोकसभा सीटों पर मतदान के आंकड़ों का विश्वेषण करें तो पता चलता है कि 2014 के मुकाबले 2019 में दोनों राज्यों के वोटर्स ने मतदान करने में ज्यादा उत्साह दिखाया था.

Read Time: 3 mins
2014 के मुकाबले 2019 में ज्यादा वोट किया था मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ ने, इस बार और बढ़ाना है रिकॉर्ड

Lok Sabha Chunav 2024: मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में तीसरे चरण के लिए मंगलवार यानी 7 मई को वोटिंग होगी. मध्यप्रदेश में 9 लोकसभा सीटों के 20 हजार 456 मतदान केंद्रों (Polling Centers) पर मतदान होगा जबकि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh Lok Sabha Elections 2024) की 7 लोकसभा सीटों पर मतदान के लिए 15,701 पोलिंग बूथ (Polling Booth) बनाए गए हैं. अब सवाल ये है कि क्या दोनों ही राज्य इस चुनाव में मतदान के अपने पिछले रिकॉर्ड को और बेहतर करेंगे? दरअसल इन सभी लोकसभा सीटों पर मतदान के आंकड़ों का विश्वेषण करें तो पता चलता है कि 2014 के मुकाबले 2019 में दोनों राज्यों के वोटर्स ने मतदान करने में ज्यादा उत्साह दिखाया था. 
पहले मध्यप्रदेश की बात करते हैं. साल 2014 में यहां की गुना लोकसभा सीट पर 60.9 फीसदी वोटिंग हुई थी जबकि 2019 में ये बढ़कर 70.3 फीसदी हो गई. इसी तरह बैतूल सीट पर 2014 में 65.2 फीसदी मतदान हुआ और 2019 में यही बढ़कर 78.2 फीसदी हो गया. कुछ ऐसा ही हाल मुरैना, भिंड, ग्वालियर,सागर, भोपाल और राजगढ़ में भी रहा.  

Latest and Breaking News on NDTV

अब बात छत्तीसगढ़ की. मंगलवार यानी 7 मई को राज्य की सात सीटों पर वोट डाले जाने हैं. इसमें सरगुजा को छोड़कर सभी छह सीटों पर 2014 के मुकाबले 2019 में ज्यादा वोटिंग हुई थी. मसलन- जांजगीर-चंपा में 2014 में 61.5 फीसदी वोटिंग हुई तो 2019 में ये बढ़कर 65.8 फीसदी हो गई. इसी तरह से दुर्ग में साल 2014 में 67.7 फीसदी तो 2019 में ये बढ़कर 71.8 फीसदी हो गई. 

 

Latest and Breaking News on NDTV

इसी रिकॉर्ड को देखते हुए NDTV आपसे अपील करता है कि जैसे 2014 के रिकॉर्ड को आपने 2019 में बेहतर किया ठीक उसी तरह 2024 में इसे और आगे बढ़ाना है. हम आपको ये भी बताते हैं वोट देने के लिए कौन-कौन से वैकल्पिक डॉक्यूमेंट्स आपके पास हो तो आप वोट दे सकते हैं. ये हैं- फोटोयुक्त वोटर आईडी कार्ड (Voter ID), आधार कार्ड (Aadhar Card), पैन कार्ड (Pan Card), दिव्यांग यूनिक आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस (DL), मनरेगा जॉब कार्ड (MANREGA Job Card), पेंशन दस्तावेज (फोटो सहित), पासपोर्ट (Passport), पासबुक (Bank Passbook), फोटोयुक्त सर्विस पहचान पत्र, सांसद, विधायक को जारी आधिकारिक पहचान पत्र, एनपीआर के अंतर्गत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड में से कोई भी एक दस्तावेज दिखाकर मतदाता अपना मतदान कर सकते है.
ये भी पढ़ें: पूर्व CM भूपेश बघेल के गढ़ में कांग्रेस को झटका, चुनाव के एक दिन पहले इस महिला नेता ने थामा BJP का दामन

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
MP में बदलेगी शिक्षा की तस्वीर, सीएम यादव ने इन जिलों में 55 'पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस' खोलने का किया ऐलान
2014 के मुकाबले 2019 में ज्यादा वोट किया था मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ ने, इस बार और बढ़ाना है रिकॉर्ड
MP News Paving way for appointment of 13 percent OBC candidates
Next Article
MP में OBC के 13 प्रतिशत अभ्यर्थियों की नियुक्ति का रास्ता हुआ साफ, संयुक्त परीक्षा से जुड़ा है मामला
Close
;