विज्ञापन
Story ProgressBack

Balaghat Assembly Seat: बालाघाट पर भारी बहुमत से जीती कांग्रेस, इस बार बदल गया सियासी गणित

पिछले विधानसभा चुनाव, यानी वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में यहां कुल मिलाकर 219963 मतदाता थे, जिन्होंने BJP के प्रत्याशी गौरीशंकर चतुर्भुज बिसेन को 73476 वोट देकर जिताया था. उधर, SP उम्मीदवार अनुभा मुंजारे को 45822 वोट हासिल हो सके थे, और वह 27654 वोटों से हार गए थे.

Read Time: 3 min
Balaghat Assembly Seat: बालाघाट पर भारी बहुमत से जीती कांग्रेस, इस बार बदल गया सियासी गणित
बालाघाट पर भारी बहुमतों से जीती अनुभा मुंजारे, सियासी दौड़ में पीछे छूटे गौरीशंकर बिसेन

MP Elections: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Assembly Elections 2023) राज्य में महाकौशल क्षेत्र के बालाघाट जिले में बालाघाट विधानसभा क्षेत्र है, जो अनारक्षित है. इस बार बालाघाट विधानसभा सीट से कांग्रेस की अनुभा मुंजारे ने बहुमत हासिल किया है. कांग्रेस उम्मीदवार अनुभा मुंजारे को 108770 वोट मिले. वहीं, दूसरी तरफ BJP के गौरीशंकर बिसेन चतुर्भुज बिसेन को कुल 79575 वोट मिले और जिन्हें 29195 वोटों की कमी के चलते हार का सामना करना पड़ा.

बालाघाट सीट से इस बार कुल 18 उम्मीदवार चुनावी समर में उतरे थे. BJP और कांग्रेस के अलावा यहां से अजय विशाल बिसेन ने भी निर्दलीय चुनाव लड़ा था लेकिन उनके खाते में सिर्फ 2250 पड़े और 106520 वोटों के भारी अंतर से वो चुनाव हार गए. इसके अलावा अगर बात की जाए बहुजन समाज पार्टी की तो, बालाघाट से कमल किशोर राऊत को खड़ा किया गया था जिन्हें सिर्फ 1702 वोट मिले और वो भी 107068 वोटों के फासले से हार गए. 

पिछली बार BJP को मिली थी बंपर जीत 

पिछले विधानसभा चुनाव, यानी वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में यहां कुल मिलाकर 219963 मतदाता थे, जिन्होंने BJP के प्रत्याशी गौरीशंकर चतुर्भुज बिसेन को 73476 वोट देकर जिताया था. उधर, SP उम्मीदवार अनुभा मुंजारे को 45822 वोट हासिल हो सके थे, और वह 27654 वोटों से हार गए थे.

जनता ने इस बार कांग्रेस पर भरोसा जताते हुए अनुभा मुंजारे को जीत हासिल करवाई. पिछली बार गौरीशंकर चतुर्भुज बिसेन ने इस सीट से भारी बहुमत हासिल की थी. मुख्य रूप से यहां पर कांग्रेस और BJP में सियासी मुकाबला देखने को मिला. सियासी दौड़ में बाकी के 16 उम्मीदवार दूर-दूर तक नज़र नहीं आए. वहीं, अब की बार सीट पर NOTA के लिए 534 वोट पड़े. 

ये भी पढ़ें - ADR Report : सुनो, सुनो, सुनो… मध्य प्रदेश की 16वीं विधानसभा में बैठेंगे 205 मालदार और 124 दागदार ‘माननीय'

पिछले विधानसभा चुनाव, यानी विधानसभा चुनाव 2018 में मध्य प्रदेश में 114 सीटें जीतकर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी थी, जबकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के खाते में 109 सीटें आई थीं. बाद में कांग्रेस ने 121 विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल के सामने पेश किया और कमलनाथ ने बतौर मुख्यमंत्री शपथ ली. लेकिन डेढ़ साल में ही राज्य में नया राजनीतिक तूफ़ान खड़ा हो गया, जब ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने समर्थक 22 विधायकों के साथ BJP में शामिल हो गए.

इससे BJP के पास बहुमत हो गया और शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर मुख्यमंत्री बन गए. हालांकि इसके बाद राज्य में 28 सीटों पर उपचुनाव हुए और BJP 19 सीट जीतकर मैजिक नंबर के पार जा पहुंची. 

ये भी पढ़ें - Election Result: विधानसभा के लिए चुने गए भाजपा सांसदों ने लोकसभा से दिया इस्तीफा, इन में तीन मंत्री भी हैं शामिल

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
switch_to_dlm
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Close