विज्ञापन
Story ProgressBack

कम वोटिंग से MP के इन मंत्रियों की बढ़ी टेंशन, जानिए BJP हाईकमान ने क्या कहा? ऐसे हैं इनके आंकड़े

Lok Sabha Polls 2024: मध्य प्रदेश के मंत्री कह रहे हैं कि वो पूरी मेहनत से काम कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस को लगता है कम मतदान से बीजेपी घबरा गई है. वहीं कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि बीजेपी के नेता वोट नहीं डलवा पा रहे. उनके मंत्रियों के क्षेत्र में कितना वोट परसेंट कम हुआ आप खुद देख लो.

Read Time: 5 mins
कम वोटिंग से MP के इन मंत्रियों की बढ़ी टेंशन, जानिए BJP हाईकमान ने क्या कहा? ऐसे हैं इनके आंकड़े

Lok Sabha Chunav in Madhya Pradesh: लोकसभा चुनाव 2024 में दो चरणों का मतदान खत्म हो चुका है, लेकिन दोनों चरणों में 2019 के मुकाबले कम मतदाता अपने घरों से निकले. मध्य प्रदेश में इन दो चरणों की वोटिंग (1st and 2nd Phase Voting) के दौरान 12 सीटों पर मतदान हुआ, MP में कम मतदान से दोनों दल परेशान हैं, लेकिन उनसे भी ज्यादा परेशान हैं कुर्सी पर बैठे मंत्रीजी. अब आप पूछेंगे कि हमारे माननीय क्यों चिंतित हैं? तो आइए जानते हैं आंकड़ों की जुबानी माननीयों की परेशानी...

Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में दो चरणों की वोटिंग का हाल

Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में दो चरणों की वोटिंग का हाल
Photo Credit: Ajay Kumar Patel

क्या है परेशानी?

मध्यप्रदेश में पहले चरण में लोकसभा की 6 सीटों पर मतदान हुआ. 2019 के मुकाबले 7.1 प्रतिशत मतदान कम हुआ
दूसरे चरण में भी 6 सीटों पर लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. यहां भी 2019 की तुलना में 9.1% कम मतदाता अपने घरों से निकले.

Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में दो चरणों की वोटिंग का हाल

Lok Sabha Election 2024: मध्य प्रदेश में दो चरणों की वोटिंग का हाल

इन 12 सीटों पर राज्य सरकार में 12 मंत्रियों की  विधानसभा सीटें भी आती हैं और सूत्रों की मानें तो इससे उनकी पेशानी पर परेशानी देखी जा सकती है, क्योंकि पार्टी आलाकमान ने 2 टूक कह दिया है जिस मंत्री के इलाके में कम मतदान होगा उसकी कुर्सी खतरे में रहेगी, यही नहीं ये भी कहा गया है कि लोकसभा चुनाव के परिणाम के आधार पर विधायकों का रिपोर्ट कार्ड बनेगा.

होशंगाबाद लोकसभा का हाल

अगर हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों से तुलना करें तो होशंगाबाद लोकसभा सीट जहां से 3 मंत्री आते हैं. पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री प्रहलाद पटेल जिनकी नरसिंहपुर विधानसभा सीट पर 88.25 फीसद मतदान हुई था, अभी 67.01% यानी 15.24 फीसद कम वोटिंग हुई. लोक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा राज्य मंत्री नरेंद्र शिवाजी पटेल उदयपुरा विधानसभा सीट से आते हैं यहां विधानसभा में 81.77 फीसद मतदान हुआ था, अभी 60.64 यानी 21.13 फीसद कम पिछली लोकसभा की तुलना में भी ये 6.61% कम है. वहीं कैबिनेट मंत्री उदयप्रताप सिंह गाडरवारा से विधायक हैं यहां विधानसभा में 78.02 प्रतिशत मतदान हुआ लेकिन लोकसभा में 67.60 प्रतिशत यानी 10.42 प्रतिशत कम मतदान देखने को मिला.

जबलपुर में इनको है टेंशन

जबलपुर सीट - पूर्व बीजेपी अध्यक्ष और सांसद राकेश सिंह राज्य सरकार में मंत्री हैं. विधानसभा चुनाव में यहां 70.25 फीसद मतदान हुआ लेकिन लोकसभा में 59.20 प्रतिशत यानी 11.05 प्रतिशत कम उनकी अपनी जबलपुर पश्चिम सीट में भी लोकसभा में हुई वोटिंग के मुकाबले 1.61 % कम मतदान हुआ है.

रीवा में डिप्टी सीएम 'बेचैन'

रीवा से उपमुख्यमंत्री राजेन्द्र शुक्ल आते हैं विधानसभा में यहां 68.34 प्रतिशत मतदान हुआ लोकसभा में 54.84 यानी 13.05 प्रतिशत कम.

वहीं सीधी से आनेवाली राज्यमंत्री राधा सिंह के इलाके में विधानसभा में 72.68 प्रतिशत वोटिंग हुई लेकिन लोकसभा में 56.59 प्रतिशत यानी 16.09 प्रतिशत कम. खुद प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की खजुराहो लोकसभा सीट में पिछले चुनावों के मुकाबले लगभग 11 फीसद कम वोटिंग हुई है.

मंत्रियों का क्या कहना है?

हालांकि मंत्री कह रहे हैं कि वो पूरी मेहनत से काम कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस को लगता है कम मतदान से बीजेपी घबरा गई है. कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग का कहना है कि हर भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता और हर देश में प्यार करने वाला मोदी जी के पक्ष में ज़्यादा से ज़्यादा वोट डाले इसके लिए तत्पर है. आपको नहीं लगता हम भी पूरी तरह लगे है, पीएम मोदी के प्रति ज़बर्दस्त आकर्षण है जनता को लगता है कि देश की तस्वीर और तक़दीर दोनों बदली है ,हमें दोबारा उनको प्रधानमंत्री बनाना है इसलिए मोदी के प्रति बहुत ज़बर्दस्त माहौल है भोपाल हम प्रचंड बहुमत से जीतेंगे,29 सीट भी, 400 पार भी होगा.

कांग्रेस का पलटवार

कांग्रेस पार्टी के सीनियर नेता मुकेश नायक का कहना है कि पहले चक्र का जब चुनाव हुआ तो सीधी में 18% वोट कम हुए. जबलपुर में 8% कम हुए, शहडोल में 12% कम हुए,मंडला और बालाघाट में पांच-पांच प्रतिशत कम हुए और जब दूसरे चक्र का चुनाव संपन्न हुआ तो 11% महिलाओं ने कम वोट डाला और 8% पुरुषों ने वोट कम डाला. अब बीजेपी के बड़े नेता उनके छोटे नेताओं को धमकी दे रहे हैं. कह रहे हैं कि अगर वोट परसेंट गिरा तो आपका पद खतरे में चला जाएगा. यह धमकी देने से काम नहीं चलेगा. बीजेपी के कार्यकर्ताओं में जो उदासीनता आई है. वो कह रहे है कि आप दो-दो  लाख लोग कांग्रेस के आप ज्वाइन करा रहे हो, तो उन्हीं से वोट डलवा लो. 18 साल तो आपने मलाई खाई. सत्ता का सुख भोगा. आपके मकान बड़े हो गए दुकान बड़ी हो गई. जमीन खरीद ली. अब हम काहे को वोट डलवाए. बीजेपी के नेता वोट नहीं डलवा पा रहे. उनके मंत्रियों के क्षेत्र में कितना वोट परसेंट कम हुआ आप देख लो.

यह भी पढ़ें : चलें बूथ की ओर: दो चरणों के वोटिंग % से टेंशन, तीसरे व चौथे चरण के लिए MP में 38000 बूथ पर चलेगा अभियान

यह भी पढ़ें : Labour Day 2024: मैं मजदूर हूँ मुझे देवों की बस्ती से क्या? जानिए क्यों मनाया जाता है मजदूर दिवस

यह भी पढ़ें : AAA रेटिंग वाला भारत का पहला निजी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपर बना अदाणी पोर्ट्स एंड एसईजेड

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
किशोरी ने मासूम को दिया जन्म, 8 महीने बाद हुआ दुष्कर्म का खुलासा 
कम वोटिंग से MP के इन मंत्रियों की बढ़ी टेंशन, जानिए BJP हाईकमान ने क्या कहा? ऐसे हैं इनके आंकड़े
MP High Court acquitted the husband in the unnatural sexual abuse case High court made big comment on the allegations of the wife
Next Article
अप्राकृतिक यौन शोषण मामले में MP हाईकोर्ट ने पति को किया बरी, पत्नी के आरोपों पर की यह बड़ी टिप्पणी
Close
;