विज्ञापन
Story ProgressBack

Hoshangabad Lok Sabha Constituency: BJP के गढ़ में क्या कांग्रेस लगा पाएगी सेंध? जानें होशंगाबाद लोकसभा सीट का चुनावी इतिहास

LokSabhaElections2024 : मध्य प्रदेश की होशंगाबाद लोकसभा सीट पर पिछले दो चुनाव से बीजेपी का कब्जा है. इस बार के चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस, दोनों ने अपने प्रत्याशियों में बदलाव किया है.

Read Time: 4 mins
Hoshangabad Lok Sabha Constituency: BJP के गढ़ में क्या कांग्रेस लगा पाएगी सेंध? जानें होशंगाबाद लोकसभा सीट का चुनावी इतिहास
इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी संजय शर्मा (बाएं) और बीजेपी प्रत्याशी दर्शन सिंह चौधरी (दाएं) आमने-सामने हैं.

Political History of Hoshangabad Lok Sabha Constituency: मध्य प्रदेश का नर्मदापुरम शहर, जो कभी होशंगाबाद (Hoshangabad) के नाम से जाना जाता था, इस शहर का इतिहास बेहद खास है. दरअसल, नर्मदा नदी (Narmada River) की गोद में बसा होशंगाबाद घाटों के लिए जाना जाता है. इनमें से सेठानी घाट (Sethani Ghat) सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है. इसके अलावा हिल स्टेशन पचमढ़ी (Pachmarhi) और सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (Satpura Tiger Reserve) के लिए भी यह जिला जाना जाता है. बताया जाता है, मध्य प्रदेश के खूबसूरत शहरों में शुमार होशंगाबाद का नाम सदियों पहले नर्मदापुरम (Narmadapuram) ही था, लेकिन बाद में इसका नाम नर्मदापुरम से बदलकर होशंगाबाद कर दिया गया था.

दरअसल, नर्मदा नदी के किनारे बसे होने के कारण इस शहर का नाम नर्मदापुरम रखा गया था, लेकिन बाद में मालवा के पहले इस्लामिक शासक माने जाने वाले होशंग शाह ने इसका नाम बदल दिया और इस शहर का नाम अपने नाम पर रखा. होशंग शाह ने 1404-1435 तक यहां राज किया. 1405 ई में उसने अपने नाम पर ही नर्मदापुरम का नाम होशंगाबाद करवा दिया. जिसके बाद इस शहर को होशंगाबाद के नाम से जाना जाने लगा. हालांकि, 7 फरवरी 2022 को इस जिले का नाम “होशंगाबाद” से बदलकर फिर से “नर्मदापुरम” कर दिया गया.

लोकसभा और विधानसभा, दोनों में BJP का बोलबाला

होशंगाबाद की राजनीति की बात करें तो होशंगाबाद लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत कुल आठ विधानसभा क्षेत्र आते हैं. जिनमें नरसिंहपुर, तेंदूखेड़ा, गाडरवारा, सिवनी मालवा, नर्मदापुरम, सुहागपुर, पिपरिया और उदयपुरा शामिल हैं. हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में इन सभी आठ विधानसभाओं पर बीजेपी ने जीत दर्ज की. वहीं अगर लोकसभा की बात की जाए तो यहां भी बीजेपी का कब्जा है. सांसद उदय प्रताप सिंह 2009 से लगातार यहां से जीत कर सांसद चुने जा रहे हैं. हालांकि, उदय प्रताप सिंह पहली बार 2009 में कांग्रेस के टिकट से लोकसभा चुनाव जीते थे. इसके बाद उन्होंने बीजेपी ज्वाइन कर लिया और बीजेपी के टिकट से 2014 और 2019 का चुनाव जीत चुके हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

होशंगाबाद लोकसभा सीट का चुनावी इतिहास

वहीं यहां हुए पिछले 10 लोकसभा चुनाव की बात करें तो यहां भी बीजेपी का पलड़ा भारी दिखता है. साल 1984 और 2009 में हुए लोकसभा चुनाव की बात छोड़ दें तो यहां हर बार बीजेपी ने बाजी मारी है. 1984 के बाद अभी तक हुए 10 बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने महज दो बार जबकि बीजेपी ने 8 बार बाजी मारी है. इस दौरान सबसे ज्यादा बार सांसदी बीजेपी प्रत्याशी सरताज सिंह के नाम रही. वे 1989, 1991, 1996 और 1998 के लोकसभा चुनाव में लगातार चार बार जीत दर्ज कर सांसद बने.

इसके बाद होशंगाबाद सीट से 1999 में बीजेपी ने वरिष्ठ नेता सुंदर लाल पटवा को मैदान में उतारा, उन्होंने भी इस सीट पर जीत दर्ज की. इसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर 2004 के लोकसभा चुनाव में सरताज सिंह को मैदान में उतारा. इस बार भी सरताज सिंह ने यहां से जीत दर्ज की और पांचवीं बार होशंगाबाद के सांसद बने. वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने इस सीट पर वापसी की. कांग्रेस प्रत्याशी उदय प्रताप सिंह यहां से जीतकर सांसद बने. हालांकि वे इसके बाद बीजेपी में शामिल हो गए और 2014 और 2019 के चुनाव में बीजेपी के टिकट से चुनाव जीतकर होशंगाबाद के सांसद बने.

Latest and Breaking News on NDTV

इस बार बीजेपी-कांग्रेस ने इन प्रत्याशियों को उतारा

इस बार के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने अपने सांसद का टिकट काट दिया है. उदय प्रताप सिंह की जगह बीजेपी ने दर्शन सिंह चौधरी को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस ने भी अपने प्रत्याशी में बदलाव किया है. इस बार कांग्रेस ने संजय शर्मा को होशंगाबाद लोकसभा सीट से उम्मीदवारी सौंपी है. प्रत्याशियों के ऐलान के बाद दोनों ही प्रमुख पार्टियां चुनावी तैयारी और प्रचार-प्रसार में जोरों से लग गई हैं.

यह भी पढ़ें - खंडवा लोकसभा सीट का सियासी इतिहास है खास, कांग्रेस-बीजेपी की आंख मिचौली के बीच इस पूर्व सांसद का रहा दबदबा

यह भी पढ़ें - खरगौन लोकसभा सीट पर बीजेपी का रहा है दबदबा, जानें आजादी के बाद से अब तक का सियासी इतिहास

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Crime: सास ने बहू को कहा सिर्फ यह एक शब्द, तो बहू ने दी ऐसी सजा कि सुनकर कांप जाएगी रूह
Hoshangabad Lok Sabha Constituency: BJP के गढ़ में क्या कांग्रेस लगा पाएगी सेंध? जानें होशंगाबाद लोकसभा सीट का चुनावी इतिहास
ceremony of MPL Before 2 people were murdered in Gwalior know how the double murder happened amidst high security
Next Article
MPL के उद्धाटन समारोह से पहले ग्वालियर में 2 लोगों की हत्या, जानें हाई सिक्युरिटी के बीच कैसे हुआ डबल मर्डर?
Close
;