विज्ञापन
Story ProgressBack

जीतू पटवारी पर SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज, इमरती देवी की शिकायत पर हुई कार्रवाई

Case against Jitu Patwari: पीसीसी अध्यक्ष जीतू पटवारी की परेशानी बढ़ गई है. इमरती देवी ने विवादित बयान को लेकर उनके ऊपर एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करा दिया है.

Read Time: 3 mins
जीतू पटवारी पर SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज, इमरती देवी की शिकायत पर हुई कार्रवाई
जीतू पटवारी पर SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज, इमरती देवी की शिकायत पर हुई कार्रवाई 

Jitu Patwari FIR News: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2024) के तीसरे चरण की वोटिंग (Third Phase Voting) से पहले मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) पीसीसी चीफ जीतू पटवारी (Jitu Patwari) मुश्किलों में घिर गए हैं. बीजेपी नेता इमरती देवी (Imarti Devi) को लेकर दिए गए आपत्तिजनक बयान मामले में जीतू पटवारी पर SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. BJP की महिला नेता इमरती देवी की शिकायत के बाद ये कार्रवाई की गई है. बता दें कि इस शिकायत के बाद जीतू पटवारी को जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है.

मैं उन्हें छोड़ूंगी नहीं-इमरती देवी

इमरती देवी ने जीतू पटवारी के बयान को लेकर कहा था कि मैं एसपी से मिलूंगी. उनके खिलाफ केस दर्ज कराऊंगी. उन्हें छोड़ूंगी नहीं. एक बार इमरती को आइटम कह दिया था तब छोड़ दिया था. अब नहीं छोड़ूंगी. वे समझ लें इमरती इतनी सस्ती न समझें कि जब जो चाहे वे बोलें और मैं सुन लूंगी. मैं सरकार से कहूंगी कि मुझे न्याय दो. 

एससी/एसटी अधिनियम विभिन्न पैटर्न या व्यवहार से संबंधित 22 अपराधों को सूचीबद्ध करता है जो आपराधिक अपराध करते हैं और अनुसूचित जाति और जनजाति समुदाय के आत्म-सम्मान और प्रतिष्ठा को तोड़ते हैं. इसमें आर्थिक, लोकतांत्रिक और सामाजिक अधिकारों से इनकार, भेदभाव, शोषण और कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग शामिल है.

पटवारी के इस बयान पर लिया एक्शन

पीसीसी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने गुरुवार की देर रात ग्वालियर में जिलाध्यक्ष देवेंद्र शर्मा के घर पर इमरती देवी को लेकर विवादित बयान दिया था. जीतू पटवारी ने कहा था... 'देखो ऐसा है, अब इमारती जी का रस खत्म हो गया है, जो अंदर चाशनी होती है, उनके लिए वो अब कुछ बाकी नहीं.'

वीडियो जारी कर दी थी प्रतिक्रिया

इमरती देवी इस समय ज्योतिरादित्य सिंधिया के चुनाव प्रचार में लगी हुई हैं. उन्होंने वहीं से एक वीडियो जारी कर मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी थी. इस वीडियो में उन्होंने कहा था कि भगवान से प्रार्थना करती हूं कि उनको सद्बुद्धि दें. एक दलित महिला के बारे में उन्हें ऐसा बोलना शोभा नहीं देता है. मैं उनके बारे में ज्यादा नहीं बोलना चाहती हूं. उन्होंने सदैव हमें बड़ी बहन कहा हैं. हमने उनके साथ काम भी किया है. भगवान ने उनकी बुद्धि खराब कर दी है इसलिए वे ऐसा बोल रहे है.

ये भी पढ़ें :- Indian Railways: हाईकोर्ट का ऑर्डर, पटरी पार करते समय गई जान तो नहीं मिलेगा मुआवजा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Katni: जल संरक्षण के लिए अदाणी फाउंडेशन द्वारा तालाबों का किया जा रहा जीर्णोद्धार, 800 किसानों को होगा फायदा
जीतू पटवारी पर SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज, इमरती देवी की शिकायत पर हुई कार्रवाई
Crossing all limits of cruelty, killed mother-in-law by attacking her 100 times with a sickle, 30 years later the court awarded death sentence to daughter-in-law
Next Article
Rarest Murder: क्रूरता की सारी हदें की पार, सास को दरांती से 100 बार हमलाकर की हत्या, 30 साल बाद कोर्ट ने बहू को सुनाई फांसी की सजा
Close
;