विज्ञापन
Story ProgressBack

ब्रेकअप पर MP कोर्ट का अनोखा फैसला: 'लंबे समय तक लिव-इन में रहने वाली महिला भरण-पोषण की हकदार'

MP Court Unique Order On Breakup After A Live-In Relationship: कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि यदि जोड़े के बीच सहवास का सबूत है तो भरण-पोषण से इनकार नहीं किया जा सकता है.

Read Time: 2 mins
ब्रेकअप पर MP कोर्ट का अनोखा फैसला: 'लंबे समय तक लिव-इन में रहने वाली महिला भरण-पोषण की हकदार'

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) उच्च न्यायालय ने लिव-इन रिलेशनशिप (Live-In Relationship) में महिलाओं के अधिकारों को मान्यता देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए फैसला सुनाया है. जबलपुर (Jabalpur) हाई कोर्ट (High Court) ने फैसला सुनाते हुए कहा,'किसी पुरुष के साथ लंबे समय तक रहने वाली महिला अलग होने पर भरण-पोषण की हकदार है, भले ही वो कानूनी रूप से विवाहित न हों.'

मासिक भत्ता देने का आदेश के खिलाफ हाई कोर्ट का किया था रुख

कोर्ट ने ये टिप्पणी बालाघाट के शैलेश बोपचे नामक व्यक्ति की याचिका को निरस्त करते हुए की, जिसने बालाघाट जिला अदालत के उस आदेश को चुनौती देते हुए हाई कोर्ट का का रुख किया था. दरअसल, बालाघाट जिला अदालत ने पुरुष के खिलाफ फैसला सुनाते हुए महिला को 1,500 रुपये का मासिक भत्ता देने का आदेश दिया गया था, जिसके साथ वो रहता था. 

बोपचे ने फैसले को इस आधार पर चुनौती दी थी, 'जिला अदालत ने माना था कि महिला, जो उसकी पत्नी होने का दावा करती है, यह साबित करने में विफल रही कि उन्होंने मंदिर में शादी की थी.'

न्यायमूर्ति जीएस अहलूवालिया की एकलपीठ ने कहा, 'बोपचे के अधिवक्ता का एकमात्र तर्क ये है कि महिला कानूनी तौर पर उनकी पत्नी नहीं है, इसलिए सीआरपीसी की धारा-125 के तहत भरण-पोषण राशि की मांग का आवेदन विचार योग्य नहीं है, जबकि महिला के वकील ने दीर्घ अवधि तक साथ रहने के ठोस साक्ष्य प्रस्तुत किए हैं. लिहाजा, महिला के हक में जिला अदालत का आदेश न्यायसंगत पाकर उसे चुनौती देने वाली याचिका निरस्त की जाती है.

ये फैसला एक याचिकाकर्ता की प्रतिक्रिया के रूप में आया, जिसने ट्रायल कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी थी, जिसमें बोपचे को उस महिला को 1,500 रुपये का मासिक भत्ता देने के लिए आदेश दिया गया था, जिसके साथ वो लिव-इन रिलेशनशिप में था.

ये भी पढ़े: Raipur में बिजली विभाग के 2500 ट्रांसफार्मर जलकर खाक, घटना स्थल पहुंच कर CM साय ने किया मुआयना

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET Exam Scam: परीक्षा में हुई गड़बड़ी को लेकर कांग्रेस हुई आक्रामक, NSUI ने सड़क पर उतर किया प्रदर्शन
ब्रेकअप पर MP कोर्ट का अनोखा फैसला: 'लंबे समय तक लिव-इन में रहने वाली महिला भरण-पोषण की हकदार'
Father's Day Special: When Madhya Pradesh CM Mohan Yadav asked for 500 rupees from his father and then...
Next Article
Father's Day Special: जब मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव ने पिता से मांगे 500 रुपए और फिर...
Close
;