विज्ञापन
Story ProgressBack

इंसानियत ! फायरिंग में शख्स हुआ घायल तो पुलिसवालों ने खून देकर बचाई जान

Crime News in Hindi : घायलों का बहुत खून काफी चुका था इससे उनकी हालत लगातार खराब हो रही थी. उन्हें तत्काल खून चढ़ाने की जरूरत थी लेकिन उनका कोई परिजन खून देने के लिए मौजूद नही था.

इंसानियत ! फायरिंग में शख्स हुआ घायल तो पुलिसवालों ने खून देकर बचाई जान
इंसानियत ! फायरिंग में शख्स हुआ घायल तो पुलिसवालों ने खून देकर बचाई जान

Madhya Pradesh News : अक्सर बढ़ते अपराधों को लेकर पुलिसकर्मियों पर कई सारे सवाल उठाए जाते हैं... लेकिन ग्वालियर में आज पुलिस का एक मानवीय चेहरा देखने को मिला जहां कुछ पुलिसवालों ने साबित कर दिया कि इंसानियत से बढ़ कर कुछ नहीं हैं. दअरसल, फायरिंग की एक घटना में तीन लोग बुरी तरह से घायल हो गए थे. ऐसे में पुलिस तीनों को लेकर ट्रॉमा सेंटर पहुंच रही थी...लेकिन गोली लगने के चलते इनमें से दो भाइयों का बहुत ज़्यादा खून बह गया था और इनकी हालत चिंताजनक बनी हुई थी. आलम ऐसा था कि दोनों घायलों को तत्काल खून चढ़ाने की जरूरत थी लेकिन उनके परिवार का कोई सदस्य वहां पर मौजूद नहीं था.

गोली लगने से बुरी तरह ज़ख़्मी हुए 2 भाई 

जब इस बात की खबर अस्पताल लेकर पहुंचें SHO और कांस्टेबल को लगी तो खुद डॉक्टर के पास पहुंचे और कहा कि मेरा रक्त ले लो लेकिन इनकी जान बचा लो. इसके बाद पुलिसवालों ने रक्तदान किया और घायलों की जान बचाते हुए इंसानियत की मिसाल पेश कर दी. मिली जानकारी के मुताबिक, आज सुबह महाराजपुरा के आदित्यपुरम इलाके में एक रिटायर फौजी ने पिस्टल से अंधाधुंध फायरिंग करके अपने पड़ोसी दो सगे भाइयों और उनके ही परिवार की एक महिला को घायल कर दिया. इसके बाद खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचीं. 

पुलिस वालों ने बचाई दो घायलों की जान 

पुलिस ने गंभीर रूप से घायल राजवीर जाटव और अन्य परिजनों को अस्पताल पहुंचाया. घायलों का बहुत खून काफी चुका था इससे उनकी हालत लगातार खराब हो रही थी. उन्हें तत्काल खून चढ़ाने की जरूरत थी लेकिन उनका कोई परिजन खून देने के लिए मौजूद नही था. यहां तक कुछ रिश्तेदार वहां थे भी तो खून देने के नाम पर वहां से चलते बने. ऐसे में डॉक्टरों ने कहा कि अगर जल्दी खून नहीं मिला तो हालत और बिगड़ सकती है. जब यह जानकारी महाराजपुरा थाने के TI धर्मेंद्र सिंह को लगी तो उन्होंने आगे बढ़कर डॉक्टर्स से रक्तदान करने की बात कही. इसके बाद TI ने तो रक्त दान किया ही साथ ही कांस्टेबल नागर सिंह गुर्जर और आरक्षक कुंज बिहारी शर्मा ने भी घायलों की जान बचाने के लिए रक्तदान किया. इनके रक्त को फटाफट घायल राजवीर को चढ़ाया गया. इससे उसकी जान बच गई.

ये भी पढ़ें : 

ग्वालियर : कोर्ट के बाहर रो रही महिला को हवलदार ने बनाया हवस का शिकार

स्टेज से लाखों का बैग लेकर फुर्र हुए चोर, शादी में सब खींचते रह गए सेल्फी 

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बड़वानी: कस्तूरबा आश्रम में खाना खाते ही बिगड़ी 44 छात्राओं की तबीयत, प्रशासन में मचा हड़कंप
इंसानियत ! फायरिंग में शख्स हुआ घायल तो पुलिसवालों ने खून देकर बचाई जान
The boys side refused dowry in the marriage in Niwari returned 11 lakh rupees of dowry
Next Article
MP News: ससुराल से मिले 11 लाख रुपये लौटाए, कहा-दहेज समाज की है सबसे बड़ी कुप्रथा
Close
;