विज्ञापन
Story ProgressBack

Human Trafficking: नाबालिक बच्चों को धोखे से छोड़ आया था किन्नर के पास, एमपी में बड़े गिरोह का हुआ खुलासा

MP News: छतरपुर जिले से अनोखा और हैरान कर देने वाला मामला सामने आया. ईशानगर थाना क्षेत्र के रहने वाले एक 17 वर्षीय नाबालिक बच्चे को 3 लोगों ने बहला फुसलाकर किन्नरों के यहां बेचने का मामला सामने आया. 

Read Time: 3 mins
Human Trafficking: नाबालिक बच्चों को धोखे से छोड़ आया था किन्नर के पास, एमपी में बड़े गिरोह का हुआ खुलासा
मानव तस्करी गिरोह की जांच में जुटी पुलिस

Crime News: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के छत्तरपुर (Chhatarpur) जिले के ईशानगर के रहने वाले एक 17 वर्षीय नाबालिक लड़के (Minor Boy) को गांव के ही रमेश रैकवार और रामपुर गांव के धनीराम कुशवाहा बहला फुसलाकर पहले छतरपुर ले गए. उसके बाद उसे रमेश रैकवार ने अपने लड़के मगन रैकवार को साथ लेकर हरपालपुर लाली किन्नर (Lali Kinnar) के यहां छोड़कर आ गए. 20 दिन से लापता नाबालिक की खोजबीन परिजन अपने स्तर से कर रहे थे. इसी दौरान परिजनों को फोन लगाकर नाबालिक ने खुद के हरपालपुर (Harpalpur) होने की बात बताई. इसके बाद परिजनों ने जाकर नाबालिक को किन्नरों के कब्जे से मुक्त कराया. पुलिस ने पूरे मामले में आईपीसी की धारा (IPC Act) 363 के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी.

बड़े मानव तस्करी गिरोह का हो सकता है खुलासा 

17 साल के पीड़ित नाबालिक लड़के ने बताया कि उसकी तरह ही चार-पांच अन्य बच्चे किन्नर के पास थे, जिनको वह दवाइयां और इंजेक्शन लगाया करती थी. इससे उसके शरीर में अनावश्यक बदलाव भी आने लगे थे. अब बड़ा सवाल है कि पुलिस ने आखिर एफआईआर में किन्नर को आरोपी क्यों नहीं बनाया और किन्नर से पूछताछ क्यों नहीं की, जबकि नाबालिक किन्नर के यहां ही मिला. इस पूरे मामले में बड़े मानव तस्कर गिरोह का हाथ हो सकता है. नाबालिक बच्चों की तस्करी करके भीख मंगवाने एवं उन्हें किन्नर बनकर ट्रेनों में भीख मंगवाने का भी यह पूरा मामला हो सकता है. हालांकि, पुलिस ने इस पूरे मामले में मामूली धाराओं में केस दर्ज किया है.

ये भी पढ़ें :- MP News: युवाओं की हुई करियर कॉउंसलिंग, एसजीएसयू और IBM के बीच तय हुआ खास MOU

इस वजह से है किन्नरों का अड्डा 

हरपालपुर में रेलवे स्टेशन होने के कारण यहां पर किन्नरों का एक झुंड हमेशा बना रहता है. यह किन्नर ट्रेन में सवार होकर यात्रियों से वसूली करते हैं. पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस पूरे मामले में और भी कई किरदार हो सकते हैं. हालांकि, पुलिस ने अभी कोई खास कार्रवाई नहीं की हैं, जबकि पीड़ित के चाचा मानसिंह का आरोप है कि इस पूरे मामले में पुलिस सही से काम नहीं कर रही हैं और न ही आरोपियों से पूछताछ कर रही हैं. संबंधित आरोपियों के द्वारा पूर्व में भी अन्य नाबालिक बच्चों को बेचने और तस्करी के कई मामले सामने आ सकते हैं. 

ये भी पढ़ें :- Murder Case: सबूतों के अभाव में बरी हुए दो आरोपी, अम्बिकापुर कोर्ट ने सुनाई दो को आजीवन कारावास की सजा

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Ujjain News: महाकाल की नगरी में बिना बारिश के आ गई बाढ़! क्षिप्रा नदी में डूब गए कई वाहन
Human Trafficking: नाबालिक बच्चों को धोखे से छोड़ आया था किन्नर के पास, एमपी में बड़े गिरोह का हुआ खुलासा
Coal Scam Two accused including suspended IAS Ranu Sahu get bail from SC
Next Article
Coal Scam:निलंबित IAS रानू साहू समेत दो हाई प्रोफाइल आरोपियों को SC से मिली जमानत
Close
;