विज्ञापन
Story ProgressBack

शर्मनाक: एंबुलेंस ड्राइवर ने रास्ते में उतार कर भगाया, बेटे का शव कंधे पर ले जाने को मजबूर हुआ पिता

MP News: मध्य प्रदेश के उज्जैन से एक बड़ी खबर है. जहां बेटे की मौत के बाद भी उसके पिता को सरकारी एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिली. जिससे मजबूर पिता अपने बेटे के शव को कंधे पर रखकर दो किलोमीटर तक चलता रहा.

Read Time: 3 mins
शर्मनाक:  एंबुलेंस ड्राइवर ने रास्ते में उतार कर भगाया, बेटे का शव कंधे पर ले जाने को मजबूर हुआ पिता
एंबुलेंस चालक ने बच्चें के शव के साथ माता पिता को सड़क पर उतारा, कहा दूसरी कॉल पर जाना है.

Madhya Pradesh News: मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. यहां महिदपुर के शासकीय अस्पताल में एक मासूम की मौत होने पर उसके पिता को दो किलोमीटर तक शव कंधे पर ले जाना पड़ा. वजह ये है कि एंबुलेंस चालक ने बीच रास्ते में शव उतार कर कहा बच्चा तो मर गया है, खुद लेकर चले जाओ. उसे दूसरी कॉल पर जाना है.

रास्ते मे ही एंबुलेंस चालक ने उतार दिया

गुना निवासी धनराज अपनी पत्नी राम श्री और सात बच्चों के साथ महिदपुर रोड पर स्थित गांव गोगापुर के निवासी हैं. वह मजदूरी कर अपना जीवन बसर कर रहा है. ये दंपति बुधवार को अपने एक साल के बेटे अर्पित की तबियत बिगड़ने पर महीदपुर तहसील के शासकीय अस्पताल लेकर पहुंचे. जहां डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया. इस पर परिजन शव एम्बुलेंस से घर के लिए निकले, लेकिन रास्ते में ही एम्बुलेंस चालक ने उन्हें शव के साथ यह कहते हुए उतार दिया कि बच्चा तो मर गया है, खुद ले जाओ, हमें दूसरी कॉल पर जाना है.
 

नतीजतन पिता धनराज बेटे के शव को कंधे पर डाल कर क़रीब दो मीटर दूर बस स्टैंड पर ले गया. बता दें कि धनराज की छह बेटियां हैं और उसका एक ही बेटा था.

ये भी पढ़ें-  Indian Railways: अब महाराष्ट्र के इन 8 स्टेशनों के बदले जाएंगे नाम, जानिए- किस स्टेशन का क्या होगा नाम

लोगों ने दिखाई इंसानियत

महिदपुर रोड स्थित गांव गोगापुर से बच्चे का शव ले जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं मिलने पर धनराज, उनकी पत्नी राम श्री और रिश्तेदार बस स्टैंड पर पहुंच गए. यहां दंपति को शव लेकर बैठे देख लोगों ने उनकी परेशानी को समझने के बाद चंदा किया और प्राइवेट एम्बुलेंस से उन्हें गांव भिजवाया. इस दौरान कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर भी शेयर कर दिया. परिजनों का आरोप है कि चालक ने जहां उन्हें रास्ते में उतार दिया. वहीं, अस्पताल के डॉक्टर और एक मैडम ने भी एंबुलेंस न होने की बात कहते हुए शव लेकर जाने को कह दिया था, लेकिन बाद में एमबुलेंस तो मिला, लेकिन वह भी रास्ते में ही छोड़ कर चला गया. 

ये भी पढ़ें- वाह रे सिस्टम! बच्चों की रुक जाती है पढ़ाई, किसान भी होते हैं परेशान... 50 सालों से पुल बनाने की मांग, नहीं हुई सुनवाई

MPCG.NDTV.in पर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें. देश और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं. इसके अलावा, मनोरंजन की दुनिया हो, या क्रिकेट का खुमार,लाइफ़स्टाइल टिप्स हों,या अनोखी-अनूठी ऑफ़बीट ख़बरें,सब मिलेगा यहां-ढेरों फोटो स्टोरी और वीडियो के साथ.

फॉलो करे:
NDTV Madhya Pradesh Chhattisgarh
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मंदसौर में नाबालिगों के साथ बर्बरता ! पोल से बांधकर बेल्ट से पिटाई, 6 पर मामला दर्ज
शर्मनाक:  एंबुलेंस ड्राइवर ने रास्ते में उतार कर भगाया, बेटे का शव कंधे पर ले जाने को मजबूर हुआ पिता
Indore Water Woes India Cleanest City Facing Contaminated Drinking Water Crisis
Next Article
क्या अब गंदा पानी पिएंगे इंदौर के लोग ? जानिए देश के सबसे स्वच्छ शहर का हाल
Close
;